कार्यपालक अभियंता पटना हाईकोर्ट डिवीजन 8 लाख रुपए रिश्वत लेते रंगे हाथ धराया

“हाल के दिनों में भ्रष्‍ट अफसरों पर निगरानी और आर्थिक अपराध इकाइ ने बड़ी कार्रवाई की है। इस दौरान कई पुलिस अधिकारी, अभियंता, आइपीएस, एमवीआइ, श्रम प्रवर्तन अधिकारी की अकूत संपत्तियों को जब्‍त किया गया है…
 
कार्यपालक अभियंता पटना हाईकोर्ट डिवीजन 8 लाख रुपए रिश्वत लेते रंगे हाथ धराया

पटना (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज़ नेटवर्क)। बिहार में सुशासन के राज में भ्रष्ट लोक सेवकों की कमी नहीं है। आए दिन लोक सेवक घूस लेते निगरानी के हत्थे चढ़ रहें हैं, फिर भी उन्हें पकड़े जाने का भय नहीं सता पा रहा है।

निगरानी विभाग ने इस बार पटना हाईकोर्ट के कार्यपालक अभियंता को आठ लाख रुपए घूस लेते हुए गिरफ्तार किया है। निगरानी की इस कार्रवाई के बाद से अन्य कर्मचारियों में अफरा तफरी मची हुई है।

मिली जानकारी के अनुसार, निगरानी की विशेष टीम ने पटना हाई कोर्ट के कार्यपालक अभियंता राजेश कुमार को 8 लाख रुपये घूस लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार राजेश कुमार पटना के कंकड़बाग स्थित नूतन अपार्टमेंट में रहते है।

निगरानी टीम ने उनके आवासीय परिसर में छापेमारी की और उसे रुपयों के साथ धर दबोचा। आरोपी कार्यपालक अभियंता के आवासीय परिसर पर निगरानी की टीम अभी भी छापेमारी कर रही है।

निगरानी विभाग के डीएसपी सुरेंद्र कुमार महुआर ने बताया कि हाईकोर्ट बिल्डिंग की रंगाई पुताई हुई थी। बिजली का काम कराया गया था। उसी मद में संवेदक गोपाल शरण सिंह का 80 लाख का बिल भुगतान होना था। जिसमें कार्यपालक अभियंता अड़ंगा डाल रखा था।

बिल भुगतान के एवज में उससे आठ लाख रुपए की मांग की गई थी। निगरानी की सूचना पर यह कार्रवाई की गई है। उन्हें आठ लाख रुपए घूस लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया गया।

उनके अपार्टमेंट की तलाशी ली गई है। इसमें गहने, नकदी आदि बरामद हुए हैं। जांच के दौरान उनकी काली कमाई सामने आने की उम्‍मीद है।