अन्य
    Saturday, May 25, 2024
    अन्य

      बेगूसराय में बोले बिहार के सीएम नीतीश कुमार- ‘शराब पीने से एड्स होता है’

      कुछ लोग गड़बड़ करने वाले होते ही हैं। शराबबंदी सर्वसमत्ति से लागू किया गया था, लेकिन पता नहीं कुछ लोग किस तरह राजनीति करते हैं। कुछ लोग अपने आप को काबिल समझता है। पढ़ेगा भी दारू भी पिएगा

      बेगूसराय (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क)। समाज सुधार अभियान के तहत बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शनिवार को बेगूसराय पहुंचे। यहां आईटीआई मैदान में आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने बेगूसराय और खगड़िया जिले की करीब एक हजार जीविका दीदियों को संबोधित किया।

      इस दौरान नीतीश कुमार ने शराबबंदी के नुकसान को गिनाते-गिनाते यह भी कहा कि शराब पीने से एड्स होता है। वे डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट का हवाला दे रहे थे। इसके पहले भी वे इस बात को कह चुके हैं। जिसपर तेजस्वी यादव ने चुटकी भी ली थी।

      नीतीश कुमार ने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपोर्ट के मुताबिक शराब 200 बीमारियों को बढ़ाती है। शराब के सेवन से कैंसर, एड्स, हेपेटाइटिस, टीबी, लीवर, दिल की बीमारी, मानसिक बीमारी और माता-शिशु से संबंधित बीमारियां भी बढ़ती हैं। ये विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपोर्ट है।

      इस दौरान उन्होंने पुरानी बातों को ही दोहराया और कहा- “कुछ लोग गड़बड़ करने वाले होते ही हैं। शराबबंदी सर्वसमत्ति से लागू किया गया था, लेकिन पता नहीं कुछ लोग किस तरह राजनीति करते हैं। गांधी जी ने कहा था कि शराब से न सिर्फ पैसा जाएगा बल्कि पीने वाले की बुद्धि भी चली जाएगी। कुछ लोग अपने आप को काबिल समझता है। पढ़ेगा भी दारू भी पिएगा। दारू पीते हो तो देश का नुकसान कर रहे हो। हर राज्य सरकार को इसे लागू करने का अधिकार है।”

      नीतीश कुमार ने कहा कि 2015 में जब वे जीविका समूह और कुछ अन्य कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे तो उसी बीच जीविका दीदियों ने मांग की थी कि शराबबंदी लागू की जाए। वे अपनी बात कह कर बैठ गए और जब जाने लगे तो उनसे शराबबंदी लागू करने की मांग की गई। इसपर उन्होंने कह दिया कि जब वे सरकार में आएंगे तो लागू करेंगे और जब उनकी सरकार बनी तो लागू किया।

      उन्होंने आगे कहा कि मंच पर केके पाठक हैं, इन्हीं को उस समय शराबबंदी की जिम्मेदारी दी गई थी। बीचे में ये भारत सरकार में गए हुए थे और जब लौटकर आए तो फिर उन्हें ये जिम्मेदारी दे दी गई। गड़बड़ करने वाले होते ही हैं।

      मुख्यमंत्री के आने से पहले मंच के बगल में एक और मंच बनाया गया था जिससे समाज सुधार से संबंधित कई तरह के कार्यक्रम का आयोजन हुआ। नशा मुक्ति, दहेज मुक्ति और बाल विवाह को लेकर जागरूकता के संदेश दिए गए। सभा स्थल पर करीब 12 बजे मुख्यमंत्री हेलीकॉप्टर से बेगूसराय के आईटीआई मैदान पहुंचे थे।

      गर्भवती हुई नाबालिग तो हुआ खुलासा, 3 माह पहले हुई थी गैंगरेप !

      नालंदाः स्पीडी ट्रायल से मिला न्याय, 22 साल बाद बैल चोर हुआ दोषमुक्त, आज होगा रिहा‎

      कृषक यंत्र लोडेड ट्रक अनियंत्रित होकर यूं खाई में पलटी, चालक गंभीर

      सीएम के दबाव में पूर्व आईपीएस का बयान दर्ज नहीं कर रही एसआईटी, मामला गायघाट महिला रिमांड होम का

      गिरिडीह : आत्मिक शांति के लिए साई द्याम में बनायी गयी है अद्धभुत गुफा

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!