इस अफवाह से भयभीत किसानों ने रही सही धान रोपनी भी छोड़ी

Share Button

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज। नालंदा के गांवों में एक नई विकट समस्या उत्पन्न हो गई है। इसका सर्वाधिक कहर किसानों पर पड़ी है। एक तरफ उनकी नजरें आसमान की ओर मानसून पर टिकी है, वहीं दूसरी तरफ शासनिक लापरवाही के बीच अफवाहों ने उनका हौसला तोड़ दिया दिया है।

जिले के इस्लामपुर, थरथरी, चंडी, नगरनौसा, करायपरसुराय आदि प्रखंड क्षेत्रों से सूचना मिल रही है कि वहां के बड़ी संख्या में किसानों ने धान रोपनी बंद कर दी है। जलस्तर नीचे चले जाने, बारिश न होने के बीच एक अफवाह कारण बताई जा रही है।

इन क्षेत्रों में किसानों के बीच यह अफवाह फैली है कि जल संकट को देखते हुए गांवों में अब एक फेज ही बिजली की सप्लाई की जाएगी। ताकि निरंतर नीचे जाते जल स्तर को रोका जा सके।

इस कारण किसान अपने खेतों में धान रोपनी बंद कर दिया है। वे अधिक पूंजी आधारित खरीफ फसल लगाने का लेने का रिस्क उठाना नहीं चाहते। क्योंकि मानसून की अनियमियता से वे पहले से ही काफी सहमे हैं।

हालांकि बिजली विभाग के अफसर गांवों में बिजली कटौती को महज अफवाह बताते हैं। विभागीय अफसर का कहना है कि इस तरह के कहीं से कोई निर्देश-आदेश नहीं दिया गया है। गांवों में पहले की तरह ही बिजली की आपूर्ति जारी रहेगी।

इस बाबत हिलसा अनुमंडल पदाधिकारी (एसडीएम) वैभव चौधरी कहते हैं कि मामला गंभीर है। वे ऐसे अफवाहों की अपने स्तर से जांच कराएंगे। उनकी पूरी कोशिश होगी कि किसानों को किसी तरह की समस्या का सामना न करना पड़े। समय पर उनके हर शंका-आशंका का समाधान किया जाएगा।

दरअसल, नालंदा जिले के प्रायः गांवों में परंपरागत जल स्रोतों के प्रति शासकीय लापरवाही के बीच जल नल योजना ने इस नई समस्या को जन्म दिया है। यहां जिस तरह से पेयजल के नाम पर यह योजना चलाई जा रही है, वह कई सवाल खड़े करते हैं। शासन इसके दुष्परिणामों की ओर कतई न तो चिंतित है और न ही जागरुक। सिर्फ हर तरफ खानापूर्ति करते दिख रही है।

Share Button

Related News:

 गैंग रेप पीड़ित छात्रा की न्याय के लिए सड़क पर लोग, सड़क जाम, आगजनी, भारी आक्रोश
राजगीर सीओ के इस 'गुगली' में फंसेगें नालंदा जिला परिषद अभियंता
NEET की रिजल्ट पर मदुरै HC की रोक, CBSE से 28 मई तक जवाब मांगा
पति से की बेवफाई तो आशिक वफ़ा निभा न सका, प्रेमिका को अकेला छोड़ कर प्रेमी भागा
राजगीर थानेदार के खिलाफ अपराधिक मुकदमा दर्ज, जानिए क्या है पूरा मामला
एफिलिएशन पूर्व बीएड कॉलेज में नामांकण से हाई कोर्ट हैरान, मांगा जबाव
जलमीनार कांडः मुखिया पति ने वार्ड का पैसा हड़प यूं खरीदा न्यू बोलोरो  
3 वर्ष की सश्रम कारावास व 5 हजार की अर्थदंड के साथ जिला पंचायती राज पदाधिकारी निलंबित
केंद्रीय मंत्री उपेन्द्र कुशवाहा का मोदी सरकार से इस्तीफा, एनडीए भी छोड़ा
फेसबुक लाइव में बोले DGP- बिहार में नहीं चलेगी गुंडागर्दी
सात निश्चय की योजनाओं में गति लाएं जिले के बीडीओः डीएम
नालंदा इंजीनियरिंग कॉलेज को नये साल मिलेगी शिक्षकों का सौगात
यूपी-बिहार का कुख्यात एके 47 धारी मोस्ट वाण्टेड पप्पू श्रीवास्तव धराया
इस हाई प्रोफाईल केस में बोले SHO- ‘बरामदगी हो न गई भाई, अब आगे जांच चल रही है’
पीकप वैन ने यूं दरोगा को रौंदा, चालक की भी मौत, 3 माह में 3 दारोगा हुए हादसे के शिकार
ACB ने कनीय अभियंता को घुसे लेते रंगे हाथ दबोचा, 3 करोड़ नगद व करोड़ों के कागजात-आभूषण बरामद
एकता-अखंडता को लेकर नालंदा में कांग्रेसियों का सामूहिक उपवास
राष्ट्र के विकास हेतु जरुरी है बापू की सत्य और अहिंसा की नीति
हरे-भरे पेड़ों की अवैध कटाई करने वालों पर होगी कठोर कार्रवाईः सीओ
यूं तैयार है राजगीर की वैतरणी, दुःखहरणी और शालिग्राम कुंड ?
चंडी मगध महाविद्यालय में रिटायर्ड शिक्षक को दस हजार, बाकी को ठेंगा
ओडीएफ नगरनौसा की बैठक में खाई नमक की सौगंध
छात्रा का अश्लील वीडियो बना दुष्कर्म का प्रयास, 3 धराए
हिलसा SDO-DSP ने कहा- बालू अवैध उत्खनन होगा तो नपेंगे CO-SHO
आप की रांची जिला समिति के पदाधिकारियों की हुई घोषणा
CCTV से खुलासा, दूध वाले को यूं बनाया शराब तस्कर, तीन थानेदार लाइन हाजिर
हिलसा शौचालय घोटालाः आज हुआ एक और एफआईआर
राजगीर रोपवे का परिचालन 6 दिनों से ठप, सैलानियों में मायूसी
राजगीर सिवरेज सिस्टम को लेकर उठे अहम सबाल, संयुक्ता ने की तत्काल जांच-कार्रवाई की मांग
जड़ से फुनगी तक- सिर्फ कटहल ही कटहल
रांचीः पथराव पर पुलिस की आंसू गैस, जमशेदपुरः ट्रक फूंका, ट्रेनें रोकी, 6 हजार हुये गिरफ्तार
बासगीत पर्चा देने के 26 साल बाद भी नहीं मिला गरीबों को दखल कब्जा
अब लोक शिकायत में यूं घिरे BMP के DG गुप्तेश्वर पांडेय
गोईठवा-सोईवा नदी में कौन खोद रहा है मौत का कुंआ, किसका है सरंक्षण?
वृक्ष रक्षा दिवस के रूप में मनाया गया रक्षा बंधन का त्योहार
रांची जिले के प्रज्ञा केन्द्रों की मनमानी को लेकर लापरवाह हैं अफसर
BJP MP के खिलाफ हल्ला बोल का भड़कीले नारों के बीच यूं हुआ पटाक्षेप
यही है नीतिश कुमार के अंधाधुन विकास का पैमाना !
नालंदाः महज दो साल पहले करोड़ों की लागत से शुरु सूबे का पहला नीरा प्रोजेक्ट धारशाही😮
ओरमांझी में संतोषप्रद नहीं है डोभा निर्माण के कार्य :डीडीसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...
Loading...