यहां पुलिस प्रोटक्शन में चलता है कुख्यात-सजाफ्ता ‘अलिया’ का सिक्का !

Share Button

बिहार के सीएम नीतीश कुमार की ढोल है कि उनकी सरकार का मूल मंत्र है विकास के साथ कानून का राज। लेकिन उनके गृह जिले  नालंदा में कैसा विकास और किसका राज है? इसका एक ताजा उदाहरण सामने आया है। यहां कुख्यात-सजाफ्ता अपराधी भी पुलिस प्रोटक्शन में अवैध हथियार लेकर गुंडई करते फिरता है …………” 

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क (बिहार शऱीफ ब्यूरो)। नालंदा जिले के सिलाव थाना के नानंद गांव में आयोजित एक गैर कानूनी कार्यक्रम की जो वीडियो वायरल हुए और उसमें छुपे जो अपराध उभरकर सामने आए, उसके मुख्य आरोपी अनिल उर्फ अली उर्फ अलिया दबंग नहीं, एक रिकार्डेडे अपराधी है।

आश्चर्य की बात तो यह है कि सत्ता संरक्षित अपराधी ‘अली’ के भाभी मुखिया मीना देवी को वर्तमान एसपी नीलेश कुमार ने सरकारी अंगरक्षक उपलब्ध कराया है, जिसका उपभोग अपराधी अली ही करता है। इस बात की जानकारी पुलिस-प्रशासन के स्तर के लोगों को है, लेकिन किसकी मजाल है कि इस दिशा में कार्रवाई करे।

बीते 23 अगस्त को जिस समय नानंद गांव में बिना किसी प्रशासनिक स्वीकृति के एक मौज-मस्ती पार्टी का आयोजन कर अश्लील डांस, शराबखोरी, हथियार लहराते हुए फायरिंग, छेड़खानी, भय का माहौल उत्पन्न हुआ, उस समय अपराधी अली के साथ सरकारी पुलिस अंगरक्षक भी साथ था।

इस मामले को लेकर पहले तो राजगीर डीएसपी ने बिना लिखित शिकायत के कार्रवाई करने में असमर्थता प्रकट की, लेकिन जब मीडिया में हाय-तौबा मची तो दिखावा के लिए कुख्यात व सजाफ्ता अपराधी अली के खिलाफ के बाद सिर्फ आर्म्स एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज कर खानापूर्ति की गई।

जबकि, मामला का प्रत्यक्षदर्शी चौकीदार सकलदेव पासवान ने अपने फर्द बयान में साफ कहा है कि उस दिन करीब रात्रि 11 बजे कार्यक्रम स्थल पर गया तो देखा कि नाच गान के दौरान ही उसके नानंद गांव के अनिल उर्फ अली महतो पिता सुकर महतो नशे की हालत में अपने हाथ में लिए अवैध पिस्तौल से फायर कर रहा है तथा नर्तकी के साथ अश्लील हरकत कर रहा है। अनील उर्फ अली उसके गांव के दबंग किस्म के आदमी है। उसके डर से उसकी वीडियो वायरल होने के दो दिन बाद 25 अगस्त को अपने ही थाना पुलिस को बयान दिया।

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क के पास सत्ता सरंक्षित कुख्यात अनील उर्फ अली के खिलाफ न्यायालय में विचाराधीन गंभीर अपराधों के कुछ आकड़े उपलब्ध हुए हैं। इनमें कुछ मामलों में सजा भी दी जा चुकी है। आईए जरा गौर करें नीचे दिए गए चित्र-आकड़ों पर और खुद भी आंकलन करें कि ई नालंदा में सत्ता संरक्षण में कैसे तत्वों का संवर्धन हो रहा है……………………….

 

Share Button

Related News:

यूं एक लाख घूस लेते निगरानी के हत्थे चढ़ा पटना एसपी का रीडर अजय
आतंकी से 'गुरूजी' बना तौसीफ 56 मौतों का रहा है गुनहगार
ABC ने बिशुनपुर BDO को रिश्वत लेते रंगे हाथ दबोचा, गये जेल
सेना बहाली के अभ्यर्थियों की सेवा में जुटी झामुमो
बाल सरंक्षण आयोग की टीम की जांच से कस्तूरबा आवासीय विद्यालय की खुली कलई
नालंदा में शिक्षा का हालः कहीं 16 छात्र पर 5 शिक्षक तो कहीं 250 छात्र पर 2 शिक्षक
देखिए नालंदा में सुशासनः महिला संग छेड़खानी-पिटाई करने वाले मनचले को पुलिस ने थाना से छोड़ा
किसानों के साथ प्रशासन का चूहे-बिल्ली का खेल शुरू
नालंदा में 'मोहल्ला सरकार' के लिए गोलीबारी-मारपीट के बीच वोटिंग जारी
सड़क हादसा में घायल एएसपी आनंद जोसेफ तिग्गा की मौत
मलमास मेला के थियेटर में अश्लीलता, बवाल, मारपीट, दर्जन भर चोटिल, 2 के सिर फटे
‘राजगीर महोत्सव’ को लेकर बुरी तरह फंसे नालंदा डीएम
पंचतत्व में विलीन हुये प्रो. पशुपति बाबू, रह गई स्‍मृति शेष
बिजली की किल्लत से पावापुरी मेडिकल कॉलेज में मरीज और प्रबंधन त्रस्त
परिवाद के समर्थन में लोक शिकायत निवारण कार्यालय पहुंचे ढेरों पुरुष-महिलाएं
दो दिनों तक पुलिस कर सकती है पूना कांड के आरोपी से पूछताछ
सीएम साहब, तनी देख ली अपन बुढ़मू के इस गांव में विकास की हालत
सियासी दांव-पेंच में फंसी मुख्य पार्षद की कुर्सी, फैसला कल
जमींदोज होने से पहले सड़क पर यूं तेजी से बन रहा सामुदायिक भवन
राजगीर में राष्ट्रीय ऊर्जा सम्मेलन रद्द! फिर जनता के करोड़ों की गाढ़ी कमाई बहाई क्यों?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...
Loading...