अन्य
    Sunday, May 26, 2024
    अन्य

      डीएसपी पंकज रावत के गाँव समेत हिलसा नगर स्थित आवास पर भी आर्थिक अपराध इकाई का छापा

      बिहार शरीफ (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क )। बालू माफियाओं से सांठ-गांठ मामले में आरा के निलंबित डीएसपी पंकज कुमार रावत के कई ठिकानों पर छापेमारी की गयी।

      डीएसपी के नालंदा जिला के हिलसा नगर स्थित आवास पर भी आज छापामारी हुई। आर्थिक अपराध इकाई की टीम ने यहाँ दो मकानों पर छापेमारी की। इस दौरान पूरे इलाके में हड़कंप मच रहा।

      दरअसल पंकज कुमार रावत हिलसा नगर के रहने वाले हैं। इनकी पोस्टिंग आरा में थी। तभी परिवहन विभाग, खनन विभाग ने डीएसपी पंकज कुमार रावत समेत विभाग के कई लोगों के खिलाफ आर्थिक अपराध इकाई में मामला दर्ज किया था।

      इसके बाद आर्थिक अपराध इकाई की टीम आज शनिवार को हिलसा पहुंची और उनके पैतृक गृह मियां बिगहा में सघन छापेमारी की। इस दौरान छापामारी टीम को कई अहम सूचनाएं मिली है।

      इस दौरान परिवारवालों से भी पूछताछ की गयी। इस दौरान उनके सौतेले भाई अवधेश रावत को लेकर हिलसा पुलिस कुआं स्थित उनके आवास पर भी गयी। इस दौरान टीम के सदस्यों द्वारा मकान में रहनेवाले लोगों से पूछताछ की और तलाशी भी ली।

      आर्थिक अपराध इकाई के इंस्पेक्टर रामजी प्रसाद ने बताया कि पंकज रावत के ऊपर आर्थिक अपराध इकाई में आय से अधिक संपत्ति का मामला दर्ज किया गया है।  इसी मामले की जांच की जा रही है।

      निलंबित डीएसपी पंकज कुमार रावत के पिता राजेंद्र रावत रेलवे के रिटायर्ड इंजीनियर हैं। उनके आवास पर छापेमारी के लिए भारी संख्या में पुलिस बल को देख गांव वाले भी हैरान रह गए।

      कुछ देर तक तो लोगों को पता ही नहीं चला कि आखिर पुलिस और आर्थिक अपराध इकाई की टीम क्यों आई है। जब इस बात का पता चला कि छापेमारी के लिए टीम पहुंची है तो यह खबर पूरे गांव में आग की तरह फैल गयी। जिसके बाद लोगों की भीड़ उमड़ने लगी।

       

      1 COMMENT

      Comments are closed.

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!