प्रशिक्षु SI-DSP से बोले बिहार DGP- ‘आत्मसात करें अनुशासन’

0
7

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क। बिहार डीजीपी गुप्तेश्वर पाण्डेय ने बिहार पुलिस एकेडमी,राजगीर में करीब 2 हजार प्रशिक्षु एसआई और 130 डीएसपी को अनुशासन और कर्तव्यनिष्ठा का पाठ पढ़ाया।

उन्होंने कहा कि ट्रेनिंग के दौरान पूरे अनुशासन के साथ यहां सिखायी जा रही बातों को आत्मसात करें। सही तरीके से ट्रेनिंग लेने के बाद ही बेहतर प्रदर्शन कर सकेंगे।

डीजीपी ने कहा कि ट्रेनिंग का एक-एक पहलू महत्वपूर्ण है। यहां से निकलने के बाद जब फील्ड में पोस्टिंग होंगी तो ट्रेनिंग में बतायी गयी बातें ही काम आएगी। ट्रेनिंग के दौरान जो भी बातें सिखकर जायेंगे वही आपको आगे बढ़ायेगा। 

उन्होंने कहा जो मन करे, वह कर लें। इस प्रवृत्ति से बचकर रहें। एकेडमी में सारी सुविधाएं मौजूद हैं। यहां आपका व्यक्तित्व विकास होगा। एक वर्ष के प्रशिक्षण में परेड, नि:शस्त्र युद्ध कला, आव्सटेकल कोर्स, अश्वारोहण, श्वान प्रशिक्षण, तरणताल, लक्ष्याभ्यास, पढ़ाई, फायरिंग, योग, खेलकूद सहित हर उस चीज की ट्रेनिंग दी जाएगी जो फील्ड ड्यूटी में उपयोगी है। शारीरिक और मानसिक रूप से मजबूत होना होगा। 

इसके पूर्व डीजीपी प्रशिक्षु अफसरों की मॉर्निंग पीटी में भी शामिल हुए और कराये जा रहे पीटी का भी जायजा लिया। ट्रेनरों से भी बातचीत की।

उन्होंने पीटी के दौरान प्रशिक्षुओं से कहा कि शारीरिक योग व्यायाम भी सही तरीके से कर्तव्य निर्वह्न में सहायक होता है। इससे मन में एकाग्रता आती है।

उन्होंने शारीरिक और मानसिक चुस्ती व एकाग्रता बनाये रखने से संबंधित कई टिप्स भी दिये। साथ ही सेवा के दौरान आने वाली चुनौतियों पर चर्चा करते हुए एक मोटिवेटर की तरह प्रशिक्षुओं को संबोधित किया। 

एकेडमी के प्राचार्य डीआईजी डॉ. परवेज अख्तर ने कहा कि आधुनिक तकनीक से प्रशिक्षण दिया जा रहा है। ट्रेनिंग का एक-एक दिन महत्वपूर्ण है। यहां से जो भी सीखकर जाएंगे वह आपके कैरियर को आगे बढ़ाएगा।

उन्होंने कहा कि ट्रेनर द्वारा दी जा रही जानकारी को ध्यान देकर सीखें। एकाग्रता बनाये रखें। यहां बताई गई बातें आपको नौकरी के आखिरी दिन तक काम आएंगी।

इस अवसर पर एकेडमी के एसपी रमाशंकर राय सहित अन्य वरीय पुलिस पदाधिकारी व ट्रेनर उपस्थित थे। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.