सात निश्चय की योजनाओं में गति लाएं जिले के बीडीओः डीएम

Share Button

बिहार शरीफ (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज)। नालंदा डीएम डॉ. त्यागराजन एस एम ने हरदेव भवन में सात निश्चय की योजनाओं की समीक्षा करते हुए सभी उपस्थित अधिकारियों को कई निर्देश दिए। 

डीएम ने कहा कि लोगों से प्राप्त आवेदनों का वेबसाइट में एंट्री करने संबंधी कार्य को तेज करें। समीक्षा में पाया गया कि जिला में शौचालय विहीन परिवारों की संख्या 2 लाख 42 हजार थी। लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान के तहत अब तक 94 हजार परिवारों को शौचालय बनाया जा चुका है। 20 हजार घरों में शौचालय निर्माण का कार्य चल रहा है।

15 अगस्त 2018 तक 1 लाख 28 हजार परिवारों में शौचालय निर्माण की चुनौती है, जिसे मिशन मोड में काम करके ही पूरा किया जा सकता है। जिला के 249 पंचायतों में से 60 पंचायत ओडीएफ घोषित हो चुके हैं।

खुले में शौच मुक्त घोषित हो चुके वार्डों की संख्या 1190 है। शौचालय बना चुकने के बाद भी क्षेत्र 42 लाभुक ऐसे हैं जिनका पेमेंट अभी तक नहीं हुआ है।

डीएम ने खासतौर से प्रखंड विकास पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि जियो टैगिंग में तेजी करा कर संबंधित लाभुकों को भुगतान की कार्यवाही करें, जिससे उनमें शौचालय निर्माण एवं व्यवहार परिवर्तन के लिए प्रोत्साहन हो।

लोगों के बीच शौचालय के उपयोग के आदत डालने के लिए हर प्रकार के जागरूकता कार्यक्रम पर फोकस किए जाने का निदेश दिया गया।

हर घर नल का जल एवं पक्की नाली गली की समीक्षा में पाया गया कि जिला में अब तक 1336 वार्डों में यह योजनाएं पूरी हुई है, जिनमें हर घर नल का जल की योजना व योजनाओं की संख्या 582 एवं पक्की नाली गली से संबंधित योजनाओं की संख्या 754 है। इन दोनों योजनाओं पर अब तक 172 करोड़ रुपये व्यय हुए हैं।

डीएम ने कहा कि जिन योजनाओं को पूरा किया जा चुका है, उसका सही तरीके से जांच कर भुगतान की कार्रवाई भी जल्दी करें और जहां नई योजनाएं लिया जाना है वहाँ नया स्कीम लेने का भी काम जल्दी पूरा कर लें।

जिन पंचायतों में शौचालय निर्माण के भुगतान का कार्य पूरा किया जा चुका है, उन्हें ब्लॉक करने का भी निर्देश संबंधित प्रखंड विकास अधिकारियों को दिया गया।

प्रखंड स्तर पर सात निश्चय की योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए दक्ष बनाने हेतु राज मिस्त्रियों की ट्रेनिंग आयोजित करने का भी निर्देश सभी बीडीओ को दिया गया।

डीएम ने निर्देश दिया कि सभी आरटीपीएस केंद्रों पर छाया एवं पेयजल की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाए तथा सरकार के निर्देश के अनुरूप लोगों को सुविधाएं प्रदान की जाए।

बैठक में उप विकास आयुक्त सुब्रत कुमार सेन, प्रोबेशनर आईएएस मुकुल गुप्ता, डीआरडीए निदेशक संतोष श्रीवास्तव, अनुमंडल पदाधिकारी सुधीर कुमार, जिला पंचायत राज पदाधिकारी शैलेंद्र नाथ डीसीएलआर प्रभात कुमार एवं राकेश गुप्ता वरीय उपसमाहर्ता रामबाबू रविंदर राम बृजेश कुमार प्रमोद कुमार एवं अन्य संबंधित अधिकारी प्रखंड विकास पदाधिकारी आदि उपस्थित थे।

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...