रांची में सेक्स रैकेट का खुलासाः मजबूरी में नहीं, शौक से करती है जिस्मफरोशी

आमतौर पर जिस्मफरोशी के अड्डे से जब किसी लड़की को छुड़ाया जाता है  या वो पकड़ी जाती हैं तो उसकी कहानी अब तक यही सामने आती रही है कि उसने मजबूरी में धंधे को अख्तियार किया है। लेकिन जिस्म के बाजार में अपने आप को बेचने वाली ये लड़कियां किसी मजबूरी में यह काम नहीं करती हैं।“

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज डेस्क। झारखंड की राजधानी रांची शहर में गुरुवार देर रात स्टेशन रोड में चल रहे एक जिस्मफरोशी के अड्डे से पुलिस ने दो लड़कियों सहित सात लोगों को गिरफ्तार किया है।

दलाल और कॉल गर्ल के पास से जो मोबाइल मिले और उस मोबाइल में अभिनेत्री नाम से बने फोल्डर को जब खोला गया तो पुलिस भी हैरान हो गई।

अभिनेत्री फोल्डर में एक से एक सुंदर लड़कियों की तस्वीर थी। तस्वीर देख कर कोई यह नहीं कह सकता था कि यह उन लड़कियों की तस्वीरें हैं जो जिस्मफरोशी के धंधे में लिप्त हैं।

सिटी डीएसपी राजकुमार मेहता के नेतृत्व में पुलिस टीम ने गुरुवार की शाम होटल में छापामारी कर दो युवक व दो युवतियों को आपत्तिजनक हालत में पकड़ा। 

जिस्मफरोशी के धंधे में लिप्त मनोज उर्फ मोहित एवं रूपेश सिंह उर्फ अनिस सिंह समेत मो साजिद, राजन कुमार, मनीष कुमार एवं प्रवीण राय को को भी दबोचा गया।

जिसने पुलिस को कई चौंकाने वाली जानकारी दी है।

पकड़ी गई युवतियां कोलकाता की हैं। वहीं अन्य आरोपी रांची, बिहार और उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं। टीम में लोअर बाजार एसआई मोहन कुमार के अलावा अन्य पुलिस पदाधिकारी व जवान शामिल थे।

इस गिरोह के सदस्यों से संपर्क करनेवाले व्यक्ति को वह व्हाट्सएप पर लड़कियों की तस्वीरें भेजी जाती थीं। पसंद आने के बाद संबंधित व्यक्ति से गिरोह के सदस्य रेट तय करते थे।

सब कुछ होने के बाद संबंधित व्यक्ति को वह स्टेशन रोड का पता दिया जाता था। इसके बाद रूपेश संबंधित व्यक्ति के पास जाता और पैसा लेने के बाद उसे लेकर होटल अवतार पहुंचाता था। कमरे में पहले से ही लड़कियां मौजूद रहती थीं।

पूछताछ के क्रम में मनोज ने पुलिस को बताया कि होटल अवतार में काफी अरसे से यह कारोबार चल रहा है। उसने पुलिस को यह भी जानकारी दी कि रांची के अलावा बिहार, यूपी और बंगाल से लड़कियां लायी जाती रही हैं

शौक से करती है धंधा

महिला थाने में हिरासत में लेकर रखे गए लड़कियों से जब पूछा  गया कि वे लोग इस धंधे में कैसे आ गए। इस पर दोनों का जवाब काफी चौकाने वाला था। उन्होंने साफ कहा कि वह किसी मजबूरी में इस धंधे में नहीं आई हैं बल्कि शौक से यह धंधा करती हैं।

कोलकाता से रांची आती हैं लड़कियां

युवती ने बताया कि इस धंधे में उन्हें हर कस्टमर से 2000  मिलते हैं। हालांकि धंधा करने के लिए दलाल होते हैं, जिन्हें वे ही कमीशन देती हैं। लेकिन जब से वाट्सएप पर यह सब शुरू हुआ है धंधा करने की राह आसान हो गई है।

ये लड़कियां पिछले दो साल से इस धंधे में शामिल हैं और वह कोलकाता से रांची आकर इस धंधे में शामिल होती हैं।

इंटरनेट ने बनाई राह आसान

झारखंड की राजधानी रांची में जिस्मफरोशी का कारोबार तेजी से फल फूल रहा है। इंटरनेट की गति जितनी तेज हो रही है उसी गति से या धंधा भी इंटरनेट पर जबरदस्त फैल रहा है।

राजधानी में जिस्मफरोशी के लिए सोशल मीडिया का जमकर प्रयोग किया जा रहा है। ग्राहक को किस टाइप की लड़कियां चाहिए उसे व्हाट्सअप पर भेज सौदा तय किया जा रहा है।

पुलिस जांच में जुटी

राजधानी रांची में वाट्सएप के जरिए सेक्स रैकेट का खेल कोई नया नहीं है। इससे पहले रुद्रा नाम के शख्स ने बकायदा इस धंधे को ऑनलाइन कर दिया था। उसकी गिरफ्तारी के बाद थोड़े दिन के लिए धंधा बंद हुआ लेकिन अब ये फिर से अपने पूरे शबाब पर है।

Related News:

नई दिल्ली में बैठकर कुलपति चलाते हैं नव नालंदा महाविहार डीम्ड विश्वविद्यालय
हरिद्वार में चाक चौबंद सुरक्षा के बीच टप्पेबाजों ने यूंं उड़ाए लाखों रुपये
कस्तूरबा गांधी आवासीय स्कूल में कुकर्म, 6वीं की छात्रा बनी मां, वार्डेन ने कराया गर्भपात
श्रावणी मेला: पुलिस की निष्क्रियता से कांवरिया पथ पर चोर उचक्के की चांदी
एसयू कॉलेज में पीजी की पढाई को लेकर छात्र जदयू ने की नारेबाजी
पति से की बेवफाई तो आशिक वफ़ा निभा न सका, प्रेमिका को अकेला छोड़ कर प्रेमी भागा
गोईठवा-सोईवा नदी में कौन खोद रहा है मौत का कुंआ, किसका है सरंक्षण?
राबड़ी का नीतीश को गुलदस्ता सौंपते ही राजनीतिक हलचल बढ़ी
गृद्धकूट पर्वत पर रोज भगवान बुद्ध को प्रकट कर ठगी करने वाले तीन धराये
पूर्व डीजीपी अभ्यानंद पर बन रही है ढाई घंटे की डाक्यूमेंट्री फिल्म

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...
Loading...