28.1 C
New Delhi
Sunday, September 26, 2021
अन्य

    नालंदाः खाद को लेकर उबले किसान, सड़क जाम कर काटा बवाल, पुलिसकर्मियों को जमकर पीटा

    पटना (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क )। बिहार के सीएम नीतीश कुमार के गृह जिले नालंदा में खाद की किल्लत से किसानों में अफरातफरी मच गई है। इससे उत्पन्न स्थिति से कहीं-कहीं वे काफी आक्रोशित दिख रहे हैं।

    आज नालंदा जिले के इसलामपुर प्रखंड नगर के केवी तिनमुहानी खाद की किल्लत को लेकर किसानों ने सड़क जाम कर जमकर बवाल काटा। इस दौरान भीड़ ने पुलिसक्रमियों को भी सरेआम पिटाई की। इस पिटाई के वीडियो काफी तेजी से वायरल हो रहे हैं।

    किसानों का कहना है कि खाद भंडारण व खाद बिक्रेताओं के पास खाद है। लेकिन पदाधिकारियों की मिलीभगत से खाद की कालाबाजारी करने की नियत से दुकान बंद रखता है और प्रशासन चुपचाप देखता रहता है।

    ऐसे में खाद नहीं मिलने से धान का फसल की उपज नहीं होगा। और जब उपज नहीं होगा तो सब लोग खाएंगे क्या?

    आज खाद उपलव्ध करवाने की मांग को लेकर किसान व किसान वर्ग की महिलाओं ने इसलामपुर नगर के केवी तिनमुहानी को जाम कर दिया।  किसानों ने हंगामा कर प्रशासन से खाद भंडारण दुकान से खाद उपलब्ध करवाने की मांग की।

    इसके बाद प्रशासन सभी को खाद की दुकान पर खाद दिलवाने के लिए लेकर पहुंचे। लेकिन खाद दुकान बंद था और खाद लेने वाली महिला और पुरुष की लंबी लाइन सड़क किनारे लगे थे।

    उसी दौरान पुलिस से भीड़ उलझ गई और पुलिसकर्मियों की जमकर पिटाई कर दी।

    किसानों ने कहा कि किसी को मनचाहा खाद मिलता है और किसी किसान को एक से दो वोरा खाद लेने के लिए सडको पर लाइन लगाना पडता है। फिर भी जरुरत के मुताबिक नहीं मिल पाता है। यह हाल इसलामपुर खाद भंडारण करने वाले प्रायः खाद विक्रेताओं का है।

    इधर, सूत्रो का कहना है कि पुलिस ने एक टैक्टर पर लदा खाद को पकडा था। उसके बाद किसानो ने खाद उपलब्ध करवाने की मांग को लेकर सडक जाम कर दिया था। वरामद टैक्टर पर लदे खाद वैध या अवैध है, इसकी अधिकारिक पुष्टि नहीं हो सका है।

     

     

    संबंधित खबरें

    1 COMMENT

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    5,623,189FansLike
    85,427,963FollowersFollow
    2,500,513FollowersFollow
    1,224,456FollowersFollow
    89,521,452FollowersFollow
    533,496SubscribersSubscribe