Thursday, September 16, 2021
25.1 C
New Delhi
अन्य

    सिर्फ रांची में दिखा सूर्य के चारो तरफ यह अद्भुत नजारा, सतरंगी घेरा, जाने क्यों?

    इस अद्भुत नजारे को रांची वासियों ने अपने कैमरे में कैद किया है। सतंरगी घेरा में सूर्य की कई तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हैं। लेह में बौद्ध धर्मावलंबी इस खगोलीय घटना को बहुत शुभ मानते हैं और वहां सरकारी छुट्टी भी घोषित कर दी जाती है। इस करोना महामारी में इसे शुभ संकेत ही माना जा सकता है…..

    एक्सपर्ट मीडिया न्यूज डेस्क। झारखंड की राजधानी रांची प्रक्षेत्र के आसमान में आज दो घंटे तक लोगों को अद्भुत नजारा देखने को मिला है। सूर्य के चारों तरफ आज सतरंगी घेरा देखा है। इस अद्भुत नजारे को लोगों ने अपने कैमरे में कैद दिया है। साथ ही इसे लेकर कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं।

    झारखंड की राजधानी रांची और आसपास के कई हिस्सों में सोमवार को तेज धूप के बीच सूर्य के चारों ओर रंगीन इंद्रधनुष का अद्भूत नजारा देखने को मिला।

    आम तौर पर धनुषाकार होने वाले इंद्रधनुष ने अपने सात रंगों से सूर्य को गोलाकार में घेर लिया था। इस अद्भुत नजारे को देखकर रांची के लोग हैरान भी थे। आखिर सूर्य आज सतरंगी घेरा में क्यों दिख रहा है।

    रांची स्थित भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार कि खगोल विज्ञान में इसे ‘‘22 डिग्री सर्कुलर हलो कहते हैं। इसका मुख्य कारण आइस क्रिस्टल पर सूर्य की रोशनी का परावर्तन होना है। आइस क्रिस्टल ऊपरी वायुमंडल में धरती से 18 से 21 किलोमीटर ऊपर संस्पेंडेड फार्म यानी लटकी हुई अवस्था में रहती हैं।

    ऐसा तब होता है, जब सूर्य या चंद्रमा की किरणें बादलों में मौजूदा षट्कोणीय बर्फ क्रिस्टलों से अपवर्तित हो जाती है। यह हाई क्लाउड से बनता है और बारिश का सूचक होता है।

    मौसम वैज्ञानिक ने कहा कि हलो कई रूप में हो सकते हैं, जिसमें रंगीन या सफेद रिंग से लेकर आर्क्स और आकाश में धब्बे होते हैं। इनमें से कई सूर्य या चंद्रमा के पास दिखाई देते हैं, लेकिन अन्य कहीं या आकाश के विपरीत हिस्से में भी होता है।

    मौसम वैज्ञानिक ने कहा कि सबसे प्रसिद्ध प्रभामंडल प्रकारों में वृत्ताकार प्रभामंडल, जिसे प्रकाश स्तंभ भी कहते हैं और यह अत्यंत दुलर्भ होता है, आज इसी तरह का दृश्य देखने को मिला। वहीं, रांची के लोगों में यह अद्भुत नजारा अभी भी कौतूहल का विषय है।

    कुछ जानकार इस अद्भूत नजारे को लेकर तरह-तरह की व्याख्या भी कर रहे है। कुछ लोग इसे संकट की स्थिति से भी जोड़ कर रहे हैं।

    जानकारों का कहना है कि लेह में बौद्ध धर्मावलंबी इस खगोलीय घटना को बहुत शुभ मानते हैं और वहां सरकारी छुट्टी भी घोषित कर दी जाती है। इस करोना महामारी में इसे शुभ संकेत ही माना जा सकता है।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    EMN Video News _You tube
    Video thumbnail
    पिटाई के विरोध में धरना पर बैठे सरायकेला के पत्रकार
    03:03
    Video thumbnail
    देखिए वीडियोः इसलामपुर में खाद की किल्लत पर किसानों का बवाल, पुलिस को पीटा
    02:55
    Video thumbnail
    देखिए वायरल वीडियोः खाद की किल्लत से भड़के किसान, सड़क जामकर पुलिस को जमकर पीटा
    00:19
    Video thumbnail
    नालंदा पंचायत चुनाव 2021ः पुनः बनेगे थरथरी प्रखंड प्रमुख
    02:18
    Video thumbnail
    पंचायत चुनाव प्रक्रिया की भेड़ियाधसान भीड़ में पुलिस-प्रशासन भी नंगा
    04:00
    Video thumbnail
    नगरनौसाः वीडियो एलबम के गानों की शूटिंग देखने को उमड़ी भीड़
    04:19
    Video thumbnail
    बिहारः देखिए सनसनीखेज वीडियो- 'नाव पर सवार शिक्षा'- कैसे मिसाल बने नाविक शिक्षक
    07:10
    Video thumbnail
    बिहार के नवादा में देखिए तालिबानी राज, वीडियो वायरल
    03:53
    Video thumbnail
    हेमंत सोरेन की जगह गीता कोड़ा बनेंगी झारखंड की सीएम !
    04:06
    Video thumbnail
    फ्री पेट्रोल के लिए आपस में भिड़े भाजपाई, मची भगदड़
    00:18