अन्य
    Saturday, March 2, 2024
    अन्य

      दिल्ली प्रगति मैदान में झारखण्ड टूरिज्म स्टाल पर ‘सिटी ऑफ़ फॉल्स’ की व्यापक जानकारी

      नई दिल्ली (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज)। प्रकृति के गर्भ में बसे प्रदेश झारखण्ड में अनेक प्राकृतिक स्थल हैं। झारखंड को प्रकृति ने प्रचुर जैव-विविधता, सुखद जलवायु, समृद्ध सांस्कृतिक और ऐतिहासिक विरासत, धार्मिक स्थलों और सदियों पुरानी आदिवासी कलाओं से नवाजा है, जो राज्य को पर्यटकों के लिए गंतव्य बनाता है।

      झारखण्ड के आकर्षणों की बात करें तो डिमना झील, टाटा स्टील जूलॉग सेंटर, हुडको झील, शानदार जंगल , विविध वन्य जीवन, आकर्षक झरने , उत्तम हस्तशिल्प, साहसिक खेल, शानदार झील, करामाती शास्त्रीय संगीत, लोक नृत्य और सबसे बढ़कर, मेहमान नवाजी  और शांतिप्रिय लोगों के साथ एक मनोरम गंतव्य है।

      दिल्ली के प्रगति मैदान में चल रहे व्यापार मेले में इन्ही सब की विस्तृत जानकारी देने के लिए झारखण्ड पर्यटन ने झारखण्ड पवेलियन में स्टाल लगाई है। जिस पर लोगो की खासी भीड़ देखने को मिल रही है। पर्यटन के स्टॉल पर झारखंड के पर्यटन स्थलों का वर्चुअल टूर और बनाए गए बाबा वैद्यनाथ धाम का प्रारूप लोगो को बहुत पसंद आ रहा है।

      झारखण्ड टूरिज्म डेवलपमेंट कारपोरेशन की मैनेजर ने झारखण्ड में टूरिज्म पर जानकारी देते हुए बताया कि झारखण्ड की राजधानी रांची को “सिटी ऑफ़ फॉल्स” के नाम से भी जाना जाता है। जहाँ पर 4 बड़े और 5 छोटे आकार के जल प्रपात है। जिसमे हुंडरू जल प्रपात की अधिकतम ऊंचाई 98 मीटर तक और दशम जलप्रपात में 10 अलग अलग धाराएँ मिल कर उसे और भी ज्यादा खूबसूरत बनाती हैं।

      झारखण्ड प्रदेश अपनी धार्मिक स्थलों जैसे पार्श्वनाथ मंदिर, मां भद्रकाली मंदिर, मलूटी मंदिर, पारसनाथ मंदिर, रजरप्पा मंदिर और देवघर के लिए पसंद किया जाता है। पर्यटक यहाँ नेतरहाट में मनमोहक सूर्योदय और सूर्यास्त देखने के लिए आते हैं। वहीँ बेतला नेशनल पार्क में हाथियों को देखा जा सकता है।

      बेतला नेशनल पार्क अब टाइगर रिजर्व पार्क के लिए मशहूर हो रहा है। झारखण्ड पर्यटन ने रांची के पास स्थित पतरातू में एडवेंचर पार्क का निर्माण करवाया है। जिसमे बच्चों के साथ बड़े भी एडवेंचर का मजा ले सकते हैं।

       नए पसंदीदा स्थान के रूप में तेजी से उभर रहा झारखंड अब साहसिक खेलों के लिए एक लोकप्रिय केंद्र है। जमशेदपुर और गिरिडीह के हरे-भरे जंगल इसे जंगल सफारी, ट्रेकिंग, पैडल बोटिंग और पर्वतारोहण के लिए आदर्श बनाते हैं।

      प्राकृतिक दृश्यों के साथ रॉक क्लाइम्बिंग के लिए चाईबासा और नेतरहाट, रामगढ़ में सिकिदिरी और दसम प्रमुख हैं। पानी के रोमांचक खेलों का आनंद लेने के लिए, कैनोइंग, कयाकिंग और वाटर स्कीइंग के लिए कांके बांध, रुक्का बांध, पतरातू बांध और डिमना झील की यात्रा की जा सकती है।

      हॉट एयर बैलून की रोमांचक सवारी के लिए मोराबादी, रांची, जमशेदपुर, देवघर और गिरिडीह जैसी जगहें पर्यटकों को बेहतरीन अनुभव प्रदान कराती है। उन्होंने बताया की झारखण्ड पर्यटन अपने डैम और जल प्रपातों के आस पास वहीं के लोगो को पर्यटकों के सत्कार का कार्यभार देते हैं जिससे उनके लिए अच्छे रोजगार का सृजन होता है।

      झारखण्ड पवेलियन में आज झारखंड भवन के मुख्य स्थानिक आयुक्त मस्त राम मीना ने पवेलियन का आलोकन किया और उद्योग विभाग द्वारा किए गए कार्यों की सराहना की।

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      - Advertisment -
      - Advertisment -
      संबंधित खबरें
      - Advertisment -
      error: Content is protected !!