सुप्रीम कोर्ट का आदेश- बिहार भी खेलेगा रणजी, खिलाड़ियों में उत्साह

Share Button

पटना (जयप्रकाश)। नए साल बिहार के क्रिकेट खिलाड़ियों और खेल प्रेमियों के लिए ऐतिहासिक कहा जाएगा।पिछले 17 साल से बिहार क्रिकेट टीम अपने हक की लड़ाई लड़ रही थी।जिसमें आज जाकर उसे सफलता हाथ लगी है।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद फिर से बिहार में चौके छक्के की बारिश होगी।बिहार भी अब रणजी और अन्य घरेलू मैच खेल सकता है।सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में बीसीसीआई को निर्देश दिया है कि बिहार को रणजी समेत अन्य घरेलू मैच खेलने की इजाजत दें ।

कोर्ट ने ये भी कहा है कि पहले क्रिकेट हो उसके बाद विवादों को सुलझाया जाएँ ।यानि खेल को लेकर कोई विवाद नहीं होना चाहिए ।
सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में कहा है कि बिहार को रणजी खेलने के ये अंतरिम आदेश क्रिकेट की भलाई के लिए लिया गया है ।

पिछले सत्रह साल से बिहार में राजनीति झंझावतो की चक्की में पीस रही क्रिकेट खिलाड़ियों के लिए 4 जनवरी का दिन किसी त्योहार से कम नहीं होगा ।बिहार में क्रिकेट राजनीति की भेंट चढ़ चुकी थी।

झारखंड के बंटबारे के बाद से ही बिहार में क्रिकेट खिलाड़ियों के बीच अनिश्चितता की स्थिति थीं । कई प्रतिभावान खिलाड़ी दूसरे राज्यों से रणजी और अन्य घरेलू टूर्नामेंट खेलते रहे हैं ।

पिछले सत्रह साल से राजनीतिक खींचतान के बीच बिहार के इकलौते मोइनुलहक क्रिकेट  स्टेडियम में भी वीरानी छा गई थीं । लेकिन गुरूवार को सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा के फैसले के बाद खिलाड़ियों में खुशी की लहर देखी जा रही है।

कोर्ट ने भी स्वीकार किया कि बिहार 70 के दशक से क्रिकेट खेल रहा है।पहले उसे खेलने का मौका मिलें फिर जो भी विवाद है उसे सुलझाने का प्रयास किया जाए। कोर्ट ने ये भी कहा है कि अंतरिम आदेश दाखिल याचिकाओं पर नहीं बल्कि क्रिकेट की भलाई के लिए दिए गए हैं ।

उल्लेखनीय रहे कि पिछले सात साल से बिहार क्रिकेट टीम के अस्तित्व की लड़ाई लड़ रहे आदित्य वर्मा ने याचिका दाखिल कर रखी थीं । श्री वर्मा पिछले सात साल से बिहार क्रिकेट को अपना हक दिलाने की लड़ाई लड़ रहे थें उस लड़ाई में उन्हें सफलता हाथ लगी है।

गौरतलब रहे कि झारखंड बंटबारे के बाद से ही बिहार में क्रिकेट बंद है।बिहार के कई प्रतिभावान खिलाड़ी दूसरे राज्यों से रणजी खेलते रहे हैं ।उनमें पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी और नालंदा के वीर प्रताप शामिल है।

बीसीसीआई ने झारखंड में समुचित खेल सुविधाओं को देखते हुए रणजी तथा अन्य मैच खेलने की अनुमति दे रखी थी।लेकिन बिहार को इसकी अनुमति नहीं मिली।इसका मुख्य कारण खेल संघों की उदासीनता या खींचतान दो फाड भी कही जा सकती है। बीसीसीआई ने खेल संघों के विवाद को लेकर क्रिकेट संघ पर पाबंदी लगा रखी थी।

बिहार में खेलों में घुसी राजनीति के बाद से क्रिकेट के मामले में बिहार फिसडी बन चुका था ।कई खिलाड़ियों ने क्रिकेट से मुँह ही मोड़ लिया तो कई दूसरे व्यवसायी में आ गए।

बिहार में क्रिकेट संघ दो फाड हो चुका था ।एक क्रिकेट संघ का नेतृत्व लालूप्रसाद यादव करने लगे तो दूसरे का कीर्ति आजाद ।बिहार क्रिकेट एसोसिएशन और एसोसिएशन ऑफ बिहार क्रिकेट दो संघ आमने सामने हो गए।जिसके विवाद के फलस्वरूप मामला कोर्ट में चला गया ।जिस पर गुरूवार को एक फैसला आया है।

अब देखना है कि क्रिकेट की भलाई को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला क्रिकेट के हक में दिया है।लेकिन जब आपसी विवाद सुलझाने दोनों संघ एक टेबल पर होंगे तो उनका फैसला अपने स्वार्थ में आता है या फिर बिहार क्रिकेट की भलाई में?  इसके लिए फिलहाल एक लम्बा इंतजार करना पड़ेगा ।

लेकिन सवाल यह भी आखिर दोनों संघ की आपसी लड़ाई का परिणाम क्या हुआ ? प्रतिभावान खिलाड़ियों का बेशकीमती सत्रह साल इन राजनीति की भेंट चढ़ गई । अब देखना है कि नए साल में बिहार में क्रिकेट भविष्य कितना उज्ज्वल होता है।

Share Button
यह भी पढ़ें...
"जदयू व भाजपा 17-17 तो लोजपा  6 सीटों पर चुनाव लड़ रही है। दूसरी ओर महागठबंधन में राजद के अलावा कांग्रेस, रालोसपा, हम , वीआईपी व माले शामिल हैं। राजद 19, कांग्रेस 9, रालोसपा 5, वीआईपी व हम  3-3 तो माले ने एक सीट पर चुनाव लड़ा है..." पटना (एक्सपर्ट मीडिया : खबर विस्तार से.....
एक्सपर्ट मीडिया न्यूज।  बेगूसराय जिले के चेरियाबरियारपुर थाना पुलिस द्वारा अवैध वसूली का विडियो वायरल होने के बाद  मुंगेर डीआईजी मनु महराज के आदेश से पदस्थापित एक सब इंस्पेक्टर सहित छह पुलिस कर्मियों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कर पांच पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है, जबकि एक कर्मी : खबर विस्तार से.....
एक्सपर्ट मीडिया न्यूज। अमुमन हमारे जनप्रतिनिधि चुनाव जीतने के बाद अपनी संपति में ईजाफा करते हैं। दोगुनी, चौगुनी या आठ गुणी होती है। लेकिन नालंदा के जनप्रतिनिधियों की उम्र ही दुगनी बढ़ जाती है और निर्वाची पदाधिकारी उस प्रत्याशी को वैध मान लेते हैं। हो सकता है कि उनके संज्ञान में : खबर विस्तार से.....
पटना (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज)। बिहार में इस बार के लोकसभा चुनाव में सातवें और अंतिम चरण में पाटलिपुत्र सीट पर राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव की पुत्री मीसा भारती और भारतीय जनता पार्टी उम्मीदवार और केन्द्रीय मंत्री रामकृपाल यादव के बीच कांटे की टक्कर है। पाटलिपुत्र लोकसभा सीट : खबर विस्तार से.....
एक्सपर्ट मीडिया न्यूज (दीपक कुमार)। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पटना साहिब के कांग्रेस प्रत्याशी शत्रुघ्न सिन्हा के चुनाव प्रचार में रोड शो करने पहुंचे। इस रोड शो में राहुल गांधी के साथ साथ तेजस्वी यादव, शत्रुघ्न सिन्हा,  तारीक अनवर कादरी सहित अनेक बड़े नेता व भारी संख्या में कांग्रेस के कार्यकर्ता : खबर विस्तार से.....
"नालंदा के भूमिहार बहुल सिथौरा गांव के आग बबूला हुए ग्रामीणों ने अमर्यादित भाषा मे केंद्रीय मंत्री और भाजपाइयों को बैरंग लौटा दिया....." एक्सपर्ट मीडिया न्यूज। लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण में बिहार के सीएम नीतीश कुमार उर्फ कथित मीडियाई सुशासन बाबू के गृह जिला नालन्दा में राजग (जदयू) प्रत्याशी की : खबर विस्तार से.....
 "भ्रष्टाचार पर लाख अंकुश लगाने की बात सरकार करें लेकिन बिना रिश्वत कोई काम नहीं होता । इससे समाज का हर एक व्यक्ति पीडि़त हैं । निगरानी टीम भी कार्रवाई में जुटी है, लेकिन कोई डर नहीं हैं....." एक्सपर्ट मीडिया न्यूज (दीपक कुमार)। मंगलवार को पटना सीटी एसपी (पूर्वी )राजेंद्र भील : खबर विस्तार से.....
"ज्यों ज्यों चुनाव प्रचार का क्रम बढ़ रहा है। राजनीतिक दलों के समर्थक जातीय गोलबंदी में एकजुट होने लगे है..." नालंदा (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज)। सुशासन बाबू के गृह जिला नालन्दा में विकास नहीं, अब जातिवाद बोलता है कि चुनाव में क्या होना है। सोशल इंजीनियरिंग के मास्टर नीतीश कुमार अपने ही : खबर विस्तार से.....
"जो 12 बच्ची गायब हुई थी, उसका हड्डी और कंकाल मिला। पलटु चाचा नें बालिका गृह के आरोपी ब्रजेश ठाकुर को बचाने का काम किया......" एक्सपर्ट मीडिया न्यूज। बिहार के मुजफ्फरपुर में पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने महागठबंधन की ओर से आयोजित सभा मे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का नाम लिये बैगर : खबर विस्तार से.....

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...