साक्ष्य के अभाव में CBI कोर्ट से कुख्यात नक्सली कुदंन पाहन रिहा!

Share Button

“वर्ष 2009 में नामकुम थाना के लाली क्षेत्र में पुलिस और माओवादिओं के बीच हुई मुठभेड़ में कई पुलिसकर्मी और माओवादी घायल हुए थे….”

रांची (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज)। समूचे झारखंड में आतंक का पर्याय माने जाने वाले कुख्यात नक्सली कुंदन पाहन को सीबीआई कोर्ट से राहत मिली है।

साल 2009 में नामकुम थाना क्षेत्र के लाली गांव में पुलिस और माओवादियों के बीच हुए मुठभेड़ केस में साक्ष्य के अभाव में कोर्ट नक्सली कुंदन पाहन को बरी कर दिया है।

इस मामले की सुनवाई सीबीआई के विशेष न्यायाधीश एसके सिंह की अदालत में हुई। अदालत ने दोनों पक्षों की दलीलों को सुनने के बाद नक्सली कुंदन पाहन को सबूतों के अभाव में बरी कर दिया।

 इस मामले में अभियोजन पक्ष की ओर से 9 गवाहों की गवाही दर्ज कराई गई। वहीं बचाव पक्ष की ओर से 4 गवाहों की गवाही हुई थी।

2 मई को पुलिस और माओवादिओं के बीच मुठभेड़ मामले में कोर्ट में सुनवाई हुई थी। अदालत ने दोनों पक्षों की दलीलों को सुनने के बाद फैसला सुरक्षित रख लिया था। इस मामले की सुनवाई के लिए अगली तारीख 4 मई निर्धारित की गई थी।

आज शनिवार को कोर्ट में बहस के दौरान अभियोजन पक्ष ने अपनी दलील रखते हुए बताया कि मुठभेड़ रात में हुई थी। जिसके कारण वह किसी भी माओवादी को पहचान नहीं पाये।

वहीं बचाव पक्ष के अधिवक्ता प्रभु दयाल किशोर ने कोर्ट को बताया कि यह मुठभेड़ पूरी तरह से फर्जी है। उस रात किसी भी तरह की कोई मुठभेड़ नहीं हुई थी।

पिछली सुनवाई के दौरान नक्सली कुंदन पाहन की गवाही दर्ज कराई गई थी। जिस दौरान कुंदन पाहन ने न्यायालय को बताया था कि इस मुठभेड़ में वह शामिल नहीं था। इस मामले में उसकी कोई संलिप्तता नहीं है।

इसी मामले पर 2 मई को कोर्ट में सुनवाई हुई थी। जिसमें अदालत ने फैसला सुरक्षित रख लिया है था।

2009 में नामकुम थाना क्षेत्र के लाली क्षेत्र में पुलिस और माओवादिओं के बीच मुठभेड़ का मामला सामने आया था। इस मुठभेड़ में कई पुलिसकर्मी और माओवादी घायल हुए थे।

मुठभेड़ के दौरान किसी भी माओवादी की पुलिस की ओर से गिरफ्तारी नहीं की गई थी। इस मुठभेड़ को लेकर पुलिस ने कुंदन पाहन समेत सात लोगों को नामजद अभियुक्त बनाया है। जिनमें से कुंदन पाहन को छोड़ सभी अभियुक्त साक्ष्य के अभाव में पहले ही बरी हो चुके हैं।

Share Button

Related News:

नहीं मिला पैक्सों को पूरा पैसा, डीएम पर मनमानी का आरोप
कहां से उड़ी विधायक अनंत सिंह की हत्या की सुपारी की खबर, पटना SSP हैरान
स्कूली बच्चों ने गाजे-बाजे के साथ जुलूस निकाल यूं झाड़ू लगा हटाया गंदगी
मुंगेर में कुएं से बरामद 12 एके-47 जबलपुर ऑर्डिनेंस डिपो की!
‘मुजफ्फरपुर महापाप' को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने बिहार सरकार को लगाई यूं फटकार
गुंडागर्दी के बीच नालंदा इंजीनियरिंग कॉलेज में पढ़ाई 31 मार्च तक स्थगित
जिला परिषद-प्रशासन के लिये चुनौती बना थाना का अदद पुलिस कांस्टेबल
स्थानीय पत्रकारिता और आंचलिक पत्रकारिता
YBN नयूज़ चैनल दफ्तर में हंगामा, तालाबंदी, समान समेट यूं भागने लगे चैनलकर्मी
बिहार के इन दो माओवादी नेताओं के परिवार के पास करोड़ों की संपत्ति !
कारपोरेट घरानों का मुखौटा बन गये हैं पीएम मोदी : ममता बनर्जी
संदेह के घेरे में नालंदा MCMC कोषांग सचिव सह DPRO की कार्यशैली
सिर्फ भुजाली लिए थे नक्सली, 5 पुलिस जवानों को उनकी ही बंदूकें छीनकर मारी गोली
नालंदा महाविहार सोसाइटी के प्रेसिडेंट बने देश के महामहिम
नर्स की रात अंधेरे हुई हत्या को रही अनेक चर्चाएं, पुत्र ने कराई 5 लाख की लूट की एफआईआर
महादलित नाबालिग संग बलात्कार, राजगीर थाना ने कराया छेड़खानी का केस, नालंदा एसपी गंभीर
राजगीर में 2 गुटों के बीच गोलीबारी, 4 घायल, PMCH रेफर
हजारीबाग से JJA का पत्रकार प्रशिक्षण अभियान शुरु
किसान के घर लाखों की चोरी, अज्ञातों पर केस दर्ज
उफन कर यूं सड़कों पर आई लोकायन नदी, डीजे की धुन पर थिरके शिव भक्त

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...
Loading...