अन्य
    Thursday, May 30, 2024
    अन्य

      नीट यूजी से भी जुड़े हैं टीआरइ-3 लीक कांड में गिरफ्तार इन अभियुक्तों का रिश्ता

      पटना (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज)। बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) शिक्षक बहाली (टीआरइ-3) प्रश्न पत्र लीक कांड में मध्य प्रदेश के उज्जैन से गिरफ्तार सभी पांच अभियुक्तों को न्यायालय में पेश करने के बाद तीन मई तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

      बिहार आर्थिक अपराध इकाई (इओयू) द्वारा गिरफ्तार अभियुक्तों में नालंदा जिले के नगरनौसा का शिव कुमार उर्फ डॉ शिव कुमार उर्फ बिट्ट, बल्ली उर्फ संदीप कुमार, प्रदीप कुमार और करायपरशुराय का तेज प्रकाश शामिल है। अन्य एक महिला सौम्या कुमारी पटना के कंकड़बाग इलाके की रहने वाली है।

      उक्त अभियुक्तों से अब तक आर्थिक अपराध इकाई (इओयू) की विशेष टीम द्वारा की गयी पूछताछ में कई अहम खुलासे हुए हैं। आगे की पूछताछ को लेकर इओयू इन सभी अभियुक्तों को पुनः रिमांड पर लेकर गहराई से पूछताछ करेगी।

      इओयू के मुताबिक नगरनौसा (नालंदा) का शिव कुमार उर्फ डॉ शिव कुमार उर्फ बिट्ट ने शिक्षक बहाली (टीआर-3) प्रश्न पत्र लीक कांड में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी थी। वह कई महत्वपूर्ण सरकारी संस्थानों की प्रतियोगिता परीक्षाओं में प्रश्न पत्र लीक व फर्जीवाड़ा के कांडों को अंजाम देने वाले अंतरराज्जीय गिरोह का सक्रिय सदस्य रहा है।

      डॉ. शिव 2017 में नीट-यूजी के परीक्षा पत्र लीक कांड का भी अभियुक्त रहा है। इसी वर्ष उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) द्वारा आयोजित सिपाही भर्ती परीक्षा के प्रश्न पत्र लीक कांड में भी इस गिरोह के तार जुड़े हुए पाये गये हैं।

      इस अंतर्राज्जीय गिरोह का नेटवर्क यूपी-बिहार के साथ ही झारखंड, ओडिशा, पश्चिम बंगाल सहित अन्य राज्यों में भी फैला हुआ है। पटना के पत्रकार नगर थाना में दर्ज एक कांड के अभियुक्त खगौल के शुभम मंडल के साथ मिल कर भी डॉ शिव ने कई पेपर लीक की घटनाओं को अंजाम दिया है।

      बता दें कि शिक्षक बहाली पेपर लीक मामले में इओयू की विशेष टीम ने झारखंड के हजारीबाग में छापेमारी कर 268 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेजा था। इस संबंध में इओयू थाने में 16 मार्च 2024 को प्राथमिकी दर्ज की गयी।

      उसके बाद विशेष टीम को गिरफ्तार अभियुक्तों से पूछताछ, सूचना संकलन और तकनीकी एवं वैज्ञानिक विश्लेषण के क्रम में इन अभियुक्तों के मध्य प्रदेश के उज्जैन में होने की जानकारी मिली। इसके बाद घेराबंदी कर उनको दबोच लिया गया।

      चाईबासा चुनावी झड़पः ग्रामीणों ने गीता कोड़ा समेत 20 भाजपा नेताओं पर दर्ज कराई FIR

      आखिर इस दिव्यांग शिक्षक को प्रताड़ित करने का मतलब क्या है?

      ACS केके पाठक ने अब EC पर साधा कड़ा निशाना, लिखा…

      केके पाठक का तल्ख तेवर बरकरार, गवर्नर को दिखाया ठेंगा, नहीं पहुंचे राजभवन

      मनोहर थाना पुलिस ने FIR दर्ज कर गोड्डा सासंद को दी गिरफ्तार करने की चेतावनी

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!