गृद्धकूट पर्वत पर ठगी का कारोबार जारी, की डीजीपी से शिकायत

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क। बिहार के नालंदा जिले के अंटर्राष्ट्रीय पर्यटन स्थल राजगीर अवस्थित गृद्धकूट पर्वत पर ठगी का कारोबार जारी रहने का खुलासा हुआ है…

इस संबंध में बोधगया मोनेस्ट्री अरविंद कुमार ने बिहार के डीजीपी से कंप्लेन की है। साथ हीं प्रमाण के तौर पर उन्होंने सोशल साइट पर ठगी से जुड़े कुछ फोटोग्राफ भी वायरल की है।

अरविंद ने अपने कप्लेन में लिखा है कि विगत 15 फरवरी, 2020 को राजगीर के सभी साइट होते हुए विदेशी पर्यटक दिन के 2 बजे गृद्धकूट पर्वत पर पूजा पाठ करने गए थे। जब वहां पहुंचे तो मौजूद युवक ने वियतनाम के पांच पर्यटकों से कहा कि गृद्धकूट पर्वत काफी टूट-फूट गया है, उसकी मरम्मति के लिए दान करवाईए, जिसमें से कुछ रुपए हिस्सा देंगे।

उसके बाद जब पर्यटक गृद्धकूट पर्वत पर बैठकर तपस्या करने लगे, तभी वह युवक लाल रंग का कपड़ा लेकर आया और ग्रुप के सामने रखे पैसे उठा लिया। तभी एक पर्टक ने कहा कि यह युवक ठीक नहीं है। सामने से पैसे उठा लिया। मना करने पर बदतमीजी करता है। इसकी शिकायत कीजिए। लेकिन जगंल में नेटवर्क नहीं होने के कारण शिकायत नहीं कर पाए।

अरविंद ने लिखा है कि तत्पश्चात वह अज्ञात युवक वहां रखे 11 सौ रुपए उठाकर पत्थर के रास्ते भाग गया। जाते जाते यह धमकी दिया कि किसी को कुछ नहीं बताना। अन्यथा अंजाम बुरा होगा। इस दौरान उसके कुछ फोटाग्राफ भी लिए।

बहरहाल अब अब यह देखना काफी दिलचस्प होगा कि स्थानीय पुलिस-प्रशासन की जानकारी-मिलीभगत से जारी इस ठगी के कारोबार को लेकर डीजीपी स्तर से कोई कार्रवाई हो पाती है या नहीं?

Related News:

नीरज कुमार ने मलमास मेला की राजकीय दर्जा को लेकर सीएम व पीएस से लगाई गुहार
पूर्व सीओ का मीडिया प्रेम और दोबारा विदाई बना चर्चा का विषय
ट्रैक्टर से कुचलकर मौत, अस्पताल की कुव्यवस्था को लेकर सड़क जाम
कामगारों की कमी सिकिदीरी परियोजना की सबसे बड़ी समस्याः प्रबंधक अमर नायक
इस सड़क हादसे ने खोली पुलिस लाइन डीएसपी की मनमानी की फिर पोल
आज नड्डा-शाह के सामने भाजपा में शामिल होंगे मरांडी
नालंदा के भागन बिगहा थाना क्षेत्र में 2 साल की बच्ची के साथ रेप!
माइक्रो फायनांस कंपनी को मैनेजर ने ही लगाया 21 लाख का चूना, गया जेल
शेल्टर होम और धारा-370 मामले पर चुपी साध गए मोदी
लौहनगरी में पुलिस डाल-डाल तो चोर पात-पात

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...
Loading...