अचंभा: प्रसूता ने 2 पुत्र और 2 पुत्री समेत एक साथ जन्में 4 शिशु, सभी स्वस्थ

“बड़े बुजुर्गों का चिर परिचित दूधो नहाओ पूतो फलो का आशीर्वाद का असर कभी-कभी कुदरत के करिश्मा के रूप में भी देखा जाता है। ऐसा ही एक वाक्या सोमवार को देखा गया…

सरायकेला (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज)। जब खरसावां प्रखंड के डोड़ो गांव निवासी प्रसूता सोदरा महतो ने चार शिशुओं को एक साथ जन्म दिया। चारों नवजात शिशुओं में दो बेटा और दो बेटी हैं।

मगध सम्राट हॉस्पिटल आदित्यपुर के प्रमुख चिकित्सक डॉ ज्योति कुमार ने  बताया कि 900 ग्राम जिले का डेढ़ किलोग्राम तक चारों शिशु एवं जननी माता भी स्वस्थ हैं। घटना भी कुछ अचंभित करने वाला बताया जा रहा है।

खरसावां प्रखंड के डोड़ो गांव के रहने वाले गरीब किसान परमेश्वर महतो की पत्नी सोदरा महतो को रविवार की रात्रि तकरीबन 10:00 बजे प्रसव पीड़ा प्रारंभ हुआ।

जिसके बाद सोमवार की सुबह शुद्ध भारती ग्राम क्षेत्र से परमेश्वर और उनके परिजन खरसावां के निजी अस्पताल में भर्ती कराने पहुंचे।

जहां कोविड-19 संकट के कारण अस्पताल बंद देखकर आनन-फानन में प्रसूता को लेकर सभी आदित्यपुर स्थित मगध सम्राट हॉस्पिटल पहुंचे।

इस दौरान अस्पताल गेट के बाहर ही महिला ने एक शिशु को जन्म दिया। जिसके बाद अस्पताल प्रबंधन ने त्वरित क्रियाशीलता दिखाते हुए महिला को अविलंब सड़क से उठा कर अस्पताल में भर्ती किया।

इसके बाद स्त्री रोग विशेषज्ञ चिकित्सक डॉ बीके बख्शी द्वारा सिजेरियन ऑपरेशन का 3 बच्चों का सफलतापूर्वक जन्म कराया गया। अंडर ऑब्जर्वेशन के बाद चिकित्सक द्वारा बताया गया कि जच्चा बच्चा सभी स्वस्थ हैं।

पिता परमेश्वर के अनुसार गांव में किसानी कर वे अपने परिवार का भरण पोषण करते हैं। सोदरा और परमेश्वर की पहले से ही एक दिव्यांग पुत्री है। जो चलने फिरने में बिल्कुल असहाय है। इस पर 4 शिशुओं के जन्म एवं उनके पालन पोषण को लेकर परमेश्वर ने इसे एक नई चुनौती बताया है।

बहरहाल मगध सम्राट हॉस्पिटल में सफलतापूर्वक हुए 4 शिशुओं के जन्म पर अस्पताल परिवार द्वारा खुशी जाहिर की गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.