पत्रकार पुत्र हत्या कांड की गुत्थी में उलझी पुलिस

Share Button

“घटना स्थल से करीब सौ कदम की दूरी पर देशी शराब के पॉलीथिन व पांच-छह प्लास्टिक के ग्लास एवं स्नैक्स के खाली बैग भी मिले हैं….”

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज। दैनिक हिन्दुस्तान के बिहारशरीफ संस्करण कार्यालय प्रभारी वरीय पत्रकार आशुतोष कुमार आर्य के पुत्र की हत्या की जानकारी के बाद पटना प्रक्षेत्र पटना के डीआइजी राजेश कुमार नालंदा पहुंचे।

डीआईजी ने घटनास्थल का निरीक्षण किया। जहां रविवार की देर संध्या पत्रकार पुत्र की निर्मम हत्या कर शव को पास के गड्ढे में फेंक दिया गया था।

डीआईजी के साथ आई डॉग स्क्वायड की टीम ने घटनास्थल से कई महत्वपूर्ण साक्ष्य बटोरे। साक्ष्य के तौर पर अभी तक पुलिस को वह पेचकस हाथ लग गया है। जिससे पत्रकार पुत्र अश्वनी कुमार उर्फ चुन्नू की आंख फोड़ कर हत्या की गई थी।

घटना स्थल से लगभग सौ डेढ़ सौ कदम की दूरी पर देशी शराब का पॉलीथिन व पांच-छह प्लास्टिक के ग्लास एवं स्नैक्स का खाली पॉलीथिन भी मिले हैं।

जांच के क्रम में घटना स्थल से करीव सौ मीटर दूर किसी महिला के खून लगे कपड़े भी मिले है। जिसे जांच टीम अपने साथ जांच के लिये साथ ले गई है।

वहीं एक घर के नल्ड से ब्लड व पेंचकस भी वरामद हुई है। संभवत इसी पेंचकस से दरिंदों ने पत्रकार के मासूम पुत्र की आंख फोड़कर हत्या की गई है।

कल्याण बिगहा ओपी प्रभारी ने मीडिया में पुष्टि की है कि पुलिस को एक पेचकस हाथ लगा है। फिलहाल विधि विज्ञान प्रयोगशाला पटना जांच के लिए भेजा जा रहा है। यह पेचकस मृतक के एक मित्र के घर में छुपा कर रखा गया था।

पुलिस अभी तक 8 लोगों को हिरासत में लेकर घटना से संबंधित पूछताछ कर चुकी है। यह साफ है कि अश्वनी कुमार उर्फ चुन्नु की हत्या अपराधियों ने निर्मम पूर्वक की।

लेकिन अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि चुन्नू किन-किन लोगों के आंखों की किरकिरी बना हुआ था। वे कौन लोग हैं, जो एक मासूम को इतनी दरिंदगी से मार डाला है। कहीं पिता की बेबाक पत्रकारिता का शिकार तो वह नहीं हो गया?

पुलिस मानती है कि बहुत जल्द ही पूरे मामले पर्दाफाश कर दिया जायेगा। हालांकि हत्या के पीछे अपराधियों की क्या मंशा थी या अभी तक स्पष्ट नहीं हो पाया है। बहुत जल्द ही वारदात में संलिप्त सभी अपराधी पुलिस की गिरफ्त में होंगे। पुलिस अपराधियों के काफी करीब पहुंच चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...