अन्य
    Wednesday, April 17, 2024
    अन्य

      IAS और IPS अफसरों में सबसे गरीब ACS केके पाठक के पास न गाड़ी, न बंगला, न गहना

      पटना (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज)। बिहार सरकार के आलाधिकारियों ने अपनी संपत्ति की घोषणा कर दी है। पिछले दिनों नीतीश सरकार के मंत्रियों द्वारा अपनी अपनी संपति की घोषणा के बाद राज्य के आला अधिकारियों ने भी अपनी संपति की विस्तृत जानकारी सार्वजनिक कर दी । इसमें मुख्य सचिव ब्रजेश मेहरोत्रा, डीजीपी आरएस भट्टी समेत तमाम बड़े अधिकारी शामिल हैं।

      शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक के पास न गाड़ी है न कोई गहना है। उनके पास नकद 15 हजार है। वहीं, बचत खाता में 8.71 लाख रुपये हैं। पीपीएफ खाता में 56.27 लाख और जीपीएफ में 1.60 करोड़ रुपए हैं।

      मुख्य सचिव ब्रजेश मेहरोत्रा के तीन बैंक एकाउंट हैं, जिसमें करीब 19 लाख रुपये जमा हैं। उनके राजभवन की एसबीआई ब्रांच में 11.81 लाख, पाटलिपुत्र कॉलोनी की केनरा बैंक में 33 हजार तो एक्सिस बैंक में 7.70 लाख जमा हैं। मुख्य सचिव के पास विवाह में तोहफे के रूप में मिले सोने की एक चेन और चार हीरे हैं। लखनऊ में पत्नी के साथ संयुक्त रूप से खरीदा गया है। इसके अलावा विस्टा टावर गोमती नगर में और एक फ्लैट है। इसकी कीमत 80 लाख रुपये है। इनकी पत्नी ममता मेहरोत्रा के पास भी जेवरात है, जो उनकी मां से उपहार स्वरूप मिले थे।

      कैबिनेट के अपर मुख्य सचिव डा. एस सिद्धार्थ पिस्टल और कैमरे के शौकीन हैं। पर, बैंक के कर्ज में डूबे हैं। जारी संपत्ति की विवरणी के अनुसार उनके पास एक निकॉन कैमरा, कैमरा लेंस के अलावा एक पिस्टल भी है। इसके अलावा उनके बैंक खाते में 52.81 लाख रुपये जमा हैं। इन्होंने शेयर में भी निवेश किया है। इनका द्वारका दिल्ली में एक फ्लैट है जिसकी कीमत करीब 25 लाख रुपये है। इन्होंने बैंक से करीब 90 लाख रुपये का ऋण लिया है। इस बैंक कर्ज में अभी 75 लाख 52 हजार रुपये वापस करना है।

      बिहार के डीजीपी आरएस भट्टी चांदी-सोने के शौकीन नहीं हैं। लेकिन उनकी पत्नी जरूर सोने चांदी का शौक रखती है। इनके पास करीब 91 लाख रुपये मूल्मूय के जेवरात हैं। सोमवार को अधिकारियों द्वारा दिये आय-व्यय के ब्यौरे के अनुसार भट्टी के पास नकद के रूप में 45 हजार रुपये हैं तो पत्नी के पास 35 हजार भट्टी ने अपने सेवाकाल में अब तक बैंक में 41.81 लाख रुपये जमा किये हैं। बांड्स और शेयर में इन्होंने करीब 54 लाख रुपये का निवेश किया है। इनके पास चंडीगढ़ में एक पांच सौ वर्ग गज का आवास है।

      भवन निर्माण सचिव व पटना के प्रमंडलीय आयुक्त कुमार रवि के पास नकद के रूप में सिर्फ 10 हजार रुपये ही है। जबकि उनकी पत्नी के पास 17500 रुपये नकद हैं। कुमार रवि के पास 40 ग्राम और पत्नी के पास 265 ग्राम सोना है। दोनों सोने की कीमत करीब 9.70 लाख रुपये है। पत्नी के पास चार सौ ग्राम चांदी भी है। इनके पास कृषि या गैर कृषि योग्य कोई जमीन नहीं। उनके पास पटना में एक फ्लैट जरूर है जिसकी कीमत करीब 53 लाख रुपये है। यह फ्लैट कुमार रवि और उनकी पत्नी दोनों के नाम पर है।

      अपर पुलिस महानिदेशक, मुख्यालय जितेंद्र सिंहसिं गंगवार के पास नकद 1.10 लाख रुपये है। वहीं, उनके बैंक खातों में करीब 1.14 करोड़ रुपये जमा है। जबकि उन्होंने म्यूचयल फंड में 71 लाख रुपये का निवेश कर रखा है। उनके द्वारा दिये गये वित्तीय वर्ष 2023-24 वर्ष के आय-व्यय के ब्योरा के अनुसार एडीजी गंगवार के पास 100 ग्राम सोना और 50 हजार का डायमंड है। वहीं, लखनऊ के जानकीपुरम और हरियाणा के फरीदाबाद में फ्लैट है। साथ ही, उन्होंने 10 लाख रुपये का गृह ऋण भी ले रखा है।

      वहीं ग्रामीण कार्य विभाग के सचिव पंकज कुमार पाल के पास 50 हजार तो उनकी पत्नी के पास 70 हजार नगद है। उनके पास 135 ग्राम सोना है, जबकि उनकी पत्नी के पास 550 ग्राम सोना है। पत्नी के पास वैगनआर कार भी है। पति-पत्नी दोनों के पास खेती की जमीन भी है। श्रीपाल के पास नोएडा में आवास भी है। इसके लिए उन्होंने बैंक से ऋण लिया है।

      जानें इस बार सरकारी स्कूलों में क्यों नहीं मिलेगी गर्मी की छुट्टी

      जानें क्यों लगी पीएम मोदी की तस्वीर लगी उर्वरक बैग पर रोक

      पत्रकार दीपक विश्वकर्मा को पत्नी ने ही मरवाई थी गोली, प्रेमी समेत 4 गिरफ्तार

      सम्राट चौधरी का अबतक का सबसे गंदा बयान, जानें क्या कह डाला?

      ईडी ने कोर्ट में अरविंद केजरीवाल को बताया दिल्ली शराब घोटाला का किंगपिन !

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!