अन्य
    Wednesday, February 21, 2024
    अन्य

      देखिए सुशासन के PMCH का कारनामा, जिंदा मरीज का डेथ सर्टिफिकेट बनाकर शव भी दे दी, श्मशान  घाट पर खुली पोल

      एक्सपर्ट मीडिया न्यूज डेस्क।  वेशक बिहार के जदयू-भाजपा नीत नीतीश सरकार की स्वास्थ्य तंत्र कोविड-19 की जंग कितनी मुस्तैदी से लड़ रही है, इसको सूबे के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल पटना पीएमसीएच ने बिल्कुल नंगा करके रख दिया है।

      इसे लापरवाही की हद ही कहेंगे कि पीएमसीएच के कर्णधारों ने एक जिंदा मरीज को मुर्दा घोषित करते हुए दूसरे मरीज के शव को पैक कर दाह संस्कार के लिए सौंप दिया।

      PMCHs great deeds of good governance dead body of dead patient dead body cremation ground open 3
      PMCH पटना में ईलाजरत बाढ़ निवासी चुन्नू कुमार की ताजा वायरल वीडियो फोटो…

      ईलाजरत एक 40 वर्षीय मरीज को अस्पताल प्रबंधन की ओर से मृत्यु का प्रमाणपत्र सौंपते हुए उसका शव भी परिजनों को सौंप दी गई, जबकि वह जिंदा अस्पताल में सकुशल ईलाजरत है।

      इसका खुलासा तब हुआ, जब परिजन किसी दुसरे के शव को रोते-बिलखते अंतिम संस्कार के लिए श्मशान घाट ले गए और मुखाग्नि के लिए शव के कवर को जैसे ही हटाया, सबके पैर तले की जमीन खिसक गई। उनके होश उड़ गए। क्योंकि ये उस मरीज की लाश नहीं थी, जिसका वे इलाज कराने आये थे।

      खबर है कि पटना जिले के बाढ़ निवासी चुन्नू कुमार को ब्रेन हैमरेज हुआ। बीते 9 अप्रैल को उसे पीएमसीएच में भर्ती कराया गया। डॉक्टर उनका इलाज जारी था। इसी बीच वहाँ मौजूद परिजनों को सूचना दी गई कि चुन्नू कुमार की मौत हो गई है। जिंदा चुन्नू की मौत की खबर मिलते ही परिजनों में हड़कंप मच गई।

      उसके बाद पीएमसीच प्रबंधन ने जिंदा चुन्नू का डेथ सर्टिफिकेट सौंप दिया। उन्हें चुन्नु की बताकर एक लाश भी दे दी गई। चुन्नू के परिजन उस शव को लेकर अंतिम संस्कार करने पटना के बांस घाट पर पहुंचे।PMCHs great deeds of good governance dead body of dead patient dead body cremation ground open

      श्मशान घाट पर शव को जलाने से पहले चुन्नू कुमार की पत्नी आखिरी बार अपने पति चुन्नू का चेहरा देखने की इच्छा व्यक्त की। जिसकी बात मानकर जब परिजनों ने लाश के चेहरे से कवर को हटाया तो उनके होश उड़ गए।

      दरअसल चुन्नू समझकर जिसका वे अंतिम संस्कार कर रहे थे, वे चुन्नू की नहीं, बल्कि किसी और की लाश थी।

      इस घटना के बाद चुन्नू के घरवालों ने थोड़ी राहत की सांस ली। वे आनन-फानन में दौड़े-दौड़े पीएमसीएच पहुंचे और प्रबंधन को पूरी बात बताई। अंदर जाकर पड़ताल किया गया तो पता चला की चुन्नू मरा नहीं, बल्कि जिंदा है और उसका इलाज चल रहा है।

      बहरहाल, इस शर्मनाक व्यवस्था को लेकर पीएमसीएच प्रबंधन ने स्वास्थ्य प्रबंधक अंजली कुमारी की लापरवाही मानते हुए तत्काल त्तकाल प्रभाव से नौकरी से बर्खास्त कर दिया है।

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      - Advertisment -
      - Advertisment -
      संबंधित खबरें
      - Advertisment -
      error: Content is protected !!