अन्य
    Wednesday, April 17, 2024
    अन्य

      नीतीश सरकार के मंत्री ने की इस्तीफा की पेशकश, कहा- उनकी नहीं सुनते अफसर

      प्रधान सचिव अतुल प्रसाद मंत्री की बात ही नहीं सुनते। प्रधान सचिव के रवैये को लेकर उन्होंने उपर भी शिकायत की लेकिन कोई सुनवाई नहीं की गयी। पूरा समाज कल्याण विभाग चौपट हो गया है

      एक्सपर्ट मीडिया न्यूज डेस्क।  बिहार सरकार में समाज कल्याण मंत्री मदन सहनी ने इस्तीफे की पेशकश करते हुए कहा है कि उनके विभाग में अधिकारियों का राज चल रहा है औऱ अब उनके पास कोई दूसरा रास्ता नहीं बचा। उन्होंने अपने विभाग के प्रधान सचिव अतुल प्रसाद पर गंभीर आऱोप लगाये हैं।

      खबर है कि समाज कल्याण विभाग में ट्रांसफर पोस्टिंग को लेकर मंत्री औऱ प्रधान सचिव के बीच विवाद हुआ था। इसके कारण सीडीपीओ समेत विभाग के कई दूसरे अधिकारियों का ट्रांसफर जून महीने में नहीं हो पाया था।

      इस दौरान मंत्री औऱ प्रधान सचिव में घमासान लगातार बढ़ता जा रहा था। जून में ट्रांसफर कर पाने में सफल नहीं हो पाये मंत्री ने आज इस्तीफे की पेशकश कर दी।

      खबरों के मुताबिक मंत्री मदन सहनी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि समाज कल्याण विभाग के प्रधान सचिव अतुल प्रसाद ने पूरे विभाग को चौपट कर दिया है। विभाग में कोई काम नहीं हो रहा है। ट्रांसफर पोस्टिंग में मंत्री की नहीं सुनी जा रही है।

      उन्होंने कहा कि प्रधान सचिव चार सालों से विभाग में जमे हैं। प्रधान सचिव बतायें कि उन्होंने क्या किया। विभाग के कई अहम पदों पर सालों से एक ही अधिकारी जमे हुए हैं। उनके कारण सही तरीके से काम नहीं हो पा रहा है।

      मदन सहनी ने कहा कि प्रधान सचिव मंत्री की बात ही नहीं सुनते। प्रधान सचिव के रवैये को लेकर उन्होंने उपर भी शिकायत की लेकिन कोई सुनवाई नहीं की गयी। पूरा समाज कल्याण विभाग चौपट हो गया है। इसलिए उनके पास इस्तीफा देने के अलावा कोई रास्ता नहीं बचा है।

      खबरों की मानें तो सारा मामला ट्रांसफर पोस्टिंग से जुड़ा है। जून के महीने में विभागों को अपने स्तर पर ट्रांसफर करने की छूट होती है। लेकिन इस बार समाज कल्याण विभाग के मंत्री मदन सहनी के ट्रांसफर करने की कवायद को प्रधान सचिव ने मानने से इंकार कर दिया था। मंत्री औऱ सचिव की लड़ाई में विभाग में ट्रांसफर ही नहीं हो पाया।

      दरअसल, मंत्री बड़े पैमाने पर सीडीपीओ का ट्रांसफर करना चाहते थे। प्रधान सचिव ने मंत्री की सिफारिशों को मानने से इंकार कर दिया था। इसके बाद मंत्री ने इस्तीफे की पेशकश की है।

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!