छपरा जेल के धन कुबेर जेलर के नालंदा और गया के ठिकानों पर छापा

 
छपरा जेल के धन कुबेर जेलर के नालंदा और गया के ठिकानों पर छापामारी जारी

पटना (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज़ नेटवर्क)। छपरा के जेल अधीक्षक रामाधार सिंह के दो  ठिकाने पर एसवीयू की छापेमारी चल रही है। उनके  नालंदा के इस्लामपुर और गया के मानपुर स्थित आवास पर एक साथ छापेमारी चल रही है।

बताया जाता है कि मानपुर स्थित आवास पर उनकी पत्नी की भाई रहते हैं। मामला आय से अधिक संपत्ति की है। इस मामले में उनके परिजनों से भी पूछताछ चल रही है।

बिहार में इन दिनों धनकुबेरों पर पड़ रहे तड़ातड़ छापेमारी के बीच छपरा के जेल अधीक्षक भी निगरानी की जद में आ गये हैं। निगरानी की विशेष टीम छपरा में जेल सुपरिटेंडेंट रामाधार सिंह के आवास पर छापेमारी के लिए पहुंची है। जहां आय से अधिक संपत्ति मामले में उनके घर पर छापेमारी जारी है।

छपरा के जेल सुपरिटेंडेंट रामाधार सिंह सरकारी नौकरी में रहते हुए काफी धन अर्जित की है। आरोप है कि सरकारी पद का दुरुपयोग कर ये भ्रष्टाचार में लिप्त रहे हैं।

इस बात के ठोस सबूत निगरानी अन्वेषण ब्यूरो की टीम को मिला था। जिसके बाद गुरुवार को इनके खिलाफ पटना में आय से अधिक संपत्ति का केस दर्ज किया गया था।

निगरानी मुख्यालय के अनुसार जेल सुपरिटेंडेंट के ऊपर सरकारी सैलरी के अलावा, मतलब आय से 1.21 करोड़ रुपए अधिक की काली कमाई करने का गंभीर आरोप लगा है।

इनके बारे में काफी शिकायतें थीं. काले कारनामों के बारे में एक के बाद एक कई शिकायत मिलने पर निगरानी की टीम एक्टिव हो गई थी।

अब निगरानी की टीम ने इनके तीन ठिकानों पर एक साथ छापेमारी कर दी है। बिल्कुल गोपनीय तरीके से निगरानी ने शुक्रवार को छपरा, पटना और गया में एक साथ इस कार्रवाई को शुरू किया।

डीएसपी सुरेंद्र कुमार महुआर की अगुवाई में एक टीम छपरा में जेल सुपरिटेंडेंट रामाधार सिंह के सरकारी घर और ऑफिस को खंगाल रही है।

जबकि, दूसरी टीम पटना में जक्कनपुर थाना के तहत पुरन्दुपुर इलाके के अपार्टमेंट में स्थित फ्लैट और तीसरी टीम गया जिले में स्थित पुश्तैनी घर को खंगाल रही है। फिलहाल जेल अधीक्षक रामाधार सिंह के आवास पर छापेमारी जारी है।

कुछ दिन पहले भी पटना के तत्कालीन मोटरयान निरीक्षक मृत्युंजय कुमार सिंह और वकील प्रसाद के ठिकानों पर छापा पड़ा था। जहां अवैध बालू खनन के मामले को लेकर छापेमारी की गई।