अन्य
    Saturday, April 13, 2024
    अन्य

      प्रधान सचिव को पद से हटाकर गिरफ्तार करवाएं सीएम, हुआ सनसनीखेज वीडियो वायरल

      "भाजपा इस मामले में उपलब्ध वीडियो के साथ राज्यपाल से भी मिलेगी। मामले की गंभीरता को देखते इसकी विस्तृत और निष्पक्ष जाँच कराने की अपील उनसे होगी। सीबीआई जांच के लिए भी आग्रह होगा...

      राँची (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज)। भाजपा विधायक दल के नेता एवं प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने गृह, आपदा प्रबंधन, कारा के सचिव राजीव अरूण एक्का को तत्काल हटाए जाने की मांग राज्य सरकार से की है।

      marandi ekka 1
      भाजपा विधायक दल के नेता एवं प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी

      पार्टी कार्यालय में रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने एक फुटेज जारी करते हुए कहा कि पिछले दिनों ईडी की रडार पर आए दलाल विशाल चौधरी के कार्यालय में बैठकर मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव और गृह जैसे महत्वपूर्ण विभाग के सचिव सरकारी फाइल डील कर रहे हैं।

      चौधरी के कार्यालय की कोई महिला स्टाफ उनके पास खडी़ होकर फाइल दिखा रही। इस दौरान विशाल की आवाज गूंज रही है, जिसमें पैसे आने नहीं की बात सुनाई दे रही है। इतने महत्वपूर्ण पदाधिकारी का एक दलाल के कार्यालय में बैठकर सरकारी फाइलों की डील करना शर्मनाक है।

      बाबूलाल ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को तत्काल अपने प्रधान सचिव को हटाने, उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने तथा गिरफ्तार किए जाने की मांग की।

      बाबूलाल ने कहा कि भाजपा इस मामले में उपलब्ध वीडियो के साथ राज्यपाल से भी मिलेगी। मामले की गंभीरता को देखते इसकी विस्तृत और निष्पक्ष जाँच कराने की अपील उनसे होगी। सीबीआई जांच के लिए भी आग्रह होगा। इसके अलावा इडी से भी मामले की गंभीरता को देखते और भी सघन जांच करने का अनुरोध होगा।

      ekkka cruption
      ईडी के रडार पर आए दलाल विशाल चौधरी के कार्यालय में बैठकर कार्य करते मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का

      वहीं, प्रथम मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि हेमंत सोरेन बार बार खुद को ट्राइबल मुख्यमंत्री होने की दुहाई देते हैं। पर अपनी जिम्मेदारियों से बचने की कोशिश उन्हें सवालों के घेरे में खडी़ करती है। उनकी सुरक्षा में लगे जवानों का हथियार एके-47 एक अन्य दलाल प्रेम प्रकाश के घर से बरामद होने के बाद दोषियों पर कोई कार्रवाई अबतक नहीं हुई है।

      उन्होंने कहा कि पूजा सिंघल जैसे अफसर के खिलाफ राज्य की जांच एजेंसियों को परमिशन नहीं दी गई। बिहार के प्रथम मुख्यमंत्री लालू यादव भी अपने समय में फाइलों को इधर उधर घुमाते रहे। अंततः इसका खामियाजा उन्हें भुगतान पडा़। सत्ता किसी की जागीर नहीं।

      मरांडी ने यह भी कहा कि जिस तरह के कुकर्म सामने आ रहे हैं, मुख्यमंत्री को त्वरित एक्शन लेना चाहिए। अन्यथा लालू वाला हाल संभव है। आदिवासी मुख्यमंत्री के नाम पर वे कलंक साबित होंगे। राजीव अरुण एक्का के मामले में अब सरकार एक्शन ले वर्ना सारे मामले में उनकी संलिप्तता मानी जाएगी।

      नीचे देखिए ईडी के रडार पर आए दलाल विशाल चौधरी के कार्यालय में बैठकर कार्य करते मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का का वायरल वीडियो…

       

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!