अन्य
    Friday, March 1, 2024
    अन्य

      झारखंड का कुख्यात अखिलेश सिंह गैंग का इनामी शार्प शूटर राजगीर से गिरफ्तार

      जमशेदपुर (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज)। झारखंड में कुख्यात अखिलेश सिंह गैंग का इनामी शार्प शूटर हरीश सिंह को जमशेदपुर जिला पुलिस की स्पेशल टीम ने बिहार के राजगीर से गिरफ्तार कर लिया। वह अपने परिवार के साथ राजगीर घूमने गया था और दो दिनों से राजगीर में रह रहा था। पुलिस ने हरीश के पास से तीन मोबाइल फोन भी बरामद किया है।

      खबरों के मुताबिक देर रात पुलिस हरीश को लेकर शहर पहुंची, इसके बाद पूछताछ की गयी। हरीश सिंह पर शहर के अलग- अलग थाने में 16 केस दर्ज हैं।

      पिछले दिनों ही गृह, कारा और आपदा प्रबंधन विभाग ने हरीश सिंह पर 40 हजार रुपये इनाम की घोषणा की थी। हालांकि पुलिस मुख्यालय की ओर से फरार हरीश सिंह पर 15 लाख रुपये इनाम की घोषणा का प्रपोजल भेजा गया था। गिरफ्तार हरीश सिंह गैंगस्टर अखिलेश सिंह गिरोह का शार्प शूटर है।

      वह उपेन्द्र सिंह हत्याकांड में फरार चल रहा था। इसके अलावा भुइयांडीह नितिबाग गैंगवार, ठेकेदार से रंगदारी, जेल में मोबाइल बरामद, जेल में कैदियों से मारपीट के मामले में फरार था। कोर्ट से हरीश सिंह के खिलाफ वारंट निर्गत था। पुलिस के अनुसार गिरफ्तार हरीश सिंह शहर के कारोबारियों को फोन कर लगातार रंगदारी की मांग कर रहा था। इसकी सूचना मिलने पर स्पेशल टीम बनायी गयी। टीम उसका लगातार पीछा कर रही थी।

      पुलिस कर रही पूछताछः गिरफ्तार हरीश सिंह से पुलिस अमरनाथ सिंह के अलावा उसके गिरोह के रंजीत सरदार और प्रदीप सिंह हत्याकांड में पूछताछ कर रही है। पुलिस हरीश सिंह और गणेश सिंह के बीच के संबंध का भी पता लगा रही है। हरीश सिंह मानगो के गैंगस्टर गणेश सिंह के लिए भी बतौर शूटर का काम कर रहा था।

      वेश बदलने में है माहिर हरीश सिंहः राजगीर में नाम बदलकर रह रहा था। वह वेश बदलने में माहिर है। पिछले दिनों उपेन्द्र सिंह हत्याकांड में हरीश अधिवक्ता के ड्रेस में कोर्ट पहुंचा था। कोर्ट में गवाही देने के बाद फरार हो गया। पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लगी। हरीश बीच-बीच में वेश बदलकर शहर में अपने गिरोह के सदस्यों से मिलने आता था।

      बरामद मोबाइल की कॉल हिस्ट्री की चल रही जांचः पुलिस हरीश सिंह के पास से बरामद मोबाइल की कॉल हिस्ट्री की जांच कर रही है। हरीश के पकड़े जाने से उसके गिरोह के सदस्य के अलावा कई सफेदपोश लोगों में भी हड़कंप है।

      हरीश सिंह पिछले 30 दिसंबर को मानगो में एक राजनेता के पास रहा था। राजनेता का भाई हरीश के गिरोह से जुड़ा है। शहर में रहकर हरीश सिंह ने कारोबारियों से फोन कर रंगदारी की मांग की। वह वाट्सअप और मैसेंजर कॉलिंग के जरिये गिरोह के सदस्यों से बातचीत करता था।

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      - Advertisment -
      - Advertisment -
      संबंधित खबरें
      - Advertisment -
      error: Content is protected !!