अन्य
    Sunday, April 14, 2024
    अन्य

      पूर्व सीएम के आप्त सचिव के बुजुर्ग माता-पिता की गला रेतकर नृशंस हत्या

      मृत दंपती की पहचान राजेश्वर सिंह चंद्रवंशी व उनकी पत्नी शर्मिला देवी के रूप में की गयी है। राजेश्वर सिंह चंद्रवंशी फौज से रिटायर हुये थे। फौज से रिटायर होने के बाद वह राजनीति में आ गये थे। फिलहाल वह राजद में थे

      राँची (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज डेस्क)।  झारखंड के पलामू जिले के मेदिनीनगर में राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव के आप्त सचिव अरविंद कुमार के माता-पिता की गला रेत कर हत्या कर दी गयी है। इस वारदात से समूचे झारखंड में सनसनी फैल गई है। 

      उनके माता-पिता मेदिनीनगर के कुंड मोहल्ला स्थित आवास में रहते थे। आज गुरूवार की सुबह दोनों का शव अलग-अलग कमरे में पड़ा मिला। पुलिस जांच में जुट गयी है।

      Brutal murder of elderly parents of former CMs emergency secretary 2
      घटनास्थल पर पहुंचे पलामू एसपी चंदन कुमार सिन्हा…

      इस जघन्य वारदात की सूचना मिलते ही पलामू एसपी चंदन कुमार सिन्हा घटनास्थल पर पहुंचे। पुलिस हत्यारों तक पहुंचने के लिए खोजी कुत्ते की मदद ले रही है। प्रारंभिक अनुसंधान में हत्या का कारण स्पष्ट नहीं हो पाया है।

      घटना रात में हुई या सुबह यह भी स्पष्ट नहीं है। पुलिस परिजनों से बुजुर्ग दंपती की रूटीन की जानकारी लेकर छानबीन में जुट गयी है। घटनास्थल को सील कर दिया गया है। रांची से एक्सपर्ट की टीम मौके पर पहुंच रही है।

      खबरों के मुताबिक इस संबंध में पलामू एसपी ने बताया कि गुरुवार की सुबह सूचना मिली कि कुंड मोहल्ला में एक बुजुर्ग दंपती की लाश उनके कमरे में पड़ी हुई मिली है।

      बुजुर्ग की लाश बाहर के कमरे में पड़ी थी, जबकि महिला का शव रसोई घर में पड़ा हुआ था। दोनों शव खून से लथपथ थे। हत्या में तेज धारदार हथियार का प्रयोग किया प्रतीत होता है।

      एसपी चंदन कुमार सिन्हा के अनुसार घटनास्थल को देखने के बाद ऐसा लग रहा है कि अपराधी घर के अंदर हत्या करने की नीयत से ही घुसे थे। कमरे की अलमारी तोड़ी गयी है, लेकिन बुजुर्ग दंपती पर जिस तरह से वार किए गए हैं। उससे प्रतीत होता है कि किसी दुश्मनी की वजह से गुस्से में हत्या की गयी है।

      उन्होंने बताया कि घटनास्थल से सारे तथ्य संग्रह करने के बाद सील हटाया जायेगा। पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि उनकी रूटीन में क्या क्या था। कैसे और कौन कौन लोगों से मिलना जुलना होता था। किसी तरह की कोई पुरानी रंजिश थी या नहीं।

      बताया जाता है कि फौजी राजेश्वर सिंह चंद्रवंशी के छोटे पुत्र अरविंद कुमार पूर्व में झारखंड के मुख्यमंत्री सचिवालय में कार्यरत थे। वे पूर्व मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव के आप्त सचिव थे। राजेश्वर सिंह के बड़े पुत्र अरुण कुमार चंद्रवंशी पलामू प्रमंडलीय आयुक्त के यहां कार्यरत हैं। अरुण कुमार इससे पहले जिला जनसंपर्क कार्यालय में कार्यरत थे।

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!