बिहार शरीफ डीएसपी ने 50 हजारी आरोपी के लिए रची ‘फर्जी मुठभेढ़’ की यूं कहानी!

Share Button

सीएम नीतीश कुमार के गृह जिले नालंदा की पुलिस की हमेशा हैरतअंगेज कारनामे आती रहती है। लेकिन उनमें कई कारनामें उल्टे भद्द पिट जाती है। इस बार पुलिस की भद्द पिटाने वाले खुद बिहार शरीफ डीएसपी सह पुलिस प्रवक्ता इमरान परवेज उभरकर सामने आए हैं….”

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क।  खबर है कि  हत्या लूट रंगदारी जैसे कई संगीन मामलों का पचास हजार का इनामी फरार कुख्यात अपराधकर्मी वेद प्रकाश यादव उर्फ वेदू यादव को दीपनगर थाना पुलिस ने एक विदेशी पिस्टल और जिंदा कारतूस के साथ गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है।

पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि वेदू यादव नदियौना प्राथमिक विद्यालय के समीप मौजूद है। इसी सूचना के आधार पर दीपनगर थानाध्य्क्ष धर्मेंद्र कुमार पुलिस बलों के साथ मौके पर पहुंचे तो पुलिस को देखते ही वेदु यादव ने फायरिंग करना शुरू कर दिया। जिसे मुठभेड़ के बाद पुलिस ने धर दबोचा।

डीएसपी इमरान परवेज के अनुसार मुठभेढ़ में दबोचे गए आरोपी के ऊपर दीपनगर सिलाव और नालंदा थाने में 7 से अधिक हत्या, हत्या के प्रयास, लूट, रंगदारी एवं आर्म्स एक्ट के कई संगीन मामले दर्ज हैं।

डीएसपी के अनुसार बिहार सरकार ने इसके ऊपर पचास हजार का इनाम घोषित कर रखा था। यह इस इलाके का बालू माफिया है जो अवैध बालू खनन के मामले में काफी सक्रिय था।

डीएसपी स्तर से आज मीडिया को जो प्रेस वार्ता के बाद बिना हस्ताक्षर-मुहर की जो प्रेस विज्ञप्ति जारी की गई है, उसमें साफ उल्लेख है कि नालंदा पुलिस अधिक्षक के निर्देश पर बिहार शरीफ सदर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी इमरान परवेज के नेतृत्व में डीआईयू प्रभारी पुनि मो. मुश्ताक, दीपनगर थानाध्यक्ष धर्मेंद्र कुमार एवं डीआईयू टीम के द्वारा 5 अप्रैल,2019 की संध्या 6 बजे नदियौना प्राथमिक विद्यालय दीपनगर के पास पंचाने नदी के किनारे अपराधी से मुठभेढ़ के पश्चात कोरई गांव निवासी वेद प्रकाश यादव उर्फ वेदू यादव उर्फ सातो यादव पिता लखन यादव काफी धैर्य, आत्म संयम, एवं अपने जान को जोखिम में डाल कर गिरफ्तार किया गया एवं फायर हथियार गोली बरामद किया गया।

गिरफ्तार आरोपी के पास से 7.56 MM का एक पिस्टल, एक मीस फायर गोली, 2 जिंदा गोली, 1 स्पाईस मोबाईल फोन बरामद किया गया।

इस आरोपी का इतिहासः (1). दीप नगर थाना कांड संख्या 161/08, दिनांकः 13.11.2008 धारा 392 भादवि (2). सिलाव थाना कांड संख्या-103/08, दिनांकः 10.09.2008 धारा 392 भादवि (3). सिलाव थाना कांड संख्या-114/08, दिनांकः 23.10.2008 धारा 414 भादवि (4). नालंदा थाना कांड संख्या-73/08, दिनांकः 04.08.2008 धारा 392 भादवि (5). नालंदा थाना कांड संख्या-60/08, दिनांकः 26.06.2008 धारा 302 भादवि (6). दीपनगर थाना कांड संख्या-356/17, दिनांकः 01.11.2017 धारा 147/148/341/323/307 भादवि (7). दीपनगर थाना कांड संख्या-79/18, दिनांकः 11.03.2018 धारा 341/323/504/506/34 भादवि बताया जाता है।

आरोपी के कथित अपराधिक इतिहास का एक गौरतलब पहलु यह है कि वर्ष 2008 में उस पर लगातार 5 मुकदमे दर्ज हुए। इसके करीब 9 साल बाद दो मुकदमें दर्ज हुए। यानि इस दौरान पुलिस की नजर में उसकी सक्रियता शून्य रही।

बहरहाल, उधर पटना से प्रकाशित एक जाने माने दैनिक अखबार ने “नालंदा पुलिस ने कुख्यात अपराधी को उठाया” शीर्षक से एक खबर प्रकाशित की है। जाहिर है कि यह खबर प्रकाशनार्थ कल ही प्रेषित की गई होगी। जिस खबर में उल्लेख है कि आरोपी वेदू यादव को सिलाव थाने के बलवाचक गांव से दबोचा गया है। जिसके पास से हथियार व कारतूस बरामद होने की सूचना मिली है।

इस खबर में यह भी उल्लेख है कि इधर, जांच प्रभावित होने की आशंका को देखते हुए एसपी नीलेश कुमार इस संबंध में फिलहाल कुछ भी बताने से परहेज करते दिख रहे हैं।

शनिवार को इस मामले का अधिकारिक तौर पर प्रेस वार्ता में खुलासा कर दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...