इतना कमजोर कैसे है तिउरी पंचायत का यह ‘दलित’ मुखिया ?

Share Button

बिहार शरीफ (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज)। आलीशान पक्का मकान, मंहगी फोर व्हीलर व टू व्हीलर रॉयल इनफील्ड की सवारी, दबंग अंदाज पार्टी स्तर की राजनीति के बावजूद अपने ऊपर हमेशा रंगदारी मांगने के आरोप क्यों लगाता है यह मुखिया?

मामला नालंदा जिले के मानपुर थाना क्षेत्र के तिउरी पंचायत के मुखिया के गांव अलौदीया कि है, जहां विगत दिन पूर्व दो गुटों में मिट्टी बालू के अवैध उठाव को लेकर गोलीबारी हुई। इस घटना की प्रशासनिक पुष्टि भी सत्य निकली।

मगर इस गांव के मुखिया सत्येंद्र पासवान, जो दलित समुदाय से आते हैं। आरोप है कि गांव के कुछ दबंग छवि के लोगों द्वारा इस मुखिया के घर पर जमकर गोलीबारी की गई और उच्च समुदाय के लोगों के द्वारा दलितों एवं मुखिया से रंगदारी मांगने का भी आरोप है।

पड़ताल एक्सपर्ट मीडिया न्यूज़ की इस घटना की पड़ताल में यह रोचक तत्थ उभर कर सामन आये कि मुखिया के घर पर बताए गए गोलियों के निशान नहीं, बल्कि वह सीमेंट के गड्ढे हैं, जो पूर्व की भांति रंगीन बने प्रतीत होते है।  जबकि उक्त किसी भी स्थान पर गोली लगने के बाद वहां पेंट सहित सीमेंट भी कुछ उखड़ जाएंगे?

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज़ को पंचायती सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस पंचायत के मुखिया जनप्रतिनिधि है। इनसे लोग समस्याओं के समाधान के लिए गुहार करते हैं या वादा किए हुए बातों को निभाने की बात करते हैं तो इनके द्वारा सीधा-सीधा गुहारकर्ता पर रंगदारी मांगने का केस दर्ज करवाया जाता है और अपने ऊपर जान माल की खतरे की बात कर पुलिस से सुरक्षा की मांग करते हैं।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार यह मामला अवैध मिट्टी बालू उठाव को लेकर दोनों तरफ से गोलीबारी की गई है न कि कोई रंगदारी मांगने या आपसी वर्चस्व बनाने को लेकर मुखिया के घर पर गोलीबारी की है।

Related Post

One comment

  1. जो हाथ अंगारे छुपाते है वो हाथ जल जाये करते है। रोपीएगा पेड़ बाबुल का आम कँहा से पैदा लेगा। लोगों को हम कितना अपने स्वार्थ में ठकेंगे या धोखा देंगे। एक न एक दिन तो सच्चाई पता चलना ही है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.