वायरल इस 2 वीडियो से यूं समझिए सीएम 7 सुनिश्चित लूट योजना का गणित

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क। इन दिनों समूचे प्रदेश में नालंदा जिले की एक वीडियो वायरल हो रही है। यह वीडीयो सिलाव प्रखंड फतेहपुर पंचायत की बताई जा रही है….

वीडियो में जो किचकिच है, वह सीएम 7 निश्चय योजना के तहत हुए कार्य में खुला कमीशनखोरी को लेकर है, जोकि मुखिया, वार्ड सदस्य और दलाल ठेकेदार के बीच हो रही है।

वायरल वीडियो को देखें तो फतेहपुर पंचायत की मुखिया आशा देवी का पति दिनेश रजक नली-गली योजना में काम करवाने के बाद दलाल ठेकेदार से योजना मद की दस फीसदी कमीशन मांग रहा है। ठेकेदार पांच फीसदी देने पर अड़ा है।

बता दें कि यहां प्रायः महिला मुखिया आम गृहणी ही होती है और सारा सरकारी कारोबार उसका पति करता है।जोकि वायरल वीडियो में भी साफ स्पष्ट हो रहा है।

इस किचकिच के दौरान वार्ड-11 का निर्वाचित सदस्य प्यारे पासवान भी बैठा है, जो साफ तौर पर बोल रहा है कि हजार की रिश्वत बीडीओ को भी दिए हैं। जबकि मुखिया पांच फीसदी ग्राम सेवक और पांच फीसदी जेई और दस फीसदी खुद हर हाल में लेने की बात कर रहा है।

वायरल वीडियो देखने से साफ प्रतीत होता है कि दलाल ठेकेदार योजना कार्य में दस फीसदी की जगह पांच फीसदी कमीशन मुखिया को बारम्वार देना चाहता है और अजीज होकर वह खुद वीडियो बनाकर वायरल कर देता है।

वेशक यह वीडियो तीसरी पंचायत सरकार की विकास योजनाओं में खुली लूट और बंदरबांट का आयना है, जिसमें समूचे नालंदा जिले की तस्वीर छुपी है। गांव-गांव कमोवेश समान स्थिति है।

दलाल ठेकेदार ने जिस तरह से वार्ड सदस्य के सामने मुखिया के साथ हुई बातचीत का दो वीडियो वायरल किया है, वह सीएम नीतीश कुमार के सुशासन-भ्रष्टमुक्त प्रशासन के दावे को उनके ही जिले में सरेआम नंगा करती है।

इसी क्षेत्र से जदयू के वरिष्ठ विधायक एवं बिहार सरकार के ग्रामीण विकास मंत्री सरवन कुमार आते हैं। विकास योजनाओं में हो रही लूट में उनकी अंधापन भी सामने आती है। 

कुल मिलाकर वायरल दोनों वीडियो नालंदा शासन-सरकार के नस-नस में व्याप्त भ्रष्टाचार के गणित को भी बड़ी आसानी से समझा जाती है। हांलाकि ऐसी बात नहीं है कि लोग इससे अनभिज्ञ हैं। सारे लोग जानते हैं।

भारत और बिहार सरकार सेवा का तमगा लगा आम जनता की गाढ़ी कमाई पर ऐशमौज करने वाले व्यूरोक्रेट भी जानते हैं। कहिए तो वे भी इस लूट के खेल में शामिल हैं।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.