कौन होंगे राजद का नया सुप्रीमो, तेज-तेजस्वी या मीसा-राबड़ी या कोई और?

 
कौन होंगे राजद का नया सुप्रीमो, तेज-तेजस्वी या मीसा-राबड़ी या कोई और

पटना (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क।)  राजद सुप्रीमो लालू यादव की सेहत को देखते हुए अब पार्टी की कमान नये हाथों में देने की तैयारी चल रही है। राजद अब नये राष्ट्रीय अध्यक्ष को चुनने वाली है और लगभग तय हो चुका है कि कमान किसके पास रहेगी।

राजद के सुप्रीमो अभी लालू प्रसाद यादव हैं। लेकिन सियासी गलियारों में यह चर्चा तेज है कि आरजेडी अब नये प्रमुख को चुनने की तैयारी में है। लालू प्रसाद की सेहत अब नासाज रहने के कारण इस तरफ कुछ नया फैसला लिया जा सकता है।

चर्चा यह है कि खुद लालू प्रसाद ही अब यह चाहते हैं कि संगठन को मजबूत करने के लिए यह महत्वपूर्ण जिम्मेदारी सक्रिय नेता के हाथ में जाए।

20 फरवरी को पटना में राजद की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक है। राजद सुत्रों की मानें तो ये बैठक बेहद अहम है और इसमें पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद को लेकर भी बात होनी है।

वर्तमान में राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव हैं। उनके तीन वर्षों का कार्यकाल आगामी 10 दिसंबर को खत्म होने वाला है। लेकिन लालू यादव की सेहत जिस तरह बिगड़ी हुई है और वे बहुत अधिक सक्रिय रहने में लाचार हैं। जिसके बाद ऐसा संभव है कि समय से पहले ही राजद अपना नया राष्ट्रीय अध्यक्ष चुन ले।

राजद के स्थापना दिवस यानी पांच जुलाई से शुरू होने वाला संगठन चुनाव व सदस्यता अभियान की प्रक्रिया मार्च से ही इस बार शुरू हो जाएगी।

ऐसा माना जा रहा है कि सितंबर से अक्टूबर के बीच ही राजद अपने नये राष्ट्रीय अध्यक्ष के सिर पर ताज रख देगा। 20 फरवरी को पटना में राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक भी है।

अब इस बात की चर्चा तेज हो गयी है कि राजद अध्यक्ष के पद पर लालू प्रसाद यादव की जगह कौन लेगा।

लालू यादव ने बिहार में राजद के नेतृत्व का जिम्मा अपने छोटे बेटे तेजस्वी को सौंपा। पिछले विधानसभा चुनाव में तेजस्वी यादव ने यह सिद्ध कर दिया कि उनके नाम पर मुहर लगाकर लालू यादव ने सही फैसला लिया।

तेजस्वी के नेतृत्व में राजद ने मजबूती से चुनाव लड़ा और सम्मानजनक टक्कर दी। तेजस्वी यादव को पूरी पार्टी में सर्वमान्य नेता के तरह देखा जाता है। उनके नेतृत्व में राजद अब दूसरे राज्यों में भी पांव पसारने की तैयारी में है।

लालू यादव के विकल्प में पहले राबड़ी देवी को देखा जाता था। लेकिन अब पूरी तरह से राजद के नेतृत्व और लालू प्रसाद के विकल्प के तौर पर तेजस्वी यादव को ही देखा जाता है।

लालू यादव वर्चुअल संवाद के दौरान खुलकर यह बात सबके बीच रख चुके हैं कि तेजस्वी यादव ने उनके आंकलन से अधिक खुद को साबित किया है। राजद सही हाथ में गया है।

ऐसा माना जा रहा है कि अब तेजस्वी यादव ही लालू यादव की जगह लेंगे और राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाए जाएंगे। हालांकि अभी अंतिम फैसले के बाद ही कुछ कहा जा सकता है।