अन्य
    Sunday, May 26, 2024
    अन्य

      टेलीग्राम पर पांच हजार में बिक रहे हैं जेइइ मेन का कोश्चन पेपर 

      रांची (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज)। जेइइ मेन का प्रश्न पत्र वायरल होने की खबर सुर्खियों में है। कई सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर प्रश्न-पत्र लीक की अफवाह उड़ रही है। परीक्षा दे चुके कई परीक्षार्थियों ने परीक्षा में पूछे गये प्रश्न व वायरल हो रहे प्रश्नों को सही कहा है।

      सोशल मीडिया प्लेटफार्म टेलीग्राम पर भी प्रश्न पत्र वायरल हो रहे हैं। वायरल प्रश्न के लिए टेलीग्राम पर पांच हजार रुपये लिये जा रहे हैं। जेइइ मेन पेपर लीक 100 प्रतिशत ओरिजनल पेपर के नाम पर बेचे जा रहे हैं। आठ और नौ अप्रैल के पेपर भी टेलीग्राम पर बेचे जा रहे हैं।

      हालांकि एनटीए का साफ कहना है कि वायरल प्रश्न पत्र फर्जी हैं। एनटीए परीक्षा निदेशक साधना पाराशर के अनुसार जेइइ मेन अप्रैल सत्र की परीक्षा के पहले दिन चार अप्रैल को 10 लोग पकड़े गये थे। अलग-अलग राज्यों से पकड़े गये स्टूडेंट्स पर एफआइआर दर्ज करवा दी गयी है। कार्रवाई की जा रही है। एनटीए भी इस मामले पर जांच कर रही है।

      उन्होंने कहा कि फर्जी प्रश्न पत्र भी बेचे जा रहे हैं। एग्जाम के समय इस प्रकार के कई गिरोह सक्रिय हो जाते हैं। पैरेंट्स व स्टूडेंट्स को इस प्रकार के गिरोह से सतर्क रहने की जरूरत है। स्टूडेंट्स इस तरह के गिरोह के चक्कर में न पड़ें। ये लोग केवल पैसा कमाने के लिए इस तरह का काम करते हैं। स्टूडेंट्स अपनी तैयारी पर भरोसा रखें। एग्जाम पर फोकस

      उन्होंने स्पष्ट किया कि परीक्षा देते समय के डाटा को एनालिसिस किया जा रहा है। परीक्षा के दौरान स्टूडेंट्स की हर एक्टिविटी को सीसीटीवी और एआइ टूल्स के माध्यम से रिकॉर्ड किया जा रहा है। ऐसे स्टूडेंट्स जिनके व्यवहार में परीक्षा के दौरान किसी भी तरह का संशय पाया जाता है तो परीक्षा के बाद उनके लॉग को अध्ययन किया जा रहा है।

      उन्होंने आगे कहा कि इसके बाद यदि स्टूडेंट नकल करने या अनुचित साधनों के उपयोग करने का दोषी साबित होता है, तो नियमानुसार पब्लिक मॉल प्रैक्टिस एक्ट के अंतर्गत कार्रवाई की जायेगी। विद्यार्थी इस वर्ष और आने वाले वर्ष के लिए परीक्षा से वंचित कर दिया जायेगा। इसके साथ ही इस मामले को आपराधिक मानते हुए भी कानूनी कार्रवाई की जायेगी।

      बता दें कि एनटीए द्वारा इस वर्ष परीक्षाओं को पारदर्शिता के साथ सुचारू रूप से कराने के लिए मल्टीपल वेरिफिकेशन, बायोमेट्रिक, इ केवाइसी, विद्यार्थियों की चेकिंग एवं विभिन्न एआइ बेस्ड टूल्स का प्रयोग किया गया है। एनटीए द्वारा इसके लिए परीक्षा केंद्रों पर फ्लाइंग स्क्वाड तक भेजे गये हैं।

      इस वर्ष पहली बार परीक्षा के दौरान बायो ब्रेक में जाने-आने पर भी बायोमेट्रिक जांच की जा रही है। जेइइ मेन अब आठ और नौ अप्रैल को होगा। 12 अप्रैल को बीआर्क के लिए परीक्षा सुबह की एक पारी में होगी। अप्रैल परीक्षा के लिए जनवरी के मुकाबले ज्यादा विद्यार्थियों ने आवेदन किया है। आवेदन करने वाले विद्यार्थियों की संख्या 12 लाख 57 हजार है। परीक्षा का परिणाम 20 अप्रैल तक जारी होने की संभावना है।

      बालू लदे वाहनों से अवैध वसूली का वायरल वीडियो मामले में सिपाही निलंबित

      जानें इस बार सरकारी स्कूलों में क्यों नहीं मिलेगी गर्मी की छुट्टी

      जानें क्यों लगी पीएम मोदी की तस्वीर लगी उर्वरक बैग पर रोक

      पत्रकार दीपक विश्वकर्मा को पत्नी ने ही मरवाई थी गोली, प्रेमी समेत 4 गिरफ्तार

      सम्राट चौधरी का अबतक का सबसे गंदा बयान, जानें क्या कह डाला?

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!