गिरिराज की ऐसी अलोकतांत्रिक ट्वीट पर RJD, CONG के साथ NDA नेता भी बिफरे

Share Button

इस बयान के बाद गिरिराज सिंह चौतरफा घिर गये हैं। कांग्रेस और राजद के साथ ही गिरिराज के बयान पर राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन में भी विरोध देखने को मिल रहा है………..”

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज डेस्क। बिहार के उपचुनाव में किशनगंज विधानसभा सीट से असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन की जीत को केंद्रीय मंत्री और भारतीय जनता पार्टी के नेता गिरिराज सिंह ने सामाजिक समरसता के लिए खतरा बताया है।

अपने बयानों से चर्चा में रहने वाले सिंह ने शुक्रवार को ट्वीट कर लिखा, “बिहार के उपचुनाव में सबसे खतरनाक परिणाम किशनगंज से उभर कर आया है। ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम जिन्ना की सोच वाली है, ये वंदे मातरम से नफरत करते हैं। इनसे बिहार की सामाजिक समरसता को खतरा है। बिहारवासियों को अपने भविष्य के बारे में सोचना चाहिए।”

लेकिन अपने इस बयान के बाद गिरिराज सिंह चौतरफा घिर गये हैं। कांग्रेस और राजद के साथ ही गिरिराज के बयान पर राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन में भी विरोध देखने को मिल रहा है।

एनडीए के घटक दल लोक जनशक्ति पार्टी के संसदीय दल नेता चिराग पासवान ने उनके बयान पर एतराज जताया है।

चिराग पासवान ने कहा कि किशनगंज में एआइएमआइएम की जीत जनता का फैसला है। जनता के फैसले पर सवाल नहीं किया जा सकता। गिरिराज के बयान को उनकी अपनी पार्टी (बरजेपी) में भी मिलता नहीं दिख रहा।

बीजेपी नेता व सांसद आरके सिन्‍हा ने भी कहा है कि गिरिराज सिंह को ऐसी टिप्‍पणियों से बचना चाहिए।

उल्लेखनीय है कि एआईएमआईएम ने बिहार विधानसभा में अपना खाता खोल लिया है। किशनंगज विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव में एआईएमआईएम ने कांग्रेस से यह सीट छीन ली है।

इस उपचुनाव में एमआईएमआईएम के कमरूल होदा ने 10 हजार से अधिक मतों से भाजपा की प्रत्याशी स्वीटी सिंह को पराजित किया।

Share Button

Related News:

किसी पार्टी का नहीं, बल्कि समाज का पक्षधर है कायस्थः रविनंदन सहाय
RU के उच्च एवं तकनीकी शिक्षा तथा कौशल विभाग में रोजगार मेला आयोजित
5 निर्दोष वनकर्मी की निर्मम पिटाई करने वाला राजगीर थानाध्यक्ष सस्पेंड
निगरानी कोर्ट के आदेश पर रिटायर्ड इंजीनियर दंपति का घर जप्त
नालंदा में जहरीली पदार्थ पीने से दो की मौत, कई लोग चपेट में
'डॉक्टर बना रावण, कार्रवाई करे जिला प्रशासन'
अचानक अरबपति हुआ राजस्व कर्मचारी !
पूर्व सीओ का मीडिया प्रेम और दोबारा विदाई बना चर्चा का विषय
विकास के ढिंढोरे के बीच 70 साल बाद भी सड़क विहिन है नालंदा का यह गांव, चारपाई है मात्र सहारा
आनंद किशोर BSEB अध्यक्ष के काबिल नहीं :पटना हाई कोर्ट
गोराइपुर मुखिया ने डीपीओ को लिखा- इन 3 शिक्षकों का नियोजन अवैध
लालू यादव दोषी-गये होटरवार जेल, जगन्नाथ मिश्र रिहा, अगले साल होगी सजा का एलान
अंततः ‘मुजफ्फरपुर महापाप’ पर सीएम ने तोड़ी चुपी, कहा- ‘शर्मसार हूं, हो रही आत्मग्लानि’
देखिए कैसा मजाक बन गई है कोडरमा चाइल्ड लाइन
एनएच-31 किनारे एयरटेल टावर में सोए वृद्धा की गोली मारकर हत्या
नाबालिग छात्रा की थाने में शादी मामले के सभी आरोपी आज़ाद कैसे !
भानु कंस्ट्रक्शन ने मीडिया को भेजा मेलः MDM का 70 करोड़ लौटाया, 30 करोड़ भी लौटायेगा
किशोरी गैंग रेप वीडियो वायरल मामले पर  नीतीश ने साध ली चुप्पी
एक कोचिंग टीचर की रंगरेलियों से तंग पत्नी ने छात्रा संग सेक्स वीडियो किया वायरल
मलमास मेला से अब खाजा नगरी सिलाव में भी बढ़ी रौनक
नालंदा पुलिस-पूर्व मुखिया द्वारा प्लांटेड था माहुरी गांव में वर्चस्व की जंग ?
नालंदा के हिलसा में पौने दो करोड़ का चावल घोटाला, थाना में दर्ज हुआ FIR
नीतिश 18 को जायेगें जापान, वहां से लायेगें बुलेट ट्रेन !
विकास की रौशनी में नालंदा के इस दलित टोले की नारकीयता तो देखिये
बांका के रेहान और नौशाद का नहीं मिला कोई आतंकी कनेक्शन
पत्नी व तीन मासूम बच्चे छोड़ नाबालिग साली संग हुआ फरार, मंदिर में रचाई शादी
बुचड़खाने के बहाने आम जनता को परेशान कर रही है सरकारः विजय हाँसदा
खुद फर्जीवाड़ा में फंस गए मीडिया पर आरोप लगाने वाले कोडरमा चाइल्ड लाइन का निदेशक
नालंदा ADM राजगीर CO को दे रहे डेट पर डेट, बकरे की मां कब तक खैर मनायेगी !
राजगीर नगर पंचायत का सिस्टम फेल, करोड़ो स्वाहा
रांची पुलिस ने बंद माइंस-क्रशर पर हमला करने वाले PLFI के 4 नक्सलियों को दबोचा
बाल संरक्षण आयोग के अध्यक्षा की जांचोपरांत पुष्टिः थाना परिसर में हुई नाबालिग छात्रा की शादी
बड़गांव में इस बार नहीं होगा सूर्य महोत्सव का आयोजन, जानिए क्यों?
एसआई कमलजीतः नालंदा पुलिस का सबसे चुस्त, दुरुस्त और फुर्तीला कर्मी !
धान-पान की हरियाली देख यूं खिल उठा किसानों का चेहरा
पानी को लेकर सीएम के शहर की जनता सड़क पर उतरे
नालंदा JJB का कड़ा एक्शनः 'ऐसे कर्तव्यहीन बिहार थानेदार हाजिर हों'
बच्चों के परित्याग को रोकने की सशक्त आवश्यकताः सरयू राय
किसानों की मौत को दबाने के लिए हो रहा एसआईटी गठनः सुबोधकांत
11000 करंट की चपेट से गजराज की मौत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...
Loading...