अन्य
    Thursday, May 30, 2024
    अन्य

      बिहार में 1.87 लाख नियोजित शिक्षक बने राज्यकर्मी, जानें नया पदनाम

      पटना (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज)। बिहार राज्य में सक्षमता परीक्षा पास होने वाले नियोजित शिक्षकों की पोस्टिंग के लिए चयनित जिले में स्कूल आवंटन सॉफ्टवेयर के माध्यम से रैंडमाइजेशन से होगा। पोस्टिंग के लिए स्कूल आवंटन के पहले सभी संबंधित शिक्षकों की काउंसलिंग होगी।

      शिक्षा विभाग की चल रही तैयारियों के मुताबिक काउंसलिंग राज्य मुख्यालय में होगी। काउंसलिंग में शिक्षकों के उन प्रमाण-पत्रों एवं कागजातों का सत्यापन होगा, जो उनके द्वारा सक्षमता परीक्षा के ऑनलाइन फॉर्म भरते वक्त दिये गये थे। काउंसलिंग के शिड्यूल पर अभी अंतिम मुहर नहीं लगी है। लेकिन इससे संबंधित शिड्यूल पर अंतिम मुहर जल्द लगेगी।

      बता दें कि सक्षमता परीक्षा में तकरीबन 1,87,615 नियोजित शिक्षक उत्तीर्ण हुए हैं। इनमें 11वीं 12वीं कक्षा के 5,313, 9वीं-10वीं कक्षा के 20,354, 6ठी से 8वीं कक्षा के 22.941 एवं पहली से पांचवीं कक्षा के 1,39,010 शिक्षक हैं। ये सभी विशिष्ट शिक्षक बनने वाले हैं।

      इन शिक्षकों से सक्षमता परीक्षा का फॉर्म भरते वक्त ही तीन जिलों के ऑप्शन लिये गये थे। इन शिक्षकों को सक्षमता परीक्षा में मिले अंक एवं आरक्षण के आधार पर जिला आवंटित किये गये हैं। अब चयनित जिले में संबंधित शिक्षकों की पोस्टिंग के लिए स्कूल आवंटन की प्रक्रिया शुरू की जानी है। आवंटित स्कूल में योगदान की तिथि से संबंधित शिक्षकों का पदनाम बदल कर विशिष्ट शिक्षक’ का हो जायेगा। इसके साथ ही योगदान की तिथि से ही इन्हें राज्यकर्मी का दर्जा मिल जायेगा।

      इस बीच राज्य के शहरी क्षेत्र के सरकारी स्कूलों में रिक्त पदों की परीक्षा उत्तीर्ण शिक्षकों के स्कूल सॉफ्टवेयर में इंट्री की भी शिक्षा विभाग आवंटन की प्रक्रिया वही होगी, जो की तैयारी है। सॉफ्टवेयर में रिक्त पदों बिहार लोक सेवा आयोग की परीक्षा की इंट्री स्तरवार एवं विषयवार की के आधार पर विद्यालय अध्यापक के जायेगी।

      इससे संबंधित संशोधित शिड्यूल के मुताबिक जिस दिन जिस प्रमंडल के लिए संशोधित तिथि तय हुई है, अब उस संशोधित तिथि को ही उस प्रमंडल के सभी जिलों के कार्यक्रम पदाधिकारी (स्थापना) अपने जिले में खाली पड़े पदों की स्तरवार एवं विषयवार इंट्री सॉफ्टवेयर में कराने के लिए यहां शिक्षा विभाग में हाजिर होंगे।

      शिक्षा विभाग की तैयारियां बात का संकेत कर रही हैं कि सक्षमता परीक्षा उत्तीर्ण शिक्षकों के स्कूल आवंटन की प्रक्रिया वही होगी, जो बिहार लोक सेवा आयोग की परीक्षा के आधार पर विद्यालय अध्यापक पदों के लिए चयनित अभ्यर्थियों  के लिए अपनायी गयी थी। विद्यालय अध्यापकों का स्कूल आवंटन सॉफ्टवेयर के माध्यम से रैंडमाइजेशन के आधार पर हुआ था।

      इससे यह साफ है कि सक्षमता परीक्षा उतीर्ण शिक्षकों का स्कूल आवंटन भी सॉफ्टवेयर के आध्यम से रैंडमाइजेशन के आधार पर होगा। तिथि में बदलाव होने के साथ ही सॉफ्टवेयर में रिक्तियों की स्तरवार एवं विषयवार इंट्री का कार्य अब 15 अप्रैल से शुरू होकर 22 अप्रैल तक चलेगा। शिड्यूल के मुताबिक 15 अप्रैल को पूर्णिया प्रमंडल, 16 अप्रैल को कोशी एवं भागलपुर प्रमंडल, 17 अप्रैल को मुंगेर प्रमंडल, 18 अप्रैल को दरभंगा प्रमंडल, 19 अप्रैल को तिरहुत प्रमंडल, 20 अप्रैल को मगध प्रमंडल, 21 अप्रैल को सारण प्रमंडल एवं 22 अप्रैल को पटना प्रमंडल के जिलों के सरकारी स्कूलों की की स्तरवार एवं विषयवार रिक्तियों की सॉफ्टवेयर में इंट्री होगी।

      बालू लदे वाहनों से अवैध वसूली का वायरल वीडियो मामले में सिपाही निलंबित

      जानें इस बार सरकारी स्कूलों में क्यों नहीं मिलेगी गर्मी की छुट्टी

      जानें क्यों लगी पीएम मोदी की तस्वीर लगी उर्वरक बैग पर रोक

      पत्रकार दीपक विश्वकर्मा को पत्नी ने ही मरवाई थी गोली, प्रेमी समेत 4 गिरफ्तार

      सम्राट चौधरी का अबतक का सबसे गंदा बयान, जानें क्या कह डाला?

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!