अन्य
    Sunday, April 14, 2024
    अन्य

      सरायकेला थाना के बाल मित्र कक्ष में नाबालिग ने लगाई फांसी, थानेदार सस्पेंड

      जमशेदपुर (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज)। सरायकेला खरसावां जिले के सरायकेला थाना के बाल मित्र कक्ष में पूर्वी सिंहभूम के धालभूमगढ़ थाना क्षेत्र के रहने वाले नाबालिग ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना बुधवार दिन 11 बजे की है।

      Minor hanged in child friend room of Seraikela police station police station suspendedहालांकि, थाना प्रभारी मनोहर कुमार ने मामले को दबाने का प्रयास किया, पर मामला उजागर होने के बाद एसपी आनंद प्रकाश ने तत्काल कार्रवाई करते हुए थाना प्रभारी मनोहर कुमार को निलंबित कर दिया है और तत्काल प्रभाव से सर्किल इंस्पेक्टर राम अनूप महतो को थाना का प्रभार दिया गया है।

      खबरों के मुताबिक बुधवार दिन के करीब 11 बजे सरायकेला थाना परिसर स्थित बाल मित्र कक्ष में मोहन मुर्मू नामक नाबालिग ने बेल्ट के सहारे फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। जिसके बाद इस घटना ने तूल पकड़ ली है।

      मामले की सूचना मिलते ही एसपी आनंद प्रकाश, एसडीपीओ हरविंदर सिंह एवं गम्हरिया थाना प्रभारी राजीव कुमार सिंह बुधवार देर रात सरायकेला थाना पहुंचे और मामले की जांच की।

      बताया जा रहा है कि बीते 26 अक्टूबर को सरायकेला थाना अंतर्गत गोहिरा की रहने वाली एक नाबालिग के परिजनों ने थाने में गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई थी। 27 अक्टूबर को युवती को उसके कथित प्रेमी मोहन मुर्मू के साथ परिजन दोनों को थाने लेकर पहुंचे। जहां परिजनों ने युवक को पुलिस को सौंप दिया, जबकि युवती को अपने साथ वापस घर ले गए।

      इस बीच युवक के परिजनों के आने तक उसे थाने में ही रखा गया। जहां 3 दिन बाद बुधवार को युवक ने बालमित्र कक्ष में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

      जबकि युवती के परिजनों ने युवक के खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं कराया है। बावजूद इसके युवक को हिरासत में तीन दिनों तक रखा गया वो भी बगैर सुरक्षा मानकों के। हाजत में हुई मौत के बाद पुलिस पर भी सवाल उठ रहे हैं।

      थाना प्रभारी मनोहर कुमार का कहना है कि मामले की जांच का जिम्मा जिस अधिकारी को दिया गया था, उसकी लापरवाही से यह घटना हुई है। यदि समय पर युवक के परिजनों को सूचित कर उनके हवाले कर दिया गया होता तो यह नौबत नहीं आती।

      गौरतलब है कि जब युवती के परिजनों ने किसी प्रकार की कोई शिकायत ही दर्ज नहीं कराई तो आखिर युवक ने आत्महत्या क्यों की ? कहीं उसके साथ कोई अनहोनी तो नहीं हुई ? बहरहाल सभी की निगाहें पोस्टमार्टम रिपोर्ट और एसपी की कार्रवाई पर टिकी है।

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!