एसपी-डीएसपी के दुर्व्यवहार से भड़का अधिवक्ता संघ, कलम बंद निकाला प्रतिरोध मार्च

Share Button

बिहार के सीएम नीतीश कुमार के गृह जिले नालंदा में बढ़ते अपराध के बीच पुलिस की कार्यशैली को लेकर लोगों में आक्रोश बढ़ता जा रहा है”

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज। आज स्थिति यहां तक पहुंच गई कि जिला मुख्यालय बिहार शरीफ कोर्ट के वकीलों ने सीधे एसपी सुधीर कुमार पोरिका और डीएसपी निशित प्रिया द्वारा नालंदा अधिवक्ता संघ के पदाधिकारियों एवं सदस्यों के खिलाफ अमानवीय बर्ताव और दुर्व्यवहार किये जाने को लेकर हड़ताल करते हुये प्रतिरोध पैदल मार्च निकाला।

वकीलों का यह प्रतिरोध पैदल मार्च बिहारशरीफ कोर्ट से सीधे जिला समाहरणालय भवन पहुंचा और जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एसएम को एक ज्ञापन सौंपा।

अधिवक्ता संघ ने जिलाधिकारी के जरिये बिहार के सीएम नीतिश कुमार से नालंदा के एसपी और डीएसपी के खिलाफ फौरिक कार्रवाई करने की मांग की है।

सीएम के नाम सौंपे ज्ञापन में उल्लेख है कि संघ के एक सम्मानित सदस्य अधिवक्ता पवन कुमार सिन्हा को लहेरी थाना में विना किसी वैधानिक अधिकार के बुलाया गया और अवैध रुप से अभिरक्षा में लिया गया।

इसकी जानकारी जब नालंदा जिला अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष प्रभात कुमार रुखैयार एवं महासचिव को मिली तो वे दोनों अन्य सदस्यों के साथ पुलिस कार्यालय गये, जहां उन लोगों की मुलाकात एसपी सुधीर कुमार पोरिका और डीएसपी निशित प्रिया से हुई।

जब उन दोनों पुलिस पदाधिकारी को लहेरी थाना में पुलिस द्वारा अधिवक्ता पवन कुमार सिन्हा को अवैध रुप से अभिरक्षा में रखने एवं अवैधानिक अमानवीय व्यवहार से अवगत कराया तो वे उल्टे बिगड़ गये और बोले कि ‘हम अधिवक्ता को कुछ नहीं समझते हैं और 24 घंटा तक बिना कारण बताये पुलिस को किसी भी व्यक्ति को निरुद्ध करने का अधिकार है। जाईये यहां भीड़ मत लगाईये। नहीं तो पुलिस बल प्रयोग करना पड़ेगा।’

इससे आक्रोशित नालंदा जिला अधिवक्ता संघ की एक आम बैठक हुई। जिसमें दोनों पुलिस पदाधिकारी की क्रिया-कलाप की सर्व सम्मति से तीव्र भ्रत्सना की गई और यह आम निर्णय लिया गया कि पुलिस द्वारा अधिवक्ता को अवैध रुप से अभिरक्षा में रखने, एसपी और डीएसपी द्वारा अमानवीय व्यवहार करने की सूचना डीएम के जरिये सीएम को दी जाये।

संघ की बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि आज दिन भर संघ के सभी सदस्य न्याययिक कार्य से खुद को अलग रखते हुये अग्रेतर कार्रवाई हेतु समीक्षा कर उचित निर्णय लिया जायेगा।

सीएम के नाम डीएम को सौंपे ज्ञापन में उल्लेखित एसपी और डीएसपी के खिलाफ यथाशीघ्र उचित कार्रवाई न होने की दशा में आंदोलनात्मक कार्यवाही की चेतावनी भी दी है।

Share Button

Related News:

बिहारशरीफ एसडीओ के हाथों रहुई में पोषण मेला शुरु, हुई अनेक प्रतियोगिताएं
मोदी के सामने नीतीश के 'सरेंडर' के मायने और भविष्य
ठनका की चपेट से एक महिला की मौत, एक हालत गंभीर
मुख्यमंत्री के सात निश्चय कार्यक्रम के क्रियान्वयन शिविर का आयोजन
एक पिता ने दो पुत्री और एक पुत्र संग खाया जहर, चारो की मौत
नक्सलियों ने चिकाकी-कर्माबाद के बीच पटरी उड़ाया, रेल परिचालन बाधित
बारिश से किसानों के चेहरे पर लौटी मुस्कान
एसपी-डीएसपी के खिलाफ कार्रवाई पर अड़े बिहारशरीफ के वकील, 17 तक नहीं करेगें न्यायिक काम
बिहारशरीफ के 46 में 25 वार्डों से एक भी नहीं हैं अपराधिक छवि के प्रत्याशी
बढ़ती हिंसा पर बच्चों ने जतायी चिंता
पारा विधिक स्वयं सेवकों की बहाली में महिलाओं को प्राथमिकता
गंदी नाली बनी सड़क पर बोले करायपरसुराय बीडीओ- होगी समस्या का समाधान
MGM अस्पताल के गर्ल्स हॉस्टल से धराया चोर, उसके बाद देखिए क्या हुआ...
बड़ा थेथर है नगरनौसा बिजली विभाग का जेई !
'हो' को 8 वीं अनुसूची में शामिल करने की मांग को लेकर रोकी ट्रेनें
एसआई कमलजीतः नालंदा पुलिस का सबसे चुस्त, दुरुस्त और फुर्तीला कर्मी !
पटना जीपीओ में शराब पीते चार डाककर्मी धराये
बीआईटी सिन्दरी के वरीय व्याख्याताओं ने किया यूं फर्जीवाड़ा
नालंदा में शिक्षा का हालः कहीं 16 छात्र पर 5 शिक्षक तो कहीं 250 छात्र पर 2 शिक्षक
'मोक्ष एवं ज्ञान की नगरी' गयाः अतीत से वर्तमान का गौरवशाली सफर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

loading...
Loading...