अन्य
    Sunday, February 25, 2024
    अन्य

      अंततः बाल्मीकि टाईगर रिजर्व के आदमखोर बाघ को मार गिराया गया

      बगहा (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज़)। बाल्मीकि टाईगर रिजर्व से 26 दिन पहले एक आदमखोर बाघ को शनिवार को मार गिराया गया। इस नरभक्षी बाघ ने पिछले 26 दिनों में पांच लोगों को अपना निवाला बना लिया था, कितनों को बुरी तरह घायल कर चुका था।

      Man eating tiger of Balmiki Tiger Reserve finally killed 4वहीं वन विभाग इस बाघ को रेस्क्यू करने में पूरी तरह विफल रहा। जब ग्रामीणों का ग़ुस्सा चरम पर पहुंच गया, तब बाघ को मार गिराने का फरमान राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण की ओर से दिया गया।

      उसके बाद शनिवार को एसटीएफ और शूटर की ओर से बाघ को रेस्क्यू कर मार गिराया गया।बाघ की मारे जाने की खबर के बाद आसपास के ग्रामीणों ने राहत की सांस ली।

      बाल्मीकि टाईगर रिजर्व परियोजना से भटके बाघ ने पांच लोगों को शिकार बना डाला था। शुक्रवार सुबह बाघ ने डुमरी के संजय महतो को मार डाला था।

       इसके एक दिन पहले सिंगाही गांव में भी इसी बाघ ने एक बच्ची को मार डाला था। उसके बाद ग्रामीणों का ग़ुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया था।

      बाद में बिहार के चीफ लाइफ वार्डन प्रभात कुमार गुप्ता ने बाघ को मार गिराने का आदेश राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण को दे दिया था।

      बाघ को रेस्क्यू करने के लिए पूर्व से उस क्षेत्र में हैदराबाद व पटना से आयी रेस्क्यू एक्सपर्ट और शूटर को तैनात किया था। अधिकारियों की मौजूदगी में बाघ को रेस्क्यू कर शनिवार को मार गिराया गया।

      बताते चलें कि बाल्मीकि टाईगर रिजर्व परियोजना से भटके बाघ को पकड़ने के लिए पिछले 26 दिनों से वन विभाग की रेस्क्यू टीम में शामिल सदस्य लगातार बाघ का पीछा कर रहे थे। लेकिन भौगोलिक परिस्थितियों की वजह से उन्हें सफलता नहीं मिल पा रही थी। आक्रोशित ग्रामीणों ने डूमरी गांव स्थित वन विभाग के रघिया रेंज कार्यालय में तोड़फोड़ भी की थी।

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      - Advertisment -
      - Advertisment -
      संबंधित खबरें
      - Advertisment -
      error: Content is protected !!