हिलसा में दारु के एक बड़े रैकेट का खुलासा, दो धंधेबाज के साथ डिलीवरी ब्यॉय भी धराया

Share Button

” दारु के अवैध कारोबार से मोटी कमाई करने वाला टिप्पी गोप एकबार उत्पाद विभाग की टीम पर भी जानलेवा हमला करवा चुका है। जिस वक्त देशी शराब की बिक्री चरम पर थी, उस समय टिप्पी गोप का कारोबार भी चरम पर था।”

गिरफ्त में आए धंधेबाज सहोदर भाई चुन्नू एवं कल्लू…..

हिलसा (संवाददाता)। नालंदा जिले के हिलसा शहर तथा आसपास के इलाके में अवैध रुप से दारु का कारोबार करने वाले एक बड़े रैकेट का खुलासा हुआ। डिलीवरी ब्यॉय के साथ न केवल दो धंधेबाज पुलिस के हत्थे चढ़ा, बल्कि दो एमएल का एक सौ पैंतीस देश पाऊच भी जप्त हुआ।

पुलिस की कोशिश के बाद भी रैकेट का मुख्य सरगना पुलिस की पकड़ में नहीं आ सका। डीएसपी प्रवेन्द्र भारती ने बताया कि शहर के सैदाबाजार मुहल्ले में देशी शराब की एक बड़ी खेप पहुंचने की सूचना मिली।

पुलिस इंसपेक्टर मदन प्रसाद सिंह एवं थानाध्यक्ष रत्न किशोर झा को तत्काल छापेमारी करने को कहा गया। इस दौरान सैदाबाजार निवासी कल्लू राम एवं चुन्नू राम के घर में छापेमारी की गयी। घर के आंगन में कुंए में छुपा कर रखे गए देशी शराब का पाऊच बरामद हुआ। मौके पर मौजूद कल्लू और चुन्नू भी पकड़ा गया। इन दोनों से हुई पूछताछ के आधार पर नवीननगर मोहल्ले से संतोष चौधरी को हिरासत में लिया गया।

संतोष ने पूछताछ में खुलासा किया कि वह पचास रुपये की लालच में दारु भरा बोरा कल्लू और चुन्नू के घर पहुंचाया था। पूछताछ में खुलासा हुआ कि कल्लू और चुन्नू के घर दारु भिजवाने वाला विद्यापुरी निवासी टिप्पी गोप है जिसके घर में संतोष बतौर किराएदार रहता है। पुलिस टिप्पी गोप की खोज में उसके कई ठिकानों पर छापेमारी की लेकिन सफलता हाथ नहीं लगी।

टिप्पी कोई और नहीं दारु के अवैध कारोबार की एक बड़ी हस्ती !

हिलसा शहर के सैदाबाजार में धंधेबाज के घर के कुंआ से दारु निकालने की प्रकिया करते पुलिस पदाधिकारी…..

हिलसा में दारु के अवैध कारोबार में जिस टिप्पी गोप का नाम आया वह कोई और नहीं बल्कि दारु के अवैध कारोबार की एक बड़ी हस्ती है। मूलत: हिलसा शहर के विद्यापुरी मोहल्ले का रहने वाला टिप्पी गोप एक लंबे अर्से से अवैध देशी शराब का धंधा करते रहा है।

टिप्पी का मुख्य धंधा डुप्लीकेट देशी शराब बनाना और सस्ते दाम पर बाजार में परचुनियां के हाथों बिकवाना था। इसके लिए टिप्पी चलंत कारखाना भी खोल रखा था। उसके कई ठिकानों पर छापेमारी में भारी मात्रा में रैपर, स्प्रीट, पैकिंग मशीन और कई उपकरण भी बरामद हुआ था।

उत्पाद की टीम पर भी टिप्पी करवा चुका है हमला

दारु के अवैध कारोबार से मोटी कमाई करने वाला टिप्पी गोप एकबार उत्पाद विभाग की टीम पर भी जानलेवा हमला करवा चुका है। जिस वक्त देशी शराब की बिक्री चरम पर थी, उस समय टिप्पी गोप का कारोबार भी चरम पर था। लाइसेंसी दुकानदारों की शिकायत पर उत्पाद विभाग की टीम टिप्पी के कारोबार स्थल पर छापेमारी कर दी।

उत्पाद विभाग की इस कार्रवाई से नाराज टिप्पी तथा उसके समर्थक जानलेवा हमला कर दिया। कई राउंड फायरिंग कर उत्पाद विभाग की टीम को लौटने पर मजबूर किया गया।

तीन नाम से जाना जाता है टिप्पी

कभी दारु के अवैध कारोबार में चर्चित रहने वाला टिप्पी गोप तीन नाम से जाना जाता है। आमलोगों के बीच टिप्पी गोप के नाम से चर्चित टिप्पी का मूल नाम बालदेव प्रसाद है। जबकि कागजी तौर पर उसका नाम सत्येन्द्र कुमार है। पुलिस रिकार्ड में इन तीनों नाम की चर्चा है।

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...