सुविधाओं की घोर कमी, दो एएनएम के भरोसे मॉडल स्वास्थ्य केंद्र

Share Button

” केंद्र की मरम्मति के बाद क्षेत्र के लोगो में आस जगी थी कि चिकित्सा व प्रसव आदि बीमारी के लिए अब हम लोगो को बाहार नही जाना पड़ेगा। लेकिन दुर्भाग्य है कि आज तक इस मॉडल स्वास्थ्य केंद्र का उद्धघाट्न तक नही हो पाया।”

पाकुड़ (संवाददाता)। पाकुड जिले केहिरणपुर प्रखण्ड के डागापाडा के डागापड़ा में स्थित मॉडल स्वास्थ्य केंद्र में सुविधाओ का घोर अभाव है। चिकित्सक की भी कमी है। मात्र दो एएनएम के भरोसे स्वास्थ्य केंद्र संचालित होता है ।

स्वास्थ्य केंद्र का सही तरीके से देख रेख भी नही होता है । कोई रात्रि पहरी भी नही है। इस और स्वास्थ्य विभाग के पदाधिकारियों का ध्यान नही है। वर्ष 2008 को इस स्वास्थ्य केंद्र का निर्माण हुआ था। इस स्वास्थ्य केंद्र का निर्माण 1 करोड़ 28 लाख की लागत से कराई गई थी।  जो लगभग सात वर्षो तक यह स्वास्थ्य केंद्र जस की तस पड़ी रही। जिस कारण भवन जर्जरवस्था में पहुँच चूका था।

इसको लेकर वर्ष 2016 में मुख्य मंत्री जन संवाद में ग्रामीणों ने शिकायत की थी। शिकायत के बाद सरकार की नजर एक बार फिर स्वास्थ्य केंद्र पर पड़ी और दोवारा फिर से लाखो रूपये खर्च कर स्वास्थ्य केंद्र की मरम्मत कराई गई।

केंद्र की मरम्मति के बाद क्षेत्र के लोगो में आस जगी थी कि चिकित्सा व प्रसव आदि बीमारी के लिए अब हम लोगो को बाहार नही जाना पड़ेगा।

लेकिन दुर्भाग्य है कि आज तक इस मॉडल स्वास्थ्य केंद्र का उद्धघाट्न तक नही हो पाया। यही वजह से केंद्र में न तो चिकित्सक है।और नही मरीजो का स्वास्थ्य सुविधा का कोई लाभ मिल रहा है। अगर लाभ मिली है तो केंद्र को बनाने वाले ठेकेदरो को जो कम खर्च में काम पूरा कर अपना जेब भरते रहता है ।

इस पर सिविल सर्जन डॉ आरपी सिंह ने कहा की चिकित्सक की कमी है। फिर भी केंद्र में चिकित्सको की व्यसस्था की जायेगी।

Related Post

41total visits,1visits today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...