सड़क पर उतरे राजद-माले कार्यकर्ता, नीतिश का फूंका पुतला

Share Button

“जिस प्रतिकूल परिस्थिति में बिहार की जनता ने नीतीश कुमार को सत्ता पर काबिज होने की शक्ति दी, स्वार्थहित में उसका दुरुपयोग किया गया। ऐसे स्वार्थी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को आने वाले दिनों में जनता जरुर सबक सिखाएगी।”

हिलसा (चन्द्रकांत)। महागठबंधन को लेकर पटना में गरमाई राजनीत को लेकर गुरुवार को हिलसा में भी खूब चहल-पहल रही। सड़क पर उतरे राजद और माले कार्यकर्ता न केवल मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को जमकर कोसा बल्कि पुतला भी फूंका।

बुधवार को पटना में तेजी से हुए राजनैतिक बदलाव को लेकर हिलसा में सुगबुगाहट तेज हो गई। लोग तरह-तरह की चर्चा और कयास लगा रहे थे। ज्यों-ज्यों समय बढते गया त्यों-त्यों स्थिति भी साफ होती गई।

जैसे ही भाजपा के सहयोग से एकबार फिर नीतीश कुमार के मुख्यमंत्री बनने का रास्ता साफ हुआ प्रत्यक्ष और परोक्ष रुप से साथ रहने वाले दल विरोधी तेवर में आ गए। सबसे पहले सड़क पर राजद कार्यकर्ता आए और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

कुछ देर बाद भाकपा माले कार्यकर्ता भी सड़क पर प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को जमकर कोसा। राजद और माले कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को अवसरवादी और धोखेबाज नेता की संज्ञा दी।

नेताओं ने कहा कि जिस प्रतिकूल परिस्थिति में बिहार की जनता ने नीतीश कुमार को सत्ता पर काबिज होने की शक्ति दी, स्वार्थहित में उसका दुरुपयोग किया गया। ऐसे स्वार्थी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को आने वाले दिनों में जनता जरुर सबक सिखाएगी।

प्रदर्शन सभा के समापन से पहले राजद और माले नेताओं ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का पुतला भी फूंका। इस मौके पर नगीना यादव, रामाशीष यादव, सुरेन्द्र यादव, बबन यादव, कुणाल कुमार, हरदयाल यादव, सरयुग प्रसाद, चुन्नू चंद्रवंशी, कम्मू राम, भीम प्रसाद, दिनेश यादव, मुनीलाल यादव, शिवशंकर प्रसाद, रघुनाथ शर्मा, सियाशरण पासवान, मंगल मांझी, राजू मांझी, सुनील मांझी, छोटु मांझी आदि मौजूद थे।

खुद को रोक नहीं पाए चहेते, पटना जाकर दी नीतीश का बधाई

महागठबंधन के नेता के तौर पर मुख्यमंत्री पद पर काबिज नीतीश कुमार बुधवार की संध्या जैसे ही पद से इस्तीफा दिया वैसे हिलसा के लोग हतप्रभ रह गए, लेकिन समय के साथ राजनैति हालात में हुए बदलाव से थोड़ा सुकून भरी सांस ली।

भाजपा के सहयोग से एकबार फिर मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने की खबर सुनते ही कुछ दिन पहले गुमशुम रहने वाले नेता और कार्यकर्ताओं में एक नया जोश भर गया। ऐसे समर्थक खुद को रोक नहीं पाए। जैसे हुआ, वैसे सीधे राजभवन की ओर रुख कर लिया।

मुख्यमंत्री पद की शपथ लेकर जैसे ही नीतीश कुमार निकले समर्थकों ने फूल-मालाओं से लाद दिया। खुशी के इस माहौल में सबों ने एक-दूसरे को लड्डू खिलाकर शुभकामनाएं दी।

इस मौके पर विधान पार्षद हीरा बिंद, रीना यादव, पूर्व विधान पार्षद राजू यादव, प्रेम मुखिया, प्रो एहसान खां, डॉ शैलेन्द्र कुमार, विनोद कुमार उर्फ छोटे जी, जितेन्द्र कुमार, धनंजय कुमार, श्याम किशोर भारती, अनिरुद्ध कुमार, अविनाश कुमार आदि मौजूद थे।

बिहार में तेज होगी विकास की गति, हिलसा को मिलेगा बाजिव हक

अब बिहार में विकास की गति तेज होगी और हिलसा को भी बाजिव हक मिलेगा। ऐसा दावा भाजपा के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य ब्रजनेश विद्यार्थी ने किया। मूलत: खड्डी-लोदीपुर गांव के रहने वाले श्री विद्यार्थी लोकायन नदी में पानी नहीं आने को लेकर काफी चिंतित थे। किसानों को आंदोलन के लिए गोलबंद करने में लगे थे।

इसी बीच मंगलवार को उदेरास्थान बराज से पानी छोड़े जाने पर लोकायन में पानी आ गया। भाजपा नेता श्री विद्यार्थी ने कहा कि लोकायन नदी में पानी आने से हिलसा के लोगों के लिए पेयजल का स्तर बना रहता है। वहीं आसानी किसान खेतों का पटवन भी कर लेते हैं। उदेरास्थान बराज में पानी की उपलब्धता के बाबजूद लोकाईन पानी देना हिलसा के लोगों की हकमारी है। इस हकमारी से अब हिलसा के लोगों को महरुम नहीं होना पड़ेगा।

भाजपा के सहयोग से मुख्यमंत्री की कुर्सी पर काबिज हुए नीतीश कुमार बिहार में न्याय के साथ विकास करेंगे। लोकायन के मुद्दे को लेकर मुख्यमंत्री को अवगत करवाते हुए निदान की दिशा में सार्थक पहल का अनुरोध किया जाएगा।

Related Post

23total visits,1visits today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...