सियासी दांव-पेंच में फंसी मुख्य पार्षद की कुर्सी, फैसला कल

Share Button

कुर्सी बचाने में मुख्य पार्षद कामयाब होगी या नहीं। यह फैसला 29 जुलाई को होगा। हालांकि अविश्वास प्रस्ताव लाने वाले कुछ वार्ड पार्षद नगर से बाहर चले गये है और विरोधी गुट के लोग 7 की जगह 9 वार्ड पार्षद की जुगाड़ में जुटे हैं……..”

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क। नालंदा जिले के इस्लामपुर नगर पंचायत के मुख्य पार्षद संगीता साहु की कुर्सी राजनितिक दांव-पेंच मे फंस गई है। जिसका फैसला 29 जुलाई को होगा।

बताया जाता है कि इस नगर पंचायत में 19 वार्ड है। जिसमें वार्ड संख्या 8 एंव 14 का पद रिक्त पडा है। शेष 17 वार्ड पार्षदो में सात वार्ड पार्षदों के द्वारा मुख्य पार्षद पर अविश्वास प्रस्ताव लाया गया है।

जब से यह अविश्वास प्रस्ताव लाया गया है। तब से राजनितिक सरगर्मी तेज हो गया है और कुछ वार्ड पार्षद दांव- पेंच लगाकर कुर्सी हिलाने के प्रयास में लगे हैं।

सूत्रों का कहना है कि राजनितिक खिलाड़ी इस कुर्सी पर से मुख्य पार्षद को बेदखल करने के लिए एक से एक हथकंडे अपना कर दो और विरोधी वार्ड पार्षद को साथ करने में लगे है। ताकि उनकी राजनितिक सियासत जिंदा रह सके।

अविश्वास प्रस्ताव लाने वाले वार्ड संख्या 5 के वार्ड पार्षद कंचन कुमारी, वार्ड संख्या 6 के वार्ड पार्षद नमीता कुमारी, वार्ड संख्या 7 के प्रतीमा सिंहा, वार्ड संख्या 11 के वार्ड पार्षद गुलेश देवी, वार्ड संख्या 15 के वार्ड पार्षद नाजिया खातुन, वार्ड संख्या 16 के वार्ड पार्षद सरफरा खातुन, वार्ड संख्या 19 के वार्ड पार्षद मैमुन निशा शामिल है।

इन वार्ड पार्षदों का आरोप है कि मुख्य पार्षद के कार्यकाल में नगर पंचायत क्षेत्र का समुचित विकास कार्य नहीं हो पा रहा है और वार्ड पार्षदों के प्रति इनका रवैया मनमानापूर्ण रहता है। वे वार्ड पार्षदों की बात नहीं सुनते हैं।

कुर्सी बचाने में मुख्य पार्षद कामयाव होगी या नहीं। यह फैसला 29 जुलाई को होगा। हालांकि अविश्वास प्रस्ताव लाने वाले कुछ वार्ड पार्षद नगर से बाहर चले गये है और विरोधी गुट के लोग सात की जगह नौ वार्ड पार्षद को जुगाड़ करने में जुटे हैं। ताकि मुख्य पार्षद को कुर्सी से बेदखल किया जा सके।

इधर तोड़-जोड़ की चल रही राजनितिक से उप मुख्य पार्षद एजाज अहमद भी सकते में पडे हैं। उप मुख्य पार्षद का कहना है कि अविश्वास प्रस्ताव आते ही राजनितिक सरगर्मी तेज हो गई है। जिसके कारण सभी वार्ड पार्षदों के बीच असंमजस की स्थिति बना है।

ऐसे में कहना मुश्किल होगा कि ऊंट किस करवट लेगी। फिलहाल यह मामला नगर में चर्चा का विषय वना है। इधर मुख्य पार्षद का कहना है कि न्याय के साथ विकास का जीत होगा।

Share Button

Related News:

चमत्कार या भ्रष्टाचार? महज 24 घंटों में फूट पड़ी राजगीर कुंड की सुखी धाराएं !
'कमीशन नहीं देने पर गाली-गलौज करता है मुखिया'
1.91 लाख रुपये घूस लेते कनीय अभियंता धराया
नाबालिक छात्रा की थाने में शादी को लेकर सीएम गंभीर, बोले- दोषी बख्शे नहीं जाएंगे, जमशेदपुर डीसी को द...
सदमा चौक पर लगेगी भगवान बिरसा की 5.60 लाख की प्रतिमा
मेरी भी शादी करा दें 'मोदी अंकल' :तेजप्रताप
जमशेदपुर के टीवी रिपोर्टर पर नालंदा के गांव में जानलेवा हमला
मुर्गी विवाद के केस में 40 हजार घूस ले रहा था ASI, चढ़ा निगरानी के हत्थे
....और पटना में एक मंच पर दिखेगा लालू, नीतिश और मोदी का रोमांच
दस हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथ धराये मानपुर अंचल के सीओ
सीएम के दावे के उलट यूं जर्जर भवन में जमीन पर बैठकर पढ़ाई करने को विवश हैं बच्चें
सर्व शिक्षा अभियान का सच- भैंस के तबेले में स्कूल, पीने को नाले का पानी
कौन जाहिल चला रहा है District Administration, Nalanda फेसबुक पेज
लालू से मुलाकात तक रांची कोर्ट में घंटो खड़े रहे भाजपा सांसद, लग रहे कयास
शराब के नशे में धौंस जमाने वाला सत्ताधारी दल का खासमखास कारोबारी युवक गया जेल, थानाध्यक्ष का ऐसे माम...
नाबालिग के साथ अवैध संबंध को लेकर हुई बिहारशरीफ के उप मेयर के घर गोलीबारी
प्रमुख-उप प्रमुख चुनाव में किंग मेकर बनना चाहते हैं शिक्षक माफिया
एसपी-अपराधी में मुठभेड़, दोनों ओर से फायरिंग, हथियार समेत 3 बदमाश धराये
सेवा समाप्त की तैयारी के बीच 20 नवंबर से सपरिवार जेल भरेंगे सूबे के सभी पारा शिक्षक
अदद पोस्टर फाड़ने को लेकर एनएच-33 को किया घंटा भर जाम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

loading...
Loading...