यूं भरभरा रहा है झारखंड विधानसभा का नया भवन, पीएम मोदी ने किया था उद्घाटन

0

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज डेस्क। लगता है झारखंड प्रांत के नए विधानसभा भवन को भ्रष्टाचार की नजर लग गई है। क्योंकि आज राजधानी रांची के प्रसिद्ध धुर्वा क्रिकेट ग्राउंड के पास स्थित बने इस नए विधानसभा भवन की लाइब्रेरी की सिलिंग टूट कर गिर गयी। इससे पहले 4 दिसंबर, 2019 को नई विधानसभा भवन में आग लग गई थी।

इस नए विधानसभा का निर्माण कार्य राम कृपाल कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड ने कराया है। झारखंड विधानसभा का यह नया भवन अलग राज्य बनने के 19 साल बाद 39 एकड़ में 465 करोड़ की लागत से बना है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 12 सितंबर को झारखंड के नवनिर्मित विधानसभा भवन का उद्घाटन किया था। इसमें 162 विधायकों के बैठने की क्षमता है।

विधानसभा भवन के निर्माण का काम 390 करोड़ में मेसर्स रामकृपाल सिंह कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड को मिला था। उसके बाद स्ट्रक्चर और फर्निशिंग आइटम में तब्दीली के बाद 75 करोड़ रुपये का दूसरा टेंडर भी किया गया।

विधानसभा भवन की लाइब्रेरी की सिलिंग टूटने पर विधानसभा सचिव महेंद्र प्रसाद की त्वरित टिप्पणी भी आ गई कि खुशकिस्मती रही कि सिलिंग टूटने के समय वहां कोई मौजूद नहीं था। नए भवन के निर्माण कार्य में कई तरह की खामियां हैं।

उन्होंने कहा कि इसकी जानकारी मुख्य सचिव और भवन निर्माण सचिव को दे दी गई है, जल्द कार्रवाई का आग्रह किया गया है।

झारखंड विधानसभा के नए विधानसभा भवन की यह रही खासियत है कि यह करीब 39 एकड़ में बना तीन मंजिला भवन है। 465 करोड़ रुपए लागत से निर्मित इसका बिल्डअप एरिया 57,220 वर्ग मीटर है। इस भवन के उपर देख का पहला 37 मीटर ऊंचा गुंबद बना हुआ है।

यह देश की पहली पेपरलेस विधानसभा है। यहां जल और ऊर्जा संरक्षण की व्यवस्था की खास व्यवस्था की गई है। इसकी छत पर झारखंडी संस्कृति की बखूबी झलक देखने को मिलती है।

यहां आगंतुकों के लिए खास गैलरी बनाई गई है। यहां के कांफ्रेंस हॉल में 400 लोगों के बैठने की क्षमता है। यहां सौर ऊर्जा से बिजली की आपूर्ति होती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here