अन्य
    Wednesday, June 19, 2024
    अन्य

      झारखंड की राजनीति में भूचाल, अब यहाँ बनेगी ‘राबड़ी सरकार’ !

      एक्सपर्ट मीडिया न्यूज डेस्क। झारखंड में सत्तारूढ़ झारखंड मुक्ति मोर्चा यानि झामुमो में एक विधायक के इस्तीफे के बाद राजनीतिक सरगर्मी तेज हो गई है। अचानक मुख्यमंत्री बदलने की चर्चा होने लगी है।

      भाजपा का दावा है कि हेमंत सोरेन की पत्नी कल्पना सोरेन को सीएम बनाने की तैयारी है और इसलिए गांडेय से विधायक डॉ. सरफराज अहमद से इस्तीफा कराया गया है। हेमंत सोरेन ईडी की सात नोटिस को दरकिनार कर चुके हैं। ऐसे में उनकी गिरफ्तारी की संभावना जताई जा रही है।

      भाजपा का यह भी दावा है कि हेमंत सोरेन को यदि गिरफ्तार किया जाता है तो वह लालू-राबड़ी की तर्ज पर अपनी पत्नी कल्पना सोरेन को सत्ता सौंप देंगे।

      हालांकि, झामुमो ने अभी अपने पत्ते नहीं खोले हैं। हेमंत सोरेने को ईडी के सातवें समन की अवधि बीतने के तुरंत बाद सरफराज अहमद ने इस्तीफा दिया है। लेकिन इससे झामुमो की रणनीति पर भाजपा के कयास की बहुत हद तक पुष्टि होती है।

      भाजपा का दावा है कि कल्पना सोरेन को चुनाव लड़वाने के लिए यह सुरक्षित सीट खाली कराई गई है। दरअसल, मुख्यमंत्री और मंत्री ऐसे व्यक्ति को भी बनाया जा सकता है, जो विधानसभा का सदस्य नहीं है, लेकिन छह महीने के भीतर उसे चुनाव जीतकर सदन में पहुंचना होता है।

      गांडेय आदिवासी, अल्पसंख्यक बहुल अनारक्षित सीट है। हेमंत सोरेन की पत्नी कल्पना सोरेन ओडिशा की रहने वाली हैं, ऐसे में उन्हें रिजर्व सीट से नहीं लड़ाया जा सकता है। भाजपा का कहना है कि इसलिए अनारक्षित सीट से इस्तीफा कराया गया है। अल्पसंख्यक और आदिवासी बहुल होने के कारण इस सीट को पार्टी सुरक्षित मान रही है।

      इसी बीच भाजपा के झारखंड प्रदेश अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी ने कहा है कि हेमंत सोरेन अपनी पत्नी कल्पना सोरेन को सीएम बनाना चाहते हैं। उन्होंने लालू-राबड़ी का उदाहरण देकर कहा, ‘झारखंड में भी बिहार के जंगल राज के जमाने का इतिहास दोहराने का प्रयास हो रहा है। चारा घोटालेबाज लालू प्रसाद जी के सारे पैंतरे फेल हो गए तो राबड़ी देवी को ‘खड़ाऊं मुख्यमंत्री’ बनाकर लालू जी जेल चले गए। एक के बाद एक सजा हुई। जेल जाते-आते उनकी पूरी उम्र निकल गई।

      अब आदिवासियों की जमीन जायदाद, जल, जंगल, जमीन, पहाड़, लूटकर थोड़े समय में ही बेहिसाब धन-दौलत जमा करने की भूख के चलते केस मुकदमे में फंसे सोरेन परिवार के एक्सीडेंटल राजकुमार हेमंत सोरेन के सारे पैंतरे फेल हो गए तो वे अब अपनी पत्नी को मुख्यमंत्री बनाकर खुद जेल जाने की योजना बना रहे हैं। हेमंत को पता है कि जितना घोटाला और गलत काम वो कर चुके हैं कि अब उनके बाकी का जीवन जेल जाने आने और केश मुकदमों में ही करेगा।”

      मरांडी मरांडी ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर यह भी कहा कि सोरेन परिवार ने सत्ता और पार्टी का शीर्ष पद परिवार के लिए ही रिजर्व रखा हुआ है, क्योंकि इन्हें और किसी पर भरोसा नहीं है। हालांकि राजनीति में वर्षों से सक्रिय अन्य सारे लोगों को ठेंगा दिखाकर राजनीति से दूर-दूर तक सरोकार नहीं रखने वाले अपनी पत्नी को मुख्यमंत्री बनाकर जेल से राजपाट चलाने की योजना को सफल बनाना हेमंत सोरेन के लिये उतना आसान नहीं है?

      अब समय बदल गया है। पब्लिक तक सारी बातें आसानी से पंहुच जाने की आधुनिक सुविधा के इस युग में ये सब मनमानी बहुत दिनों तक नहीं किया जा सकता। गांव देहात के लोगों तक यह बात पंहुच गई है कि हेमंत सोरेन ने झारखंड को दौलत की भूख में लूटकर बर्बाद कर दिया है और सिर्फ अपने लिये बेहिसाब धन-दौलत जमा करने का काम किया है। जनता सही समय पर इनके किए का हिसाब लेगी और सोरेन परिवार के आतंक एवं लूट राज से झारखंड को मुक्त करायेगी।

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!