खतरे में राजगीर का सौंदर्य, 100 एकड़ झाड़-जंगल भूमि पर सफेदपोशों-अफसरों का कब्जा

“कई सफेदपोश चेहरों के साथ सरकारी अफसर-कर्मी भी इस गोरखधंधे में हैं शामिल, सीआरपीएफ प्रशिक्षण केंद्र, राजगीर के आसपास की जमीन पर भू-माफियाओं की नजर”

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज डेस्क। बिहार के सीएम नीतिश कुमार के गृह जिले नालंदा अवस्थित अन्तर्राष्टीय पर्यटन स्थल राजगीर की मनोरम वादियों के एक बड़े हिस्से पर भू-माफियाओं ने अवैध ढंग से कब्जा कर लिया है। इन बड़े गोरखधंधे में कई विधायक, मंत्री, सांसद, अफसर और ऊंची रसुख वाले भी शामिल हैं।

खबर है कि राजगीर और आसपास के इलाके में जमीन की बढ़ी बेतहाशा कीमतों को लेकर भू माफिया एक बार फिर सक्रिय हो उठे हैं। वे सरेआम केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल प्रशिक्षण केन्द्र के इर्द-गिर्द करीब 100 एकड़ सरकारी भूमि पर अवैध रूप से जहां-तहां पिलर बाउंड्रीवाल देकर कब्जा करने में जुटे हैं।

जाहिर है कि इतना बड़ा गोरखधंधा बिना संबंधित विगागीय अफसरों के घालमेल से संभव नहीं है। नकली कागजात बनाकर और मोटी रकम लेकर भू-माफिया सरकारी जमीन की बिक्री भी कर रहे हैं।

खबर के अनुसार बकौल नालंदा डीसीएलआर प्रभात कुमार, प्रशिक्षण केन्द्र के पास 100 एकड़ भूमि अतिक्रमणकारियों के कब्जे में है। इसे मुक्त कराने के लिए ठोस कदम उठाया जा रहा है।

प्रशिक्षण केन्द्र के पास करीब 1 किलोमीटर एरिया में बाउंड्रीवाल कर लिया गया है। इसमें काफी भूमि वन विभाग की है। पहाड़ से सटे भूमि जंगल-झाड़ के रूप में भी है और यह वन विभाग के अधीन आता है। यह महादेवा, पिलखी और नेगपुर मौजा में आता है।

डीसीएलआर के अनुसार सभी भूमि की पूरी तरह से जांच-पड़ताल की जा रही है। जांच-पड़ताल के बाद ही कार्रवाई शुरू होगी, ताकि शिकायत का किसी को मौका न मिल सके।

जमीन की जमा बंदी की जांच कर रद्द करने सहित नियमानुसार सही कार्रवाई होगी। इस संबंध में अंचलाधिकारी को जल्द से जल्द जमाबंदी रद्द करने के लिए कहा गया है।

उधर, नालंदा डीएफओ डा. नेशामणि के अनुसार उन्होंने नालंदा डीएम से सरकारी आंकड़ों के अनुसार कितनी वन भूमि है और कितनी पर अतिम्रणकारियों के कब्जे में है, उसकी जानकारी उपलब्ध कराने का अनुरोध किया गया है।

डीएफओ के अनुसार डीएम ने राजगीर सीओ से यह रिपोर्ट देने को कहा है। जैसे ही रिपोर्ट विभाग को प्राप्त होगी सरकार को भेजा जायेगा और जो भूमि है, उसे वन भूमि घोषित किया जायेगा। अतिक्रमण हटाकर भूमि विभाग को सौंपने की तैयारी की जा रही है। वन भूमि पर किसी प्रकार का अतिक्रमण गैर कानूनी है।

वन विभाग के नियमों के अनुसार भूमि का अधिग्रहण और किसी प्रकार कोई निर्माण कार्य नहीं किया जा सकता है। राजगीर की जमीन पर भू माफियाओं की नजर है।

सवाल उठता है कि राजगीर मलमास मेला सैरात भूमि के बड़े अतिक्रमणकारियों के खिलाफ न्यायालय के आदेश की आड़ में सलामी ठोकने वाले पुलिस-प्रशासन महकमे से यहां क्या उम्मीद की जाये। यहां हर जांच-कार्रवाई के नाम पर गरीबों को रौंद कर महज खानापूर्ति की रस्म अदायगी कर ली जाती है। जबकि किस कथित न्यायालय का कौन सा आदेश-निर्देश-विनिर्देश के नाम पर सब खेला हो रहा है, इस संबंध में  उपर से नीचे के कोई भी अधिकारी अपने मुंह की लौंग नहीं निकाल पाते हैं।

बहरहाल, यह एक जांच का विषय है कि सफेदपोश नेताओं, अफसरों, भू-माफियाओं ने राजगीर के सौंदर्य जंगल-झाड़, आम, खास, केशरी हिन्द आदि की जमीनें भारी पैमाने पर कैसे कब्जा कर रहे हैं और सारा विभागीय महकमा पंगु क्यों बना है?

Related News:

DM के आदेश का अनुपालन करवाया तो हिलसा SDM पर यूं हुआ फर्जी मुकदमा
नालंदा में ह्दय विदारक घटना, करंट से चार किसानों की मौत
2 अक्टूबर 2017 तक नालंदा को खुले में शौच मुक्त बनाने के डीएम का दावा
तालाब में डूबने से एक साथ 7 बच्चों की मौत, 3 गंभीर
बीडीओ राजीव रंजन को ऑफिस में 1 लाख रुपए घूस लेते निगरानी ने दबोचा
शिक्षक संघ ने नए डीईओ की आवभगत की
संदेह के घेरे में नालंदा MCMC कोषांग सचिव सह DPRO की कार्यशैली
‘एक्सपर्ट मीडिया न्यूज’ का असर, निगरानी जांच को लेकर डीपीओ ने मांगी नियोजित शिक्षकों का फोल्डर
पीडीएस सिस्टम में गड़बड़ी पर जीरो टॉलरेंस के तहत हो कार्रवाई :डी एम
खुद को रोक नहीं पाए समाजसेवी, गरीबों को दिया कंबल
बिहारशरीफ नगर निगम की महापौर बनी वीणा देवी, फूल कुमारी उपमहापौर
नहीं रहे महान गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह
मूलभूत सुविधा उपलब्ध कराने में विफल है सरकारः अंतु तिर्की
गुंडागर्दी के बीच नालंदा इंजीनियरिंग कॉलेज में पढ़ाई 31 मार्च तक स्थगित
तेज प्रताप के तलाक के फैसले से सदमें में लालू, यूं हो रही सुलह की कोशिश
सीएम ने दी आदित्यपुर शहरी जलापूर्ति परियोजना की सौगात
एनएचआई ने बरती लापरवाही, जेई करवा रहे हैं फोरलेन के बीच खुदाई
प्रखंड मुख्यालय में ग्रामीणों का हंगामा, शौचालय की राशि नहीं दे रहा बीडीओ
सीएम जल योजना की बोरिंग के दौरान मकान ध्वस्त
जलमीनार कांडः डीम के आदेश के बीच सबालों के घेरे में नगरनौसा बीडीओ
उज्वला योजनाः कितना हकीकत, कितना फसाना
एक लाख नकद रिश्वत लेते पटना निगरानी के हत्थे चढ़े घोसवरी बीडीओ
प्राइवेट स्कूल हॉस्टल में 11 वर्षीय छात्र की रहस्यमय मौत को लेकर बवाल
सोने की लालच में लूटा गया सिजरा था लकड़ी का, सिजरा लूट कांड में 7 धराये
उदेरास्थान बराज से लोकायन में आई लहर, किसानों के खिले चेहरे
महिला विकास निगम की रिक्त पदों की प्रक्रिया जल्दी पूरा करें : एन विजयलक्ष्मी
जानलेवा है वीवो मोबाइल, जेब में ब्लास्ट होने से युवक हुआ यूं जख्मी
22वें राजद स्थापना दिवस पर बोले तेजस्वी- 'नीतीश चाचा को लगा है राजनीतिक बुखार'
बिहार के हुकुमदेव को पद्म भूषण और अन्य इन 5 को मिले पद्मश्री पुरस्कार
12 वर्षों से ग्रामीणों को चिढ़ा रहा है करोड़ों का जलमीनार, नहीं लिया कोई सुध, अब वोट बहिष्कार
5 गांवों के 60 घरों में पुलिस छापामारी, मिला 1 लीटर चुलाई शराब
रुपहले पर्दे पर दिखेगी नालंदा की बेटी साक्षी
चमत्कारः जदयू प्रत्याशी कौशलेन्द्र की 5 साल में 11 साल बढ़ी उम्र, बना बड़ा मुद्दा, वोटिंग है कल
नालंदा के गांव में जंगली सियार का हमला, 2 मवेशी समेत 10 लोग घायल
विम्स रैंगिग मामले में नालंदा एसपी ने दिए जांच के आदेश
बिहार के ये 6 कांग्रेस विधायक NDA के कोविंद को दे सकते हैं वोट !
हिलसा रेलवे स्टेशन पर देखिये पेयजल-शौचालय का हाल
मुख्य सचिव ने की उच्च एवं माध्यमिक शिक्षा विभाग की समीक्षा
लघु-खनिज के लाइसेंस  नीति के विरुद्ध व्यापारियों ने की बैठक
15 दिन बाद भी इस ‘प्रेमी युगल’ की जांच नहीं कर सका है प्रशासन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...
Loading...