पौराणिक सिद्धनाथ मंदिर के विकास को लेकर पीएमओ में शिकायत दर्ज

अखिल भारतीय जरासंध अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय महासचिव एवं राजगीर के समाजसेवी श्याम किशोर भारती ने प्रधानमंत्री कार्यालय में इस ऐतिहासिक धरोहर को विकसित करने का आवेदन दिया है। आवेदनोपरांत प्रधानमंत्री कार्यालय के जन शिकायत सेल द्वारा आवेदन को स्वीकृति प्रदान करते हुए जन शिकायत संख्या PMOPG/E/2019/0495681 दर्ज किया है…………….……..”

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क। कई सदियों से उपेक्षित राजगीर के पुरातात्विक धरोहर सिद्घनाथ मंदिर के दिन बदल सकते हैं। धार्मिक नगरी राजगीर के पौराणिक एवं पुरातात्विक ऐतिहासिक धरोहर वैभारगिरी पर्वत के शिखर पर स्थित भगवान शंकर के सिद्धनाथ मंदिर के विकास के लिए आवेदन प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) में रजिस्टर्ड कर ली गयी है।

समाजसेवी श्याम किशोर भारती ने अपने लिखित आवेदन में महाभारत कालीन इस ऐतिहासिक, पुरातात्विक धरोहर को विकसित करने की मांग की है।

श्री भारती ने कहा कि एक ओर राजगीर के विभिन्न धर्मों के केन्दों का नियमित विकास हो रहा है किंतु राजगीर के सबसे प्राचीनतम धरोहर का विकास नही होना चिंता का विषय है।

 राजगीर के अन्य धर्मो से जुड़े स्थलों का विकास हो रहा है, किंतु ऐतिहासिक महत्व के इस पुरातात्विक धरोहर आज बिहार सरकार के पर्यटन मानचित्र पर भी नही है,जो निंदनीय है। राजगीर के वैभारगिरी पर्वत पर पहाड़ी वादियों के बीचो बीच स्थापित इस मंदिर की स्थापना महाभारत काल में मगध सम्राट जरासंध ने की थी।

उन्होंने बताया कि 5 हज़ार वर्ष पुराने इस ऐतिहासिक धरोहर की सरकारी स्तर पर इतनी उपेक्षा है कि इसकी पुरानी दीवारें भी किसी समय गिर सकती है। राजगीर के अन्य धार्मिक स्थलों के विकास पर सरकार खजाने खोल रखी है, लेकिन राजगीर के रमणीक वादियों में धार्मिक पर्यटन के इस महत्वपूर्ण केंद्र की उपेक्षा से देशी विदेशी पर्यटक सहित स्थानीय लोग काफी नाराज है।

उन्होंने कहा कि यदि सरकार इस स्थल का पूरा अध्ययन कर इसका सम्पूर्ण विकास करे तो धार्मिक,पुरातत्विक धरोहर के साथ राजगीर के पर्यटन में यह चार चांद लगा सकता है, क्योंकि इस स्थल तक पहुँचने में जिस तरह पहाड़ी घाटियों से लेकर जंगली खूबसूरती की छटा दिखती है, वह अलौकिक दृश्य है।

धार्मिक आस्था के महत्वपूर्ण केंद्र में पूरे सावन प्रतिदिन  हज़ारो श्रद्धालु हज़ारों सीढ़ी चढ़कर इस मंदिर में जलाभिषेक करने पहुँचते है। इस मंदिर परिसर के पास की विडंबना है कि के उक्त परिसर के आसपास न तो सरकार द्वारा  पानी की व्यवस्था है और न ही प्रकाश की। बिहार सरकार द्वारा इस परिसर तक पर्यटकों को ध्यानाकर्षण करने के लिए शहर में कही बोर्ड, होर्डिंग भी नहीं लगे है।

श्री भारती ने प्रेस प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए कहा कि बीते 5 अगस्त को अखाड़ा परिषद द्वारा आयोजित जलाभिषेक सह धरोहर सुरक्षा संकल्प यात्रा के क्रम में सभी श्रद्धालुओं ने इसकी रक्षा सुरक्षा का संकल्प लिया है। जिसके बाद इस धरोहर की वस्तु स्थिति से बिहार एवं केंद्र सरकार को विभिन्न माध्यमों से सूचित कर इसके विकास की मांग की जा रही है।

इसी क्रम में प्रधानमंत्री कार्यालय को सूचित किया गया है और एक प्रतिनिधिमंडल बिहार के मुख्यमंत्री एवं मंत्रीगण से भी मुलाकात कर इसके विकास की बात रखेंगे।

यदि समय रहते इस धरोहर का विकास नही हुआ तो पूरे बिहार के श्रद्धालु इसके लिये अनशन भी करेंगे। वहीं सिद्धनाथ मंदिर के विकास का आवेदन प्रधानमंत्री कार्यालय में पहुँचने पर स्थानीय लोगो ने उम्मीद जताई है कि शीघ्र ही इसका विकास होगा।

Related News:

YBN नयूज़ चैनल दफ्तर में हंगामा, तालाबंदी, समान समेट यूं भागने लगे चैनलकर्मी
शरद की महापंचायत के निशाने पर होगी नीतिश की महादलित राजनीति
सीएनटी-सीपीटी संशोधन बिल दोबारा आया तो जलेगा झारखंड : हेमंत
जदयू विधायक बीमा भारती के बेटे का शव रेलवे ट्रैक पर यूं मिला, हत्या की आशंका
नालंदा की युवती के साथ पटना में गैंगरेप, लोगों ने एक को पकड़ा, लेकिन ढाई घंटा बाद पहुंची कदमकुआं पुल...
सरिया बाजार के विवेकानंद मार्ग में चला प्रशासन का बुलडोजर
हाई कोर्ट ने कहा- यह कैसी शराबबंदी है? 30 दिन में बताए सरकार
रिपोर्टर की पिटाई करने वाला शराबी जमादार सस्पेंड, FIR भी दर्ज
पुलिस गश्ती दल को ट्रक ने रौंदा, एएसआई कार्तिक कुमार की मौत, 3 जवान घायल
370 पर जदयू-राजद-कांग्रेस का विरोध, बिहार में भी हाई अलर्ट
जदयू सांसद आरसीपी सिंह का दावा - वोट मांगना उनके संस्कार में नहीं, दें या न दें' !
बिहारी नेताओं को क्यों नहीं पच रहा अखिलेश सिंह का यह सच
आपूर्ति निरीक्षक के सप्रमाण अनुसंशा के बाबजूद नहीं नपा डीलर !
मंत्री जी, भीख मांग यूं पेट भर रहे ग्रामीण और अफसर डकार रहे राशन
SC के इस आदेश से प्रदीप-बंधु रोकेगें JVM-BJP का विलय !
भारी विस्फोटक के साथ जमुई पुलिस के हत्थे चढ़े 4 हार्डकोर नक्सली
राजकीय राजगीर मलमास मेला में लापरवाही बरतने वाले होंगे दंडित
कड़िया मुंडा समेत इन 4 हस्तियों को मिला पद्म पुरस्कार
वन भूमि को कब्जाने के लिये हरे-भरे पेड़ यूं काट रहा है राजगीर का विरायतन
2 अक्टूबर 2017 तक नालंदा को खुले में शौच मुक्त बनाने के डीएम का दावा
एक बेईमान एसडीओ  बना जल संसाधन मंत्री ललन सिंह का आप्त सचिव !
हरनौत में निजी क्लिनिक संचालकों की बढ़ी मनमानी, थाने में शिकायत
हिलसा में लूटपाट के दौरान नर्स की गला दबाकर हत्या, जांच में जुटी पुलिस
डीएम के आश्वासन की घूंटी के बाद चंडी पंसस के इस्तीफे का हुआ पटाक्षेप
इ मुजफ्फरपुर डीएम तो गजब के पलटु निकले !  आखिर क्या है राज ?
एक पीड़ित बाप की गुहार को सीएम ने लगाई अभद्र फटकार
नालंदा डीएम के आदेश से शराब पीते धराये 'धरती के 2 भगवान', हुये सस्पेंड
बोकारो थर्मल थाना के दारोगा ने लगा ली फांसी
हरनौत MLA फंड से भोभी में हाई स्कूल भवन के नाम पर बना लाखों का जर्जर भूत-बंगला
एसपी-डीएम के आदेश को ठेंगा, क्या इस असमाजिक पुलिसकर्मी पर कार्रवाई होगी ?
भ्रष्टाचारः नालंदा DPEO के ऐसे अनुभव प्रमाण पत्र से बना गया टीचर !
नीतीश का करारा जबाव, कैबिनेट विस्तार में यहां भाजपा बनी अछूत, जदयू के बने सारे 8 मंत्री
बैकफुट पर आये नालंदा परिषद अभियंता, खुद का आदेश को ही निरस्त कर खड़ा किया नया बखेड़ा
आज 11 बजे बुरुगुलिकेरा पहुंचेगें हेमंत सोरन, ग्रामीणों से करेंगे सीधी बात
टोल प्लाजा पर डबल टोल टैक्स का जोरदार विरोध प्रदर्शन
शराब के ठुमके पर बार बालाओं की अशलील डांस, फायरिंग पर राजगीर डीएसपी की थोथी दलील
प्रखंडकर्मी की फांसी से मौत के बाद थाना में यूं उलझे घर-ससुराल वाले
नदी महोत्सव अभियान के तहत स्कूल में हुआ पौधरोपन!
नालंदा में हटाये गये 32 बिजली कामगार, अध्यक्ष से हस्तक्षेप का अनुरोध
सड़क हादसे में हजारीबाग DDC हुये गंभीर रुप से घायल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...
Loading...