महिला सिपाही की मौत की प्राथमिकी दर्ज होते ही थानेदार फरार, बड़ा रोचक-संगीन है मामला

पटना (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज)। बिहार के अररिया जिले में एक महिला सिपाही की कथित आत्महत्या मामले में संबंधित थानेदार पर प्राथमिकी दर्ज की गई है। जिसके बाद से आरोपी नरपतगंज थानाध्यक्ष किंग कुंदन को फरार घोषित किया गया है।  

खबर है कि बीते शुक्रवार को महिला सिपाही श्रुति कुमारी ने फांसी लगाकर कथित आत्महत्या कर ली। श्रुति का शव सिमराहा स्थित आवास पर फंदे से झूलता हुआ बरामद हुआ है। सिपाही श्रुति सिमराहा थाना में पदस्थापित थीं। 

घटना की सूचना के बाद एसपी हृदयकान्त घटना स्थल पर पहुंचे और एफएसएल टीम के आने तक शव को नहीं उतारने का आदेश दिया। शुक्रवार की देर रात तक एफएसएल की टीम सिमराहा पहुंची और शव को उतारा गया।

शुक्रवार की देर रात सिपाही श्रुति के पति गौरव कुमार भी सिमराहा पहुंचे। गौरव ने अपनी पत्नी श्रुति के आत्महत्या के लिए नरपतगंज थानाध्यक्ष किंग कुंदन को दोषी बताते हुए सिमराहा थाना में एक आवेदन दिया। जिसके बाद थानेदार किंग कुंदन पर केस दर्ज हो गया है।

सूत्रों के मुताबिक सिपाही श्रुति और थानेदार किंग कुंदन के बीच इसी तरह के विवाद का निबटारा पिछली वरीय पुलिस अधिकारी और किंग कुंदन की पत्नी ने किया था।

बहरहाल, पूर्व में अररिया नगर थानाध्यक्ष और वर्तमान में नरपतगंज थानाध्यक्ष किंग कुंदन पर श्रुति के पति गौरव कुमार गुप्ता ने आईपीसी की धारा 306 के तहत सिमराहा थाना में केस दर्ज किया है।

थाना कांड संख्या 752/20 दर्ज केस में महिला थानाध्यक्ष रीता कुमारी केस की जांच कर रही हैं। अब फारबिसगंज थाना को केस ट्रांसफर किया गया है। सिपाही श्रुति के पति ने ब्यान देते वक्त सहमे हुए थे।

अपनी सिपाही पत्नी श्रुति को खो चुके पति गौरव कहना था कि बहुत कुछ चाह रहे थे, लेकिन हावभाव से सहमे हुए भी नजर आ रहे रहे।

उन्होंने सिर्फ इतना कहा कि मैंने वरीय अधिकारियों को किंग कुंदन के खिलाफ लिखित शिकायत कर दी है। देर ही सही इंसाफ जरूर होगा।  चूंकि आरोपी एक थाने का दरोगा है।

बता दें कि सिमराहा थाना में पदस्थापित महिला कांस्टेबल ने फांसी से लटककर सांसों को अलविदा तो कह दिया, लेकिन श्रुति के पति गौरव कुमार के आते हीं कहानी पलट गई और मुख्य आरोपी थानेदार किंग कुंदन को बनाते हुए केस भी दर्ज हो गया।

गौरव कुमार गुप्ता ने अपने लिखित आवेदन में कहा है कि मेरी पत्नी को किंग कुंदन साथ रखने और बाद में बच्चों की कसम देकर साथ नहीं रखने की हालत बनी और मेरी पत्नी ने मानसिक रूप से प्रताड़ित होकर जान दे दी। गौरव साफ तौर पर सहमे हुए नजर आ रहे थे।

उधर सिमराहा थाना में पदस्थापित महिला कांस्टेबल श्रुति कथित खुदकुशी मामले में नरपतगंज थानेदार किंग कुंदन को सस्पेंड कर दिया गया है और SP हृदयकान्त ने SHO की गिरफ्तारी का भी आदेश दिया है।

इसकी पुष्टि करते हुए फारबिसगंज एसडीपीओ गौतम कुमार ने करते हुए कहा कि गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। आरोपी मौके से फरार बताया जा रहा है।

हालांकि बड़ा सवाल उठता है कि इस केस के मुख्य आरोपी थानेदार किंग कुंदन को मुख्यालय से विभाग द्वारा ही सूचना मिली होगी तभी तो वो गिरफ्तारी से पूर्व थाना के मुंसी को मोबाइल सिम देकर चम्पत हो गए और फारबिसगंज पुलिस छापेमारी का ड्रामा करती नजर आई।

यह भी बताते चलें कि सिपाही श्रुति ने शुक्रवार की सुबह 5 बजे अपने पति गौरव कुमार गुप्ता को फोन किया और कहा मुझे माफ़ कर देना गौरव और फांसी पर झूल गई।

श्रुति के पति ने कहा कि उसे फोन पर बहुत समझाया। मैं उसके पास नहीं था। मैं कुछ नहीं कर सका और वो मुझे छोड़ कर चली गई।

श्रुति के पति गौरव ने बताया कि वो थानेदार के साथ रहना चाहती थी। इसी आश्वासन पर वो जी रही थी, लेकिन जब थानेदार ने उसे धोखा दिया तो वो बर्दास्त नहीं कर सकी और अपनी जान दे दी।

उस थानेदार से वो लगातार फोन पर बातचीत करती थी और चैट भी होता रहता था। मौत से एक दिन पहले वीडियो सोशल मीडिया पर छोड़कर अलविदा कह कर चली गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.