राजगीर प्रवास के दौरान सीएम ने लिया कई स्थलों का जायजा, दिए अहम निर्देश

Share Button

“राजगीर घोड़ा कटोरा आदि स्थलों का जायजा लेने के बाद सीएम नीतीश कुमार  राजधानी पटना  होते हुए बोधगया के लिए रवाना हुए हैं….”

राजगीर (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज/नीरज). अपने गृह जिला नालंदा स्थित राजगीर प्रवास के दूसरे दिन हर बार की तरह इस बार  भी शनिवार को ऐतिहासिक घोड़ा कटोरा की सैर पर निकले। उन्होंने वहाँ बन रहे भगवान बुद्ध की प्रतिमा का भी जायजा लिया।

सीएम ने घोड़ा कटोरा की सैर के दौरान  कहा कि यह एक ऐतिहासिक स्थल है। इसका उल्लेख  वेद पुराणों यहाँ तक कि महाभारत में भी है।

उन्होंने वरीय पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि घोड़ा कटोरा  झील के बीचो-बीच  भगवान बुद्ध की प्रतिमा की परिक्रमा के लिए नाव की व्यवस्था होनी चाहिए। यहाँ  जल का स्रोत  आंतरिक है।

सीएम ने कहा कि अगर पिलर की मदद से कोई पुल बनाया जाए तो झील का आंतरिक स्रोत  प्रभावित होगा। इस लिए परिक्रमा के लिए नाव की व्यवस्था होनी चाहिए। झील के किनारे पैदल चलने के लिए रास्ता बनाया जाना चाहिए। इको टूरिज्म में पैदल घूमने की काफी संभावनाएं हैं।

सीएम ने झील के पास बने शौचालयों और पेयजल की सुविधा का भी जायजा लिया। साथ ही सीएम ने इस स्थल पर वृक्षारोपण का निर्देश भी दिया।

उन्होंने अधिकारियों को कहा कि 25 नवंबर तक भगवान बुद्ध की प्रतिमा बन जानी चाहिए ताकि पर्यटकों के लिए इसे खोल दिया जाए। सीएम ने  निर्माणस्थल के पास बने वाच टावर का भी निरीक्षण किया । 

उल्लेखनीय रहे कि सीएम नीतीश कुमार ने वर्ष 2012 में ऐतिहासिक घोड़ा कटोरा के सौंदर्यीकरण की घोषणा की थी। तब से इस स्थल पर कई कार्य कराये जा रहे हैं। घोड़ा कटोरा के सौंदर्यीकरण के बाद से यहां देसी-विदेशी पर्यटकों का तांता लगा रहता है।

सीएम ने वन विभाग पार्क निर्माण करने पौधारोपण का बड़े पैमाने पौधारोपण के भी निर्देश दिये और सोलर पंप हाउस और वन विभाग द्वारा बनाए जा रहे वाच टावर का भी जायजा लिया।

उसके बाद सीएम अपने काफिले के साथ पुलिस ट्रेनिंग सेंटर पहुंचे, जहां उन्होंने निर्माण कार्यों का घूम घूम कर निरीक्षण किया।

इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी, ग्रामीण कार्य मंत्री शैलेश कुमार ग्रामीण विकास एवं संसदीय कार्य मंत्री सरवन कुमार, सांसद कौशलेंद्र कुमार, मुख्यमंत्री के सलाहकार एवं पूर्व मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह, एडीजी सुनील कुमार, एडीजी गुप्तेश्वर पांडे, पटना सेंट्रल के डीआईजी राजेश कुमार, प्रधान सचिव चंचल कुमार, सचिव मनीष कुमार वर्मा, विशेष कार्य पदाधिकारी डॉक्टर गोपाल सिंह, डीएफओ नेशामनी, पर्यटन विभाग के प्रधान सचिव रवि मनु भाई प्रमार, बिहार राज्य पर्यटन विकास निगम एमडी इनायत खान, नालंदा डीएम डॉ त्यागराजन एसएम, एसपी सुधीर कुमार पेरीका नगर आयुक्त सौरव जोरवाल के अलावे कई पदाधिकारी मौजूद थे।

 

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...