अन्य
    Monday, April 15, 2024
    अन्य

      यूपी एसटीएफ ने ओरमांझी भाजपा नेता हत्याकांड के शूटर अली और कामरान को लखनऊ में मार गिराया

      अली और कामरान पहले मुख्तार अंसारी के शूटर थे। इधर झारखंड के कुख्यात गैंगस्टर अमन साव गिरोह से जुड़कर शूटर के कार्य कर रहे थे। रांची पुलिस ने शूटर अली शेख व उसके साथी कामरान पर क्रमशः एक लाख व 25 हजार का इनाम घोषित की थी...

      राँची (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क)। झारखंड के राँची जिले के ओरमांझी थाना ईलाके में में 22 सितबंर को हुई भाजपा नेता जीतराम मुंडा की सरेआम गोली मारकर हुई नृशंस हत्या के दोनों  शूटर को उत्तर प्रदेश की लखनऊ पुलिस की एसटीएफ ने एक मुठभेड़ में मार गिराया।

      लखनऊ एसटीएफ पुलिस के अनुसार मडियांव इलाके में बुधवार की रात मुठभेड़ हुई थी। दोनों ओर से दर्जनों राउंड फाय़रिंग हुई। इसमें दोनों शूटर धराशायी हो गये। इनका एक साथी भी घायल हुआ है।

      मालूम हो कि 22 सितंबर को ओरमांझी में भाजपा नेता जीतराम मुंडा की गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। जीतराम मुंडा भाजपा एसटी मोर्चा के जिलाध्यक्ष थे।

      इस हत्याकांड के मुख्य आरोपी मनोज मुंडा समेत तीन अन्य को रांची पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। गिरफ्तार आरोपियों में रतन बेदिया व डब्ल्यू यादव शामिल है। डब्ल्यू उत्तर प्रदेश के गाजीपुर का रहने वाला है।

      पुलिस के अनुसार जमीन विवाद में मनोज मुंडा ने पांच लाखी की सुपारी देकर जीतराम की हत्या कराई थी।

      बताया जाता है कि जीतराम की हत्या के लिये अली शेख गिरफ्तार डब्ल्यू यादव के साथ रांची आया था। हत्या को अंजाम देकर फरार हो गया था।

      फरारी के बाद से ही रांची पुलिस अली शेख के पीछे लगी थी, लेकिन वह बार-बार चकमा दे रहा था। अली शेख के खिलाफ उत्तर प्रदेश के विभिन्न थानों दो दर्जन के करीब आपराधिक मामले दर्ज हैं।

       

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!