अन्य
    Sunday, May 26, 2024
    अन्य

      बिहार से जुड़ा आर्यन खान ड्रग्स केस, मोतिहारी जेल में बंद दो कुख्यात तस्कर को रिमांड पर लेगी एनसीबी

      मोतिहारी ( एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क )। महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई के चर्चित क्रूज ड्रग्स केस का कनेक्शन अब बिहार से जुड़ गया है। मुंबई एनसीबी ने ड्रग्स पार्टी में अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान के साथ जिन आठ नशेड़ियों को गिरफ्तार किया है, उनमें एक आरोपी मोतिहारी सेंट्रल जेल में बंद ड्रग्स तस्कर विजय वंशी प्रसाद का करीबी रिश्तेदार है।

      Aryan Khan drugs case related to Bihar NCB will take remand two notorious smugglers lodged in Motihari jailखबरों के मुताबिक विजय मुंबई के मलाड पूर्वी के कुरार विलेज का रहने वाला है। उसका साथी मलाड पूर्वी के शिवशिक्त मंडल अंबेडकर सागर का मो. उस्मान शेख भी मोतिहारी सेंट्रल जेल में बंद है।

      अब इन दोनों कुख्यात ड्रग्स तस्कर से नए सिरे से पूछताछ के लिए मुंबई एनसीबी की टीम (नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो) सात दिनों की ट्रांजिट रिमांड पर अपने साथ ले जाएगी। इसके लिए कागजी प्रक्रिया पूरी कर ली है।

      एनसीबी की टीम और कांदीवली वेस्ट थाने की पुलिस मोतिहारी में कैंप कर रही है। विजय व उस्मान पर मोतिहारी के चकिया थाने में केस दर्ज है। इस केस के आईओ चकिया थाना के दारोगा संदीप कुमार ने इसकी पुष्टि की है।

      खबरों के मुताबिक क्रूज पर ड्रग्स पार्टी के दौरान आर्यन के साथ जिन आठ लोगों की गिरफ्तारी हुई थी, उनमें मोतिहारी सेंट्रल जेल में बंद ड्रग्स तस्कर विजय वंशी प्रसाद का एक रिश्तेदार भी शामिल है।

      एनसीबी की पूछताछ में उसने विजय वंशी प्रसाद के संबंध में जानकारी दी है। उसी ने बताया कि विजय बिहार के मोतिहारी सेंट्रल जेल में अपने साथियों के साथ बंद है। इसके बाद एनसीबी ने मोतिहारी पुलिस और जेल प्रशासन से संपर्क साध इसकी जानकारी ली। फिर न्यायिक प्रक्रिया पूरी कर उस्मान और विजय को रिमांड कराकर मुंबई ले जाने की तैयारी में जुट गई है।

      इससे पहले एनसीबी मुंबई ने मुजफ्फपुर के नगर थाने व मोतिहारी के चकिया थाने से जेल में बंद नेपाल व महाराष्ट्र के ड्रग्स तस्करों के संबंध में जानकारी मांगी थी। इसके अलावा केस की अद्यतन स्थिति और एफआईआर की सत्यापित कॉपी मांगी थी, जिसे एनसीबी को उपलब्ध कराया गया था।

      बता दें कि शाहरुख खान के बेटे आर्यन के साथ क्रूज पर पकड़े गए लोगों ने कई खुलासे भी किए हैं। ड्रग्स सप्लायरों का नेटवर्क नेपाल व उत्तर बिहार के मुजफ्फरपुर के कई तस्करों से जुड़ रहा है।

      खबरों की की मानें तो मुजफ्फरपुर सेंट्रल जेल में बंद नेपाल के तीन और मुजफ्फरपुर के कटरा पहसौल के तीन तस्करों की भी जानकारी पुलिस से ली है। उनका आपराधिक रिकॉर्ड भी लिया है।

      कहा जाता है कि महाराष्ट्र के मलाड वेस्ट का दीपक यादव उर्फ टार्जन उर्फ बाबा इस सिंडिकेट का सरगना है। दीपक के लिए ही उस्मान, विजय, नेपाल का प्रकाश, सात्विक, संजय और मुजफ्फरपुर के कटरा पहसौल का गौरव कुमार, बांसो कुमार और रूपेश शर्मा काम करते थे। कार से सभी नेपाल से ड्रग्स की तस्करी कर सडक़ से महाराष्ट्र तक पहुंचाते थे।

      19 सितंबर 2020 को मुजफ्फरपुर के नगर थाने की पुलिस ने सरैयागंज व बालूघाट से छह और मोतिहारी की चकिया पुलिस ने चकिया से दो (उस्मान व विजय वंशी) को भारी मात्रा में गांजा के साथ दबोचा था। इनके खिलाफ चकिया व मुजफ्फरपुर के नगर थाने में केस दर्ज है।

      पुलिस ने चकिया व मुजफ्फरपुर के नगर थाने की मो. उस्मान, विजय वंशी, नेपाल के प्रकाश, सात्विक, संजय और मुजफ्फरपुर के कटरा पहसौल के गौरव कुमार, बांसो कुमार और रूपेश शर्मा के खिलाफ मुजफ्फरपुर और मोतिहारी कोर्ट में चार्जशीट कर चुकी है।

      सरगना मलाड वेस्ट निवासी दीपक यावद उर्फ टार्जन उर्फ बाबा अब भी पुलिस को चकमा दे रहा है। उसकी गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। इसके अलावा मलाड वेस्ट के ही बब्लू यादव, बोरीबली वेस्ट के स्वागत कस्तूर पार्क सिमपोली निवासी योगेश जे. सेशना फरार है।

      बिहार विधानसभा परिसर में राष्ट्रपति रखेंगे शताब्दी स्मृति स्तंभ की नींव,1500 माननीय बनेंगे गवाह

      नीजि स्कूलों में भी शिक्षक बनने के लिए टीईटी पास होना जरुरी

      अंततः पटना की मॉडल बेटी ने अस्पताल में दम तोड़ा, पुलिस के हाथ अब तक खाली

      बिहार में कोरोना टीका के लिए अब आधार कार्ड जरुरी नहीं

      चौथे चरण में होंगे बायोमेट्रिक वेरिफिकेशन, वोगस पकड़ाए तो पुलिस भेजेगी जेल

       

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!