अन्य

    मेला बंद कराने पहुंची प्रशासन टीम पर हमला, थानेदार समेत कई पुलिसकर्मी जख्मी

    राँची (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज)। झारखंड के सरायकेला-खरसावां जिला के नीमडीह थाना अंतर्गत बामणी गांव में बड़ी घटना घटी है। जहां भोक्ता मेला के आयोजन को बंद कराने पहुंची नीमडीह थाना पुलिस और प्रशासन को भारी आक्रोश झेलना पड़ा है। यहां ग्रामीणों ने पुलिस बल पर पथराव किया और कई पुलिसकर्मियों को मारपीट कर घायल कर दिया है।

    बताया जाता है कि बामणी गांव में भोक्ता पूजा का आयोजन किया गया था जिसमें मेले का भी आयोजन किया गया था कोरोना के कारण मेले पर प्रतिबंध होने के बावजूद इस तरह के आयोजन की सूचना मिलते ही नीमडीह बीडीओ मुकेश कुमार और थाना प्रभारी मोहम्मद अली अकबर दलबल के साथ बामनी गाँव पहुंचे और जबरन मेला बंद कराने लगे।

    वहीं नीमडीह प्रखंड प्रमुख आशीष पत्रो का भतीजा बुलबुल पत्रो ने ग्रामीण के साथ पुलिस प्रशासन का विरोध शुरू कर दिया और देखते ही देखते पुलिस प्रशासन के साथ हाथापाई और पथराव शुरु कर दी।

    ग्रामीणों ने थाना प्रभारी के साथ भी हाथापाई कर डाली। इस हमले में कई पुलिस के जवान घायल हुए हैं। जिनका स्थानीय अस्पताल में इलाज चल रहा है।

     पुलिस टीम को ग्रामीणों ने चारों तरफ से घेर कर खदेड़-खदेड़ कर पीटा है। इसमें थाना प्रभारी को भी गंभीर चोटें आई है।

    मामले की जानकारी मिलते ही चांडिल एसडीओ एसडीपीओ दल बल के साथ मौके पर पहुंचे और पूरे गांव को सील कर बुलबुल पात्रो को गिरफ्तार कर अपने साथ ले जाने के प्रयास में जुटी हुई है।

    हालांकि ग्रामीणों ने रास्ता जाम कर दिया है, जिसे समझाने में एसडीओ और एसडीपीओ जुटे हुए हैं।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    अन्य खबरें