नालंदाः भारी बवाल के घंटों बाद पहुंचे DSP-SDO-SP की मिन्नत के बाद हालात काबू, लेकिन तनावपूर्ण

पुलिस जल्द ही हत्यारे को पकड़ लेगी। प्रारंभिक जांच में पूर्व की रंजिश में घटना का कारण प्रतीत हो रहा है। सभी बिंदुओं पर पुलिस टीम जांच में जुट गई है …… निलेश कुमार, एसपी

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज। नालंदा जिले के  नगरनौसा थाना अंतर्गत तीना गांव के बोखरा पुल के समीप शुक्रवार की शाम बाइक सवार बदमाशों ने गोली मार, होटल संचालक के कार चालक की लाश गिरा दी। गोली चालक के सिर में लगी। जिससे मौके पर उनकी मौत हो गई।

मृतक तीना गांव निवासी शिवचरण प्रसाद के 30 वर्षीय पुत्र शैलेश कुमार उर्फ जट्‌टा हरनौत विधायक हरिणारायण सिंह के चचेरे भाई सुरेश प्रसाद की एम्बेसडर चलाता था।

हत्या के बाद परिजन मौके पर पहुंच गए और शव से लिपट कर चीत्कार मारने लगे। मृतक तीन भाइयों में छोटे थे। पत्नी किरण कुमारी की दहाड़ मौके पर गूंज रही थी। दो साल की पुत्री कनक कुमारी और 4 साल का पुत्र शौर्य पिता की लाश देख अवाक था। ग्रामीण पीड़ित परिवार को ढाढ़स बंधा रहे थे। मृतक 10 साल से होटल संचालक की कार चला रहे थे।

उधर, घटना के बाद परिजन व ग्रामीणों का आक्रोश फूट पड़ा। सैकड़ों ग्रामीण मौके पर जमा हो गए और नालंदा होटल में आग लगा दी। कई स्कूटी और बाइकों को भी गुस्सायी भीड़ ने फूंक दिया।

इसके बाद सड़क जाम कर हंगामा करने लगी। कई बाइक-कार चालकों की भी पिटाई कर दी गई। हत्या की खबर के बाद गश्ती पुलिस मौके पर आई थी। बलों की संख्या कम होने के कारण, आक्रोशितों के तेवर देख पुलिस बैरंग लौट गई। इसके बाद उपद्रव हुआ।

हत्या और उपद्रव की सूचना पाकर वारदात के घंटो बाद हिलसा डीएसपी इम्तियाज अहमद कई थानों की पुलिस के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। हिलसा एसडीओ मैत्रय भी पहुंचे। इसके बाद नालंदा एसपी निलेश कुमार पहुंचे। फिर किसी तरह पुलिस-प्रशासन के आला अफसरों ने मिन्नतें कर त्वरित कार्रवाई का आश्वासन दे आक्रोशितों को शांत कराया।

तब करीब चार घंटे बाद हंगामा रूका। वारदात के कारणों पर सस्पेंस बरकरार है। प्रारंभिक जांच में पुलिस घटना का कारण पूर्व की रंजिश बता रही है। मौके से ग्रामीणों को दो खोखा बरादम किया, जिसे पुलिस को सौंप दिया गया है।

प्रत्यक्षदर्शियों की माने तो चालक माधोपुर बाजार से सामग्री लेकर होटल पहुंच एम्बेसडर की डिक्की से वह सामानों को निकाल ही रहा था कि उसी दौरान एक पल्सर पर सवार तीन बदमाश आए और चालक पर फायरिंग करने लगा।

बदमाशों का निशाना चूक जाने के कारण पहली गोली कार के पिछले हिस्से के शीशे में जा लगी। इसके बाद चालक भाग कर कार के अगले दरवाजे के समीप पहुंचा।

उसी दौरान बदमाशों ने उनके सिर में गोली मार दी। जिससे मौके पर चालक ने दम तोड़ दिया। बदमाशों ने चालक के हत्या के इरादे से पांच फायरिंग की थी।

इस हत्या की खबर के बाद गश्ती पुलिस मौके पर आ गई। जिसके बाद आक्रोशित ग्रामीण हंगामा करने लगे। बलों की संख्या कम रहने के कारण  पुलिस भीड़ का तेवर देख बैरंग थाना लौट गई।

और फिर घंटो थाना में ही दुबकी रही। ब वरीय अफसर आए तो बाहर निकली। फिर करीब चार घंटे के बाद लोगों का हंगामा बंद हुआ।

वारदात के बाद आक्रोशितों ने लोग दनियावां-बिहारशरीफ मार्ग जाम कर खूब हंगामा किया। वाहनों में तोड़ फोड़ करते हुए कई बाइक-कार चालकों को पीटा जा रहा था।

इसके बाद भीड़ होटल पर पहुंची और उसमें आग लगा दी। देखते ही देखते होटल धू-धूकर जल कर राख हो गई। होटल के समीप के कई स्कूटी और बाइकों को भी जला दिया गया।

हंगामा के बाद रामघाट-तीना रोड बाजार में भगदड़ मच गई। दुकानदार शटर गिरा कर भाग खड़े हुए। देखते-ही-देखते इलाके में अघोषित कर्फ्यू का नजारा हो गया। पूरा बाजार सुनसान था। स्थानीय ग्रामीण भी घर से निकलने में भय महसूस कर रहे थे।

हंगामा के तीन घंटे बाद हिलसा डीएसपी, एसडीओ कई थानों की पुलिस के साथ मौके पर पहुंचे। पर्याप्त संख्या में सुरक्षा बलों को भी बुला लिया। इसके उपरांत एसपी भी मौके पर आ गए। एसपी ने आक्रोशितों को बदमाशों पर त्वरित कार्रवाई का आश्वासन दे शांत कराया।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.