अन्य
    Sunday, May 26, 2024
    अन्य

      बिहारः वार्षिक बजट में सरकार ये 6 सूत्री एजेंडे शीर्ष पर, जानें किस मद में क्या मिला

      स्वास्थ्य, शिक्षा, कृषि में निवेश, कृषि, ग्रामीण, शहरी आधारभूत संरचना का विकास और विभिन्न वर्गों का विकास छह सूत्री एजेंडे में बांटा गया है....

      पटना (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क)। बिहार के डिप्टी सीएम सह वित्त मंत्री तारकिशोर प्रसाद ने आज विधानसभा में अपना दूसरा राज्य का वार्षिक बजट पेश किया। उन्होंने 2.37 लाख करोड़ रुपए के बजट में हर वर्ग के लोगों के लिए कुछ-न -कुछ घोषणाएं की है।

      Bihar In the annual budget this 6 point agenda is on the top of the government what did the zones get 2बजट में बताया गया है कि राज्य सरकार युवाओं के लिए तीन नई यूनिवर्सिटी खोल रही है। वहीं, राज्य के विश्वविद्यालयों में 18,899 सीटों को बढ़ाया गया है। दलहन और तिलहन की उपज को बढ़ाने के लिए सरकार किसानों को दलहन और तिलहन के बीज भी फ्री में उपलब्ध कराएगी।

      नीतीश सरकार के नए वार्षिक बजट में कुल 6 सूत्री एजेंडे को शीर्ष पर रखा गया है। सरकार ने यह तय किया है कि इन्हीं छह क्षेत्रों में ज्यादा फोकस किया जाएगा।

      तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि स्वास्थ्य, शिक्षा, कृषि में निवेश, कृषि, ग्रामीण, शहरी आधारभूत संरचना का विकास और विभिन्न वर्गों का विकास इन छह सूत्रों में इस साल के बजट को बांटा गया है।

      सरकार ने छह सूत्री एजेंडे में सबसे पहले स्वास्थ्य को रखा है। स्वास्थ्य व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने के साथ साथ कोरोना वायरस के दौर में और उसके बाद राज्य में टीकाकरण से लेकर अन्य तरह के स्वास्थ्य इंतजामों को लेकर राज्य सरकार ने अपना संकल्प दिखाया है।

      वित्त मंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य सुरक्षा में सुधार के लिए 16,134 करोड़ आवंटित किए गए हैं। उन्होंने कहा कि बजट का 65 प्रतिशत सामाजिक क्षेत्र में खर्च होगा।

      बिहार सरकार के बजट में दूसरे क्षेत्र के स्थान पर शिक्षा को स्थान दिया गया है। राज्य सरकार शिक्षा व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए एक बार फिर अपना संकल्प दिखाती नजर आयी है।

      तारकिशोर प्रसाद ने ऐलान किया है कि शिक्षा को राज्य सरकार इस साल भी अपने बजट में प्राथमिकता देगी। शिक्षा व्यवस्था को बेहतर करने के लिए शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया जारी रहेगी। साथ ही भवनहीन स्कूलों को जल्द ही भवन मुहैया कराने के लिए भी हर संभव कदम उठाया जाएगा।

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!