गोईठवा नदी की यूं गहरी अवैध खुदाई से हो रही रेलवे की भराई, प्रशासन मूकदर्शक

Share Button

बिहारशरीफ (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज)। एक ओर जहां बिहार सरकार के द्वारा खनन माफियाओं के खिलाफ प्रशासन को जीरो टॉलरेंस पर काम करने के लिए हिदायत की जाती है। वही नालंदा जिला में खनन माफिया इतने चांदी काट रहे हैं, जिसकी  कल्पना तक नहीं की जा सकती। आखिर खनन माफियाओं को प्रशासन का कोई डर नहीं है या फिर प्रशासन की मिलीभगत है?

यह ताजा मामला सुशासन बाबू के गृह जिले नालंदा के बिहार शरीफ प्रखंड के मानपुर एवं बिहार थाना सीमा पर अवस्थित तिउरी गांव की है। वहां खनन माफियाओं के द्वारा गांव के पश्चिम नदी में 20 से 25 फीट गड्ढा खोदकर मिट्टी को रेलवे लाइन की भराई में बेचा जा रहा है। जिसकी सुधबुध लेने वाला कोई नहीं है और धड़ल्ले से इन खनन माफियाओं के द्वारा बिना किसी विभागीय आदेश के नदी को बेतरतीब ढंग से गहरी खुदाई के धंधे में जुटे हैं।

ग्रामीणों का कहना है कि प्रशासन को इससे कोई लेना-देना ही नहीं है। अवैध खनन में जुटे लोग दबंग व प्रभावशाली छवि के हैं।  इसलिये सब आवाज उठाने से डर रहे हैं।

ग्रामीणों के अनुसार अगली बरसात के मौसम में जब नदी में पानी आएगी तो सारा पानी गांव की ओर आ जाएगा, जिससे काफी जान माल की क्षति होनी तय है। जबकि नदी, पइन, प्रखंड क्षेत्र में सारे सरकारी जमीन जो कि आम गैरमजरूआ मालिक गैरमजरूआ चाहे वह किसी भी तरह का खलिहान जो कि राज्य सरकार के नाम से आवंटित है। उसकी सारी जिम्मेवारी उस क्षेत्र के अंचलाधिकारी के जिम्मे होती है। उनकी बिना जानकारी या परमिशन लिए बगैर कोई भी इस तरह की जमीन में अवैध खुदाई अवैध निर्माण अवैध कब्जा करना कानूनन जुर्म है। लेकिन, बाद नदी की हो तो खनन विभाग की जबाबदेही कहीं अधिक बढ़ जाती है।

बहरहाल, गोईठवा नदी में बड़े पैमाने पर अवैध खुदाई का काम करवा रहे नागेन्द्र कुमार नामक व्यक्ति ने एक्सपर्ट मीडिया न्यूज को बताया कि वह बिहारशरीफ अंचलाधिकारी से पूछ कर नदी खुदाई का कार्य करवा रहा है। पहले भी यहां खुदाई का कार्य किया है।

इस बाबत बिहारशरीफ के अंचलाधिकारी सुनील कुमार वर्मा ने बताया कि नदी की अवैध खुदाई का मौखिक या लिखित आदेश देने का सबाल ही नहीं है। अगर होती भी है तो उच्चस्तरीय प्रक्रिया के तहत विर्निदेश है। खुदाई कार्य करने वाला जो भी ऐसा कह रहा है, वह बिल्कुल झूठ बोल रहा है।

बिहारशरीफ अंचलाधिकारी से हुई बात के बाद अवैध खुदाई कार्य कर रहे नागेन्द्र कुमार ने एक्सपर्ट मीडिया न्यूज की मोबाईल पर पहले कही हुई बात से पलट गया और बताया कि गोईठवा नदी में अवैध खुदाई का काम पटना का भगवती कंस्ट्रक्शन नामक कंपनी करवा रही है। वह इस कंपनी का मुंशी है और सिर्फ खुदाई कार्य का देखभाल करता है।

नागेन्द्र ने एक्सपर्ट मीडिया न्यूज से आगे कहा कि वह अवैध खुदाई कराने वाले ‘मालिक’ से बात करेगा और ईच्छित ‘सेवा’ करने में कोई कसर नहीं छोड़ेगा।

जब उससे पुछा गया कि ‘सेवा’ क्या होता है तो उसने कहा कि जैसे अन्य लोगों (मीडियाकर्मियों) की करते रहता है।

देखिये वीडियो कि कैसे बेलगाम हो अवैध खुदाई में जुटे हैं माफिया… 

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...